फिल्म पद्मावत पर उन्माद फैलाने वालों को सरकार ने दे रखी है खुली छूट: माले

  • अभिव्यक्ति की आजादी पर है हमला.

government-protection-for-unruly
पटना 25 जनवरी, भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने कहा है कि फिल्म पद्मावत पर करनी सेना सरीखी उन्माद-उत्पात फैलाने वाली ताकतों को भाजपा-आरएसएस का खुला संरक्षण हासिल है, इसीलिए ये ताकतें बेखौफ होकर पूरे देश में आतंक का माहौल बना रही हैं.  बिहार में भी इस तरह की ताकतें हथियारों के साथ जगह-जगह खुलेआम प्रदर्शन कर रही हंै और उनके सामने प्रशासन पूरी तरह नतमस्तक है. यह बेहद शर्मनाक है. उन्होंने आगे कहा कि यह न केवल अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला है बल्कि संवैधानिक मूल्यों की भी खुलेआम हत्या है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा फिल्म पद्मावत को पूरे देश में प्रदर्शित करने के निर्देश के बावजूद ऐसा नहीं होना सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों की अवहेलना है. मोदी सरकार के मंत्री ही आज खुलेआम संविधान बदलने की बात करते हैं. इन ताकतों से संवैधानिक मूल्यों, लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्ष मूल्यों को जबरदस्त खतरा है.  भाकपा-माले ने कहा है कि संविधान के मूल्यों की हिफाजत का दायित्व दिल्ली-पटना की सरकारों का है. हम मांग करते हैं कि ऐसी काली ताकतों को संरक्षण देने की बजाए सरकार लोकतांत्रिक मूल्यों और अभिव्यक्ति की आजादी की रक्षा के अपने संवैधानिक दायित्व को पूरी जिम्मेवारी के साथ अदा करे.
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...