हिमाचल : देश की सब बड़ी भूमिगत परियोजना ने बनाया लगातार 9 बार रिकार्ड

record-9th-time-water-power
शिमला (मीनाक्षी भारद्वाज) देश की सब से बढ़ी भूमिगत जल विद्युत परियोजना नाथपा झाकड़ी ने लगातार नो बार डिजाइन एनर्जी लक्ष्य को समय से पहले पूर्ण कर रिकॉड बनाया है। सतलुज घाटी क्षेत्र में विभिन्न आपदाओं और विकट परिस्थियों के वावजूद कुशल प्रबंधन और परिस्थितियों से संतुलन बनाते हुए रिकार्ड कायम करने में सफलता हासिल की है। वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए एसजेवीएन लि0 के 1500 मेगाववाट नाथपा झाकड़ी जलविद्युत स्टेशन ने अपनी डिज़ाइन एनर्जी 6612 मि0यू0 के लक्ष्य को  28 दिसम्बर 2017 को हासिल कर लिया जब की यह लक्ष्य 31 मार्च 2018 तक के लिए था। इस तरह से नाथपा झाकड़ी ने यह लगातार 9 वे वर्ष में भी  सालाना लक्ष्य को समय से पहले पूर्ण किया है। परियोजना प्रमुख  संजीव सूद ने बताया कि संयंत्रों का वार्षिक रखरखाव 5 जनवरी से शुरू किया जाएगा तथा 20 फरवरी तक समाप्त होने की उम्मीद है। उन्होंने कहाकि संयत्रो को मुरम्मत करने के लिए यह समय उपयुक्त रहता है ताकि जब नदी में जल स्तर ऊंचा हो जाता है टॉप विद्युत उत्पादन में कमी न आये।  वर्तमान में सतलुज में सर्दियां होने के कारण पहाड़ो पर बर्फ जमने से जल स्तर काफी कम हो जाता है , ऐसे में इस समय का सदुपयोग कर संयंत्रों का रखरखाव किया जाता है। उन्होंने बताया की इस उपलब्धि के लिए निगम के अध्यक्ष सह प्रबन्ध निदेशक नन्द लाल शर्मा एवं निदेशक विद्युत आर.के. बंसल ने भी अपनी बधाई प्रदान की और साथ ही आशा भी व्यक्त किया है कि परियोजना इस प्रकार का उत्कृष्ट उत्पादन भविष्य में भी बदस्तूर जारी रखेगी ।  मुख्य महाप्रबंधक संजीव सूद  ने नाथपा झाकड़ी हाइड्रो पावर स्टेशन द्वारा निरन्तर उत्कृष्ट विद्युत उत्पादन का श्रेय परियोजना में कार्यरत कर्मचारियों तथा उनके परिवारजनों को दिया है।  उन्होंने  निगमित कार्यालय शिमला से निरन्तर मिलते रहे वांछित सहयोग के लिए कारपोरेट कार्यालय का भी  आभार व्यक्त किया ।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...