लखनऊ : निर्माण श्रमिको ने उठाई लेबर अड्डों पर छाया, पानी,शौचालय की माँँग

labour-protest-lucknow
लखनऊ (आर्यावर्त डेस्क) 13 फरवरी । विज्ञान फाउण्डेशन व एक्शनएड एसोसियेशन के संयुक्त तत्वाधान में जागरूकता अभियान के छठवें दिन भवन निर्माण श्रमिको के द्वारा निशातगंज, केशरीखेडा व दुबग्गा लेबर अडडे पर श्रमिको को जगरूक करने का काम किया गया जिसमें श्रम विभाग द्वारा चलाई योजनाओं के साथ-साथ पंजीकरण प्रक्रिया के बारे में बताया गया। यह अभियान 8 फरवरी से 24 लेबर अड्डो पर शुरू किया गया है इस कार्यक्रम में श्रमिक साथियों ने चढ बढ़ कर अभियान में  हिस्सा लिया। अभियान का मुख्य उद्देश्य श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के लाभ की जानकारी देना तथा  श्रमिको के जीवन में बदलाव लाना।  अभियान को सम्बोधित करते हुए दिहाडी मज़दूर संगठन के अध्यक्ष संतोष यादव ने कहा कि उ0 प्र0 भवन एवं अन्नसनिर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के तहत संचालित योजनाओं में मज़दूर प्रदेष के अलग-अलग जिलों से काम के तलास में बडे शहरों में आता है जहां उसकी कोई पहचान नही होती है। संगठन के द्वारा श्रमिक को शहर में कामगार होने की एक चहचान मिलती है तथा श्रम विभाग द्वारा सामाजिक सुरक्षा पंजीकृत श्रमिक को उपलब्ध करायी जाती है। अभियान को सम्बोधित करते हुए दिहाडी मज़दूर संगठन के सचिव रामनाथ ने कहा कि श्रमिक साथियों के काम की अनिश्चितता हमेशा रहती है । लेबर अडडे पर खडे होने वाले श्रमिको को महीने में 15 से 20 दिन काम मिलता है। बाकी के दिनो में उसे सडक के किनारे दिन गुजारना पडता है इसलिए आवश्यक है कि लेबर अडडे पर छाया, पानी , बिजली आदि की सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए जिससे काम न मिलने की दशा में श्रमिक साथी दिन में लेबर अडडे पर आराम कर सके। कार्यक्रम संयोजक गुरु प्रसाद ने दुबग्गा स्थित लेबर अड्े पर साथियों को योजनाओं और पंजीकरण की जानकारी दी तथा बताया कि किसी भी योजना की शुरुआत से पहले यह जानना जरुरी है कि इस योजना का लाभ कैसे मिले तथा सभी साथियो तक पहुचाने का तरीका क्या है, इसके बगैर योजनाओं का लाभ मजदूरो तक पहुचना बेमानी होगी। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...