भय, भूख और भ्रष्टाचार मुक्त झारखंड निर्माण के लिए सरकार प्रतिबद्ध : रघुवर दास

government-commited-for-developed-jharkhand-raghuvar
दुमका 26 जनवरी, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज भय, भूख, भ्रष्टाचार, अपराध और उग्रवाद मुक्त झारखंड निर्माण का संकल्प दुहराया और कहा कि सरकार इस दिशा में पूरी निष्ठा और समपर्ण के साथ कार्य कर रही है, जिससे कमजोर से कमजोर व्यक्ति की बात सत्ता शासन तक पहुचे और लोकतांत्रिक व्यवस्था में हर व्यक्ति का अधिकार सुरक्षित रह सके। श्री दास ने यहां पुलिस लाईन में गणतंत्र दिवस पर आयोजित मुख्य समारोह में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और पुलिस के जवान और एनसीसी एवं स्काउट गाईड के छात्र-छात्राओं के परेड का निरीक्षण कर सलामी ली। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सरकार भय, भूख, भ्रष्टाचार, अपराध और उग्रवाद मुक्त झारखंड निर्माण के लिए कृतसंकल्पित है। उन्होंने कहा कि सरकार इस दिशा में पूरी निष्ठा और समपर्ण के साथ कार्य कर रही है, जिससे कमजोर से कमजोर व्यक्ति की बात सत्ता शासन तक पहुंचे और लोकतांत्रिक व्यवस्था में हर व्यक्ति का अधिकार सुरक्षित रह सके।  मुख्यमंत्री ने राज्यवासियों की खुशहाली और समृद्धि के लिए कृषि विकास, फसल बीमा, सड़क निर्माण, स्वास्थ्य, शिक्षा और रोजगार उपलब्ध कराने के लिए किये जा रहे प्रयासों की विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि उनकी सरकार 17 साल के युवा झारखंड को सही दिशा में ले जाने और विकास के पथ पर अग्रसर करने के लिए कृत संकल्पित है।  

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि राज्य का माहौल बदल गया है। राज्य में भ्रष्टाचार का मुद्दे की चर्चा नहीं होती है बल्कि देश-विदेश में अब मोमेंटम झारखंड, डिजिटल झारखंड, कैशलेस झारखंड और स्वच्छ एवं हरित झारखंड और विकास उन्मुख झारखंड की चर्चा हो रही है। श्री दास ने कहा कि राज्य में गरीब परिवार के बच्चों को उच्च शिक्षा मुहैया कराने के लिए मुख्यमंत्री शिक्षा गारंटी योजना के साथ ही महिला सशक्तिकरण के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाओं की शुरूआत की गयी है। वहीं, राज्य की ग्रामीण जनता को समर्पित 1500 करोड़ रुपये की महत्वाकांक्षी जोहार योजना शुरू की गयी है। इस योजना के तहत दो लाख ग्रामीण परिवार को आजीविका के साधनों से जोड़कर उनकी आय दुगुनी करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में शिक्षा के स्तर को सुदृढ़ करने के लिए 18 हजार शिक्षकों की नियुक्ति की गयी है और इस वर्ष के जून महीने तक 18 हजार और शिक्षकों की नियुक्ति की जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की खुशहाली और समृद्धि के लिए पूरे राज्य में सिंचाई के साधानों के विकास पर तेजी से काम किया जा रहा है जबकि किसानों को आर्थिक बदहाली से निजात दिलाने के लिए राज्य में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत अगहनी धान और भदई मकई फसल के लिए करीब 12.5 लाख किसानों का बीमा कराया गया है जिससे प्राकृतिक आपदा की स्थिति में उन्हें दर-दर की ठोकर खाने को मजबूर नहीं होना पड़ेगा।

श्री दास ने कहा कि उनकी सरकार राज्य में कुपोषण के उन्मूलन के लिए योजनाबद्ध तरीके से कार्य कर रही है। इसके तहत राज्य में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अधीन राज्य के करीब नौ लाख से अधिक अन्त्योदय परिवारों को 35 किलो अनाज उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस अधिनियम के तहत आदिम जनजाति परिवारों को उनके निवास स्थान पर 35 किलोग्राम चावल के पैकेट की उपलब्धता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से राज्य में विशिष्ट जनजाति खाद्यान्न सुरक्षा योजना शुरू की गयी है। इसके अलावा 9.90 लाख परिवारों को मुफ्त गैस संयोग दिया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा संतालपरगना प्रमंडल क्षेत्र में सड़क, परिवहन, पेयजल, स्वास्थ्य के मामले में आधारभूत संरचना के उन्नयन के लिए गम्भीरता पूर्वक प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पूरे संतालपरगना में मजबूत सड़कों के निर्माण से लोगों को सामाजिक और आर्थिक उत्थान के साथ रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य के बेहतर अवसर प्राप्त हो सकेंगे। श्री दास ने कहा कि बैद्यनाथ धाम और मलूटी जैसे दर्शनीय स्थल आकर्षण का मुख्य केन्द्र हैं। पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण इन स्थलों को ध्यान में रखकर देवघर में हवाईअड्डे का निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) और भारतीय रक्षा शोध एवं विकास संस्थान (डीआरडीओ) के साथ 300 करोड़ रुपये की परियोजना के लिए करार किया गया है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...