सरकार आरक्षण को समाप्त करना चाहती है : तेजस्वी यादव

government-will-end-reservation-tejaswi
भभुआ 20 जनवरी, बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने आज आरोप लगाया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक साजिश के तहत पिछड़ों और दलितों को दी जा रही आरक्षण की सुविधा को समाप्त करना चाहते हैं । श्री यादव ने यहां एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनता दल(राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को साजिश के तहत जेल भेजा गया है । उन्होंने कहा कि श्री कुमार और भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने साजिश कर उन्हें जेल भेजवा दिया ताकि आरक्षण को समाप्त करने में उन्हें कोई कठिनाई नहीं हो । प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि श्री कुमार और भाजपा को यह पूरा विश्वास है कि जब तक राजद अध्यक्ष श्री यादव लोगों से मिलते जुलते रहेंगे तब तक पिछड़ों और दलितों के लिये आरक्षण समाप्त किया जाना संभव नहीं है । उन्होंने कहा कि राजद किसी भी हालत में आरक्षण को समाप्त नहीं होने देगा । 

श्री यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार ने महागठबंधन से नाता तोड़ने के बाद यह कहा था कि अब बिहार में ..डबल इंजन.. की सरकार है और इससे राज्य का विकास तेजी से होगा । उन्होंने कहा कि डबल इंजन वाली सरकार विकास में तेजी लाने की बजाये गरीबों और दलितों पर लाठियों से प्रहार करा रही है । वर्तमान सरकार के कार्यकाल में दलित और गरीब बिल्कुल सुरक्षित नहीं हैं । प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि यह अजीब विडम्बना है कि वर्ष 2015 के बिहार विधानसभा के चुनाव में जनता ने जिस दल को समर्थन दिया उसके नेता जेल में हैं और जिन्हें नकार दिया गया वह अब चोर दरवाजे से सत्ता में आ गये हैं । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार ने महागठबंधन से नाता तोड़कर जनादेश का अपमान किया है जिसे बिहार की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी । श्री यादव ने कहा कि ऐसा लगता है कि सरकार लोकसभा चुनाव और बिहार विधानसभा चुनाव एक साथ इसी वर्ष दिसम्बर में करा सकती है । यदि ऐसा हुआ तो लोग राजद के पक्ष में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (इवीएम) का बटन दबाकर श्री कुमार को सबक सिखायेंगे । उन्होंने शराबबंदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि शराबबंदी कानून तोड़ने वाले के साथ मुख्यमंत्री सेल्फी ले रहे हैं । 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...