जो मिलना है इसी मुल्क से मिलेगा : महबूबा

whatever-you-will-get-only-from-this-country-mehbooba
श्रीनगर 10 जनवरी, जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अलगाववादियों पर अप्रत्यक्ष रुप से निशाना साधते हुए और पाकिस्तान का नाम लिए बिना आज कहा कि राज्य के लोगों को जो कुछ मिलेगा वह इसी मुल्क से मिलेगा। विधानसभा के शीतकालीन सत्र में सुश्री मुफ्ती ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना अलगाववादियों पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य को और कहीं से कुछ नहीं मिलने वाला। उन्होंने इशारों-इशारों में अलगाववादियों को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि यदि वे राज्य और देश के संविधान को नहीं मानते तो किसको मानते हैं। उन्होंने कहा,“ जम्मू-कश्मीर के जो भी लोग हैं, उनके लिए मैं आज यह बात रिकार्ड पर लाना चाहती हूं कि उन्हें जो भी मिलेगा वह इसी देश से मिलेगा और कहीं से कुछ भी मिलने वाला नहीं।” राज्य की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन की सरकार पर उंगली उठाने वाले विपक्ष पर भी मुख्यमंत्री ने जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक मुद्दों को धार्मिक मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि देशभर में क्या हो रहा है वह इसमें जाना नहीं चाहती लेकिन इतना कहना चाहती हूं की राज्य में गठबंधन के बीच बेहतर तालमेल है। उन्होंने कहा कि उस समय उन्हें बहुत अच्छा महसूस होता है जब सुबह मंदिर की घंटी के बाद अजान और दिन में गुरबानी सुनने को मिलती है। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का जिक्र करते हुए कहा कि जम्मू.कश्मीर को छोड़कर पूरे देश में यह एक साथ लागू हुआ। राज्य में पर्याप्त चर्चा के बाद ही इसे लागू किया गया। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कल चर्चा के दौरान हिजबुल मुजाहद्दीन के कमांडर बुरहान वानी का मुद्दा उठाया था। उन्होंने कहा था कि बुरहान को पैदा करने के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया गया लेकिन कभी सोचा कि पिछले डेढ़ वर्षों में उन्होंने कितने बुरहान पैदा किए।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...