नकारात्मक राजनीति छोडें राहुल : योगी

rahul-should-leave-negative-politics-yogi-aditynath
गोरखपुर :उत्तर प्रदेश:, 15 जनवरी, कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी के उत्तर प्रदेश आगमन के कुछ ही घंटे के भीतर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राहुल को सलाह दी कि वह नकारात्मक राजनीति छोड़कर विकास पर ध्यान केन्द्रित करें । योगी ने संवाददाताओं से कहा, 'कांग्रेस अध्यक्ष को नकारात्मक राजनीति छोड देनी चाहिए ।' राहुल रायबरेली और अमेठी रवाना होने से पहले लखनउ पहुंचे। लखनउ से रवाना होने के दौरान ही योगी ने उन्हें यह सलाह दी। यह पूछने पर कि वह राहुल के इस दौरे को किस रूप में देखते हैं, योगी ने कहा, 'मेरी राहुल को सलाह है कि उन्हें विकास की राजनीति पर ज्यादा ध्यान केन्द्रित करना चाहिए ।' कांग्रेस अध्यक्ष दो दिवसीय दौरे पर आये हैं। वह 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं में जोश का संचार करने के मकसद से यहां आये हैं। योगी ने कहा कि राहुल सकारात्मक राजनीति करें। 'कांग्रेस व अन्य विपक्ष नकात्मक राजनीति करता है। यह होने वाले विकास में अनावश्यक बाधा पैदा करता है ।' उन्होंने राहुल को सलाह दी कि वह अमेठी के विकास के बारे में थोडा ध्यान दें क्योंकि वहां चार पीढी से प्रतिनिधित्व के बावजूद अपेक्षित विकास नहीं हो पाया । मुख्यमंत्री ने सभी पार्टियों के कार्यकर्ताओं के खिलाफ राजनीति से प्रेरित 20 हजार मामले वापस लेने के कदम को सही ठहराया। इनमें एक मामला खुद योगी के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि इसे सदन में विधेयक के जरिए पारदर्शी तरीके से किया गया है जबकि पूर्व की सपा सरकार ने केवल यादव परिवार और अपने खुद के कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामले वापस लिये थे ।

उन्होंने अखिलेश यादव द्वारा यूपीकोक विधेयक का विरोध किये जाने की आलोचना की। योगी ने कहा कि अखिलेश उत्तर प्रदेश संगठित अपराध नियंत्रण विधेयक का विरोध इसलिए कर रहे हैं क्योंकि उन्हें भय है कि जिन अपराधियों को उन्होंने :अखिलेश: ने संरक्षण दिया है, वे पकडे़ जाएंगे। राम मंदिर मुद्दे पर योगी ने कहा कि यह राजनीतिक मुद्दा नहीं है । यह हिन्दुओं की आस्था से जुडा है । मामला उच्चतम न्यायालय में है और फैसला जल्द आएगा । योगी ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर भी तंज कसते हुए कहा कि उन्हें अपने समर्थकों को मर्यादित रहने के लिए कहना चाहिए । मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा कार्यकर्ताओं ने आजमगढ में नकली शराब से निर्दोष गांव वालों को मारा । हरदोई में भी वे नकली शराब बनाते पकडे गये । उन्होंने लखनउ का माहौल खराब करने का प्रयास किया, जो सही नहीं है । लखनउ में सपा के एक कार्यकर्ता सहित दो लोग पिछले सप्ताह गिरफ्तार किये गये । उन्होंने किसानों की दशा बयान करने के लिए उत्तर प्रदेश विधान भवन सहित कुछ अन्य अति विशिष्ट जगहों पर कथित रूप से आलू फेंका था । योगी ने बसपा सुप्रीमो मायावती को आज उनके जन्मदिवस पर बधाई दी।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...