पद्मावत के विरोध में हिंसक प्रदर्शन - चार मॉल और सिनेमाघरों के सामने आगजनी, तोड़फोड़

protest-against-film-padmavat
अहमदाबाद, 23 जनवरी, गुजरात में आज शाम पद्मावत विरोधी प्रदर्शनकारियों और असामाजिक तत्वों ने अहमदाबाद शहर में चार मॉल में स्थित सिनेमाघरों के सामने दो दर्जन से अधिक वाहनों को आग लगा दी अथवा क्षतिग्रस्त कर दिया और कुछ स्थानों पर तोड़फोड़ की। यह घटनाएं ऐसे दिन हुई हैं जब सुप्रीम कोर्ट ने इस फिल्म पर लगाने से जुड़ी सभी अर्जियों को निरस्त कर दिया तथा पद्मावत के मुख्य विरोधी राजपूत करणी सेना के प्रमुख लोकेन्द्र सिंह कालवी गुजरात के ही दौरे पर हैं। करीब दो सौ लोगों की भीड़ ने सबसे पहले एस जी हाईवे पर इस्कॉन माल के निकट वाइड एंगल सिनेमा के पास कुछ दो पहिया वाहनों को जला दिया। इसके बाद इसी रोड पर थलतेज में स्थित एक्रोपॉलिस मॉल में तोडफोड़ की और आधा दर्जन से अधिक दो पहिया वाहनों को जला दिया और मॉल के भवन के शीशे तथा कुछ चार पहिया वाहनों में भी तोडफोड़ की। भीड़ ने वस्त्रापुर में हिमालया मॉल, जिसमें कार्निवाल सिनेमा स्थित है, कुछ वाहनों को जला दिया। बाद में पास ही स्थित अहमदाबाद वन मॉल के सामने आधा दर्जन वाहन जला दिये। समझा जाता है कि इन सभी घटनाओं में एक ही समूह के शामिल होने की संभावना है। हालांकि इन घटनाओं में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है। अहमदाबाद के पुलिस आयुक्त ए के सिंह ने दावा किया कि कुछ उपद्रवियों को मौके से पकड़ा गया है। सभी सिनेमा घरों पर पुलिस तैनात कर दी गयी है। उपद्रवियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। उधर, उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल ने इन घटनाओं को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। उधर गुजरात के दौरे पर आये श्री कालवी ने राजकोट में पत्रकारों से कहा कि अदालत के फैसले के बावजूद जनता और हिंदू समाज इस फिल्म का विरोध जारी रखेगा। करणी सेना के गुजरात प्रमुख राज शेखावत ने कहा कि वह अहमदाबाद के हिंसक प्रदर्शनों के पक्षधर नहीं है। ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। ज्ञातव्य है कि गुजरात ने पद्मावत पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया था और अदालत के फैसले के बाद हालांकि यहां इसके प्रदर्शन पर रोक नहीं है पर अधिकतर सिनेमाघरों ने इस फिल्म को 25 जनवरी को रिलीज के दिन प्रदर्शित नहीं करेंगे।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...