आखिरी टेस्ट को रद्द कर देना चाहिए था एल्गर

third-test-should-have-been-canceled-elgar
जोहानिसबर्ग 28 जनवरी, दक्षिण अफ्रीका के लिये तीसरे टेस्ट की चौथी पारी में नाबाद 86 रन की पारी खेलने वाले सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर ने कहा कि पिच पर असमान उछाल के कारण वहां जोखिम लेने लायक स्थिति नहीं थी और इस मैच को रद्द किया जाना चाहिए था। तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीकी पारी के नौवें ओवर में गेंद एल्गर के हेलमेट पर लगी जिसके बाद मैच अधिकारियों ने खेल को रोक दिया, हालांकि अगले दिन दोनों कप्तानों और मैच अधिकारियों के बीच विचार-विमर्श के बाद चौथे दिन फिर से खेल शुरू हुआ।  एल्गर ने कहा, ‘‘ मैं ऐसा सोचता हूं ( मैच को पहले ही रद्द कर दिया जाना चाहिये था।)। तीसरे दिन विकेट अच्छा नहीं था। बल्लेबाजों को कई बार चोट लगी। इसे जल्द ही रद्द किया जाना चाहिये था।’’  ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिल ह्यूज की नवंबर 2014 में गेंद सिर में लगने से हुई मौत की ओर इशारा करते हुए एल्गर ने कहा, ‘‘ हमारे सामने ऐसा मामला है जब गेंद सिर में लगी, यहां ऐसी घटना हो सकती थी जैसा कि ऑस्ट्रेलिया में हुआ। लोग टेस्ट क्रिकेट देखना चाहते है लेकिन हम भी इंसान है।’’  उन्होनें कहा, ‘‘ हमे ये स्वीकार नहीं है कि हम चोटिल हो और वहां गेंद के सामने शरीर लाये। इस स्थिति से जल्दी निपटा जा सकता था।’’  एल्गर ने कहा कि उन्होंने कभी वांडरर्स में ऐसा असमान्य उछाल नहीं देखा था और अगर अंपायर इस मैच को जल्दी रद्द करने की घोषणा करते तो मैं मैदान छोड़ने पर खुश होता। उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने पहले भी कई तेज गेंदबाजों का सामना किया है और मुझे पता है कि वांडरर्स की विकेट पर उछाल होती है, लेकिन मैने कभी ऐसा अनुभव नहीं किया। जिसकी वजह से अंपायरों के मन में भी संदेह था।’’
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...