मधुबनी : एक दिवसीय हड़ताल में सभी स्किम वर्कर यथा आशा, ममता, आंगनवाड़ी

strike-asha-mamta-madhubani
अंधराठाढ़ी/मधुबनी (मोo आलम अंसारी) अंधराठाढ़ी अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में बुधवार को रेफरल अस्पताल परिसर में आशा ममता आदि स्किम कर्मियों ने एकदिवसीय हड़ताल किया। हड़ताल के कारण स्थानीय रेफरल सह पीएचसी में चिकित्सा व्यवस्था प्रभावित रही। बिहार चिकित्सा एवं जनस्वास्थ्य कर्मचारी संघ के बैनर तले आल इंडिया ट्रेड यूनियन कॉर्डिनेसन कमिटी के आवाह्न पर ये हड़ताल आयोजित की गई थी। इस एकदिवसीय हड़ताल में सभी स्किम वर्कर यथा आशा, ममता, आंगनवाड़ी सेविका, सहायिका, कुरियर कर्मी आदि शामिल हुए। विभिन्न तरह के संविदा कर्मियों द्वारा समान काम के बदले समान वेतन, अठारह हज़ार की न्यूनतम मासिक वेतन, श्रम अनुसंशा के आलोक में नियमि सेवक घोषित करने, पीएफ ईएसआई आदि का लाभ, तीन हज़ार की मासिक पेंसन आदि उनकी प्रमुख मांगे थी। साथ ही सरकारी सेवक घोषित करने, सभी को प्रशिक्षण देकर प्रोत्साहन राशि की घोषणा, प्राथमिकता के आधार पर पूरे महीने की कार्य उपलब्धता, स्किम कर्मियों के निधन पर आश्रितों को चार लाख रुपये की सहायता राशि, सभी स्किम कर्मियों को उचित पोशाक, टोर्च, मोबाइल आदि की ससमय उपलब्धता, सरकारी संस्थानों में बेगारी पर रोक, स्किम योजनाओं के ठेकेदारी और निजीकरण पर रोक आदि मुख्य मांगो में शामिल है। हड़ताल कर्मियों ने कहा कि 28 जनवरी से 2 फरबरी तक स्किम कर्मियों का राष्ट्रव्यापी सांकेतिक हड़ताल प्रस्तावित है। अगर सरकार उनकी मांगों को अनसुना करेगी तो पूरे राज्य में जोरदार आंदोलन और धरना प्रदर्शन किया जाएगा। हड़ताल में आशा गीता देवी, नीतू मिश्रा, स्नेहा देवी,  नीलम झा, अंजू कपूर, ममता मुनैर देवी, राधा देवी, उर्मिला, कुरियर राजकृष्ण ठाकुर, निर्मल प्रसाद सिंह, गोपाल चौधरी सहित दर्जनों आशा ममता और कुरियरकर्मी शामिल हुए।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...