राजग घटक दलों का दही-चूड़ा भोज, शामिल हुये नीतीश

nda-makar-sankranti-bhoj-with-nitish
पटना 14 जनवरी, बिहार में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के घटक दलों की ओर से आज मकर संक्रांति के अवसर पर दही-चूड़ा भोज का अयोजन किया गया जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत कई अन्य वरिष्ठ नेता पहुंचे वहीं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के जेल में बंद होने के कारण पार्टी ने इस बार भोज का आयोजन नहीं किया। जनता दल यूनाईटेड (जदयू) के प्रदेश अध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह प्रत्येक वर्ष मकर संक्रांति के अवसर पर यहां अपने आवास पर दही-चूड़ा और तिलकुट का भोज देते रहे हैं। श्री सिंह की ओर से आज दिये गये भोज में मुख्यमंत्री श्री कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी एवं नीतीश मंत्रिमंडल के कई सदस्य शामिल हुये। इसके अलावा जदयू और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कई विधायक एवं विधान पार्षद ने भी भोज में सम्मिलित होकर दही-चूड़ा खाया। वहीं, कांग्रेस से नाराज चल रहे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं विधान पार्षद अशोक चौधरी के साथ ही दो विधायक भी श्री सिंह के आवास पर पहुंचे। केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री तथा लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) अध्यक्ष रामविलास पासवान ने पहली बार पार्टी कार्यालय पर दही-चूड़ा भोज का आयोजन किया। श्री पासवान ने मुख्यमंत्री को तिलकुट खिलाकर मकर संक्रांति की बधाई दी। भोज में श्री कुमार के अलावा उप मुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष, लोजपा प्रदेश अध्यक्ष सह पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस, सांसद रामचंद्र पासवान, सांसद चिराग पासवान सहित पार्टी के कई बड़े नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद थे। 

भाजपा के विधान पार्षद एवं राष्ट्रीय मंत्री रजनीश कुमार के सरकारी आवास पर भी चूड़ा-दही भोज का आयोजन किया गया। पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भोज में आनेवाले लोगों को चूड़ा-दही और तिलकुट परोसा। इस भोज में श्री कुमार और श्री मोदी के अलावा बिहार विधान परिषद के उप सभापति हारुण रसीद, विधान पार्षद रणवीर नंदन के साथ ही कई विधायक एवं मंत्री मौजूद थे। वहीं, राजद अध्यक्ष श्री यादव के चारा घोटाले के एक मामले में जेल में बंद होने के कारण उनके 10 सर्कुलर रोड स्थित सरकारी आवास पर प्रत्येक वर्ष आयोजित होने वाला दही-चूड़ा भोज इस बार नहीं दिया गया। श्री यादव की ओर से हर साल दिये जाने वाले भोज में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुआ करते थे लेकिन इस बार श्री यादव के आवास पर सन्नाटा छाया रहा। राजद के प्रदेश कार्यालय में भी इक्के-दुक्के कार्यकर्ताओं को छोड़कर कोई नहीं दिखा। राजद ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि इस बार मकर संक्रांति के अवसर पर दही-चूड़ा भोज का आयोजन नहीं किया जाएगा। विभिन्न जिलों से प्राप्त यहां रिपोर्ट के अनुसार, मकर संक्रांति के अवसर पर आज गंगा समेत अन्य नदियों में बड़ी संख्या में लोगों ने डुबकी लगाई। इसके बाद गरीबों को दान किया। विभिन्न मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...