सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 31 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

शनिवार, 31 मार्च 2018

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 31 मार्च

सफलता की कहानी : शासन की योजना से जुटाए सिंचाई के साधन, खेती बनी लाभ का धंधा

sehore news
सीहोर जिले की बुधनी तहसील के ग्राम जोनतला के किसान श्री कमलेश लगभग साढ़े चार एकड़ खेत पर कृषि कार्य कर अपना भरण पोषण करते हैं। कमलेश बताते हैं कि मेरे पास पूर्व में सिंचाई के लिए डीजल पंप नही था जिसकी वजह से में एक ही फसल ले पाता था। मेरी आर्थिक स्थिति अच्छी न होने के कारण मैं बाजार से पंप क्रय नही कर पाता था। मेरे द्वारा कृषि विभाग से विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्राप्त की तथा डीजल पंप 5 हार्सपावर अनुदान पर क्रय किया जिसमें मुझे 10,000/- रूपये का अनुदान प्राप्त हुआ जिसकी वजह से में अब वर्ष में दो फसल लेता हूँ खरीफ में मेरे द्वारा धान पूसा बासमती की फसल ली जिससे मुझे भरपूर लाभ मिला तथा रबी में मैंने गेंहू की फसल लगाई और इंजन से सिंचाई की तथा विपरीत मौसम में भी 19 क्वि. प्रति एकड़ गेंहू की उपज प्राप्त की। जिससे मेरी आर्थिक स्थिति सुधरी एवं मुझे भरपूर लाभ मिला। में अन्य कृषकों से भी आग्रह करता हूँ कि वे शासन की इस योजना का लाभ उठाएं और कृषि को लाभ का धंधा बनाएं।

रोगी कल्याण समिति की बैठक में  कलेक्टर ने दिए कडे निर्देश

sehore news
शनिवार 31 मार्च,2018 को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोडे ने रोगी कल्याण समिति की आवश्यक बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्थाओं, सफाई व्यवस्था एवं अनावश्यक भीड को रोकने सहित अन्य व्यवस्थाएं सुधारने के लिए सख्त निर्देश दिए। उन्होंने रोगी कल्याण समिति की आय में वृध्दि करने के उपायों के तहत सामान्य श्रेणी के ओपीडी मरीजों के लिए बनाये जा रहे पर्चों का शुल्क 5 रूपये से बढाकर 10 रूपये, भर्ती हेतु बनाये जाने वाले पर्चों का शुल्क 20 रूपये से बढाकर 30 रूपये तथा एक्सरे शुल्क 100 रूपये प्रति एक्सरे निर्धारित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों के लिए प्रत्येक मरीज को मात्र 2 अटेडेंट पास ही दिए जाए जिससे अस्पताल के वार्डों में होने वाली अनावश्यक भीड को रोका जा सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि अस्पताल परिसर में पोलीथीन पूर्णत: बेन किया जाए। उल्लंघन करने वालों पर 500 रूपये जुर्माना लगाया जाए और इसकी सूचना देने वालों को 200 रूपये ईनाम दिया जाए। कलेक्टर ने रोगी कल्याण समिति के तहत अस्पताल में पदस्थ कर्मचारियों के वेतन बढाने के भी निर्देश दिए। श्री पिथोडे ने एचएचओ को निर्देश दिए कि अस्पताल में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा की जाने वाली लापरवाही बर्दाश्त न की जाए। कलेक्टर श्री पिथोडे ने अपनी ओर से दस हजार रूपये का चैक भी रोगी कल्याण समिति को भेंट किया ताकि और अच्छी व्यवस्थाएं की जा सकें। बैठक में सीएमएचओ डॉ. डी.आर. अहिरवार, सिविल सर्जन डॉ. ए.ए.कुरेशी, आरएमओ डॉ. सुधीर श्रीवास्तव, ईई पीडब्ल्यूडी श्री सतीश शर्मा, बाल विकास अधिकारी श्री संजय सिंह, श्री राजकुमार गुप्ता उपस्थित थे। 
 
 कलेक्टर के निर्देश पर असंगठित मजदूरों के पंजीयन हेतु, एसडीएम ने ली बैठक

कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोडे के निर्देश पर शनिवार 31 मार्च को एसडीएम श्री राजकुमार खत्री ने सीएमओ नगरपालिका श्री सुधीर सिंह के साथ नगरपालिका परिषद में असंगठित मजदूरों के पंजीयन कार्य में लगाए गए समस्त नपा कर्मचारियों की बैठक ली एवं सटीक एवं शीध्र पंजीयन के लिए आवश्यक गाइड लाईन दी। दिए गए निर्देशों के तहत अब कर्मचारियों को अलग अलग प्रकार के मजदूरों के पंजीयन करने का कार्य सौपा गया है। इसमें कपडा दुकानों पर कार्यरत, होटलों पर कार्यरत, ईट भट्टों पर कार्यरत, ड्राइविंग कार्य में लगे, मेकेनिक कार्य सहित अन्य कार्यो में मजदूरी करने वाले मजदूरों को प्रत्येक श्रेणी के लिए एक एक कर्मचारी पंजीयन कार्य करेगा। यही नही शहर में कार्यरत ऐसे मजदूर जो गांवों में रहते है और रोज मजदूरी करने शहर में आते हैं को भी समझाईश दी जाएगी कि मुख्यमंत्री जी द्वारा मजदूरों के हित में चलाई जा रही इस योजना के समस्त लाभ प्राप्त करने के लिए अपने अपने गांवों में पंजीयन अवश्यक करायें।       
   
अभियान की तिथि
समस्त  ज़िलों में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का 01 अप्रैल से विशेष अभियान चलाकर पंजीयन किया जाएगा । 

असंगठित श्रमिक कौन
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों में कृषि मजदूर, घरों में काम करने वाले, फेरी लगाने वाले दुग्ध श्रमिक, मछली पालन श्रमिक, पत्थर तोड़ने वाले, पक्की ईंट बनाने वाले, बाज़ारों में दुकान पर काम करने वाले, गोदामों में काम करने वाले, परिवहन, हथकरघा, पावरलूम, रंगाई-छपाई, सिलाई, अगरबत्ती बनाने वाले, चमड़े में वस्तुयें और जूते बनाने वाले, ऑटो रिक्शा चालक, आटा, तेल, दाल तथा चावल मिलों में काम करने वाले, लकड़ी का काम करने वाले, बर्तन बनाने वाले, कारीगर, लुहार, बढ़ई तथा माचिस एवं आतिशबाज़ी उद्योग में लगे श्रमिक होंगे।

हितग्राहियों के लाभ
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के पंजीयन करने के पश्चात गर्भवती श्रमिक को महिलाओं पोषण आहार 4 हज़ार रुपये, प्रसव पर 12 हज़ार 500, मुखिया श्रमिक की मृत्यु पर 2 लाख से 4 लाख सहायता, अंतिम संस्कार के लिए 5 हज़ार सहायता, गंभीर बीमारी पर ईलाज, हर श्रमिक को मकान हेतु सहायता, श्रमिकों के बच्चों को पहली कक्षा से उच्च शिक्षा हेतु सहायता, प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु कोचिंग, स्वयं का रोजगार हेतु प्रशिक्षण और बैंक ऋण, श्रमिकों हेतु स्वरोजगार प्रशिक्षण। साइकिल-रिक्शा चलाने वाले को ई-रिक्शा और हाथ ठेला चलाने वाले को ई-लोडर का मालिक बनाने की पहल 5 प्रतिशत ब्याज अनुदान के साथ 30 हज़ार की सब्सिडी दी जाएगी, शहरों में छोटे-मोटे काम करने वालों को साईकिल के लिए 4 हज़ार रुपये की सहायता, असंगठित श्रमिक परिवारों को बिजली कनेक्शन उनसे 200 रुपये मासिक फ्लैट रेट पर बिजली, तेंदुपत्ता तोड़ने, महुआ के फूल एवं चिरोंजी बीनने वाली श्रमिक बहनों को चरण पादुका योजना के तहत जूते-चप्पल और प्यास बुझाने के लिए ठंडे पानी की कुप्पी आदि से लाभांवित किया जाएगा ।

पंजीयन हेतु पात्रता
असंगठित मजदूरों के पंजीयन हेतु श्रमिक की आयु  18 से 60 वर्ष तक की आयु हो,  असंगठित श्रमिक श्रेणी में कार्यरत हो, श्रमिक आयकर दाता ना हो तथा उसके पास 1 हेक्टेयर से ज्यादा कृषि भूमि नहीं होना चाहिए।

पंजीयन हेतु दस्तावेज़
असंगठित मजदूरों के पंजीयन हेतु हितग्राही को निर्धारित प्रारूप में आवेदन सह घोषणा पत्र भरना होगा तथा समग्र आई. डी. क्रमांक, पासपोर्ट साइज फ़ोटो,  राशन कार्ड की फोटो कापी, बैंक पासबुक की फोटोकॉपी, आधार कार्ड की फोटोकॉपी आवेदन के साथ संलग्न करना होगा।  पंजीयन दिनांक से 5 वर्ष तक वैध रहेगा तथा पंजीयन पूर्णत: निशुल्क होगा।

पंजीयन शिविर
जिले में पंजीयन शिविर ग्रामीण क्षेत्रांतर्गत ग्राम पंचायत स्तर पर तथा  शहरी क्षेत्र में झोन स्तर पर शिविर आयोजित किए जाएंगे।  पंजीयन / हितलाभ हेतु ग्रामीण क्षेत्र के लिए पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग तथा शहरी क्षेत्र हेतु नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग को नोडल विभाग नियुक्त किया गया है।
 
मंत्री श्री आर्य ने किया कन्या हाईस्कूल का शुभारंभ, महायज्ञ में भी हुए शामिल

sehore news
प्रदेश के पशुपालन, जेल, पर्यावरण तथा मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास विभाग मंत्री श्री अंतरसिंह आर्य शनिवार 31 मार्च को सीहोर जिले की नसरूल्लागंज तहसील के ग्राम बावडीखेडा (देवझीरी) पहुंचे और श्रीराम मारूति महायज्ञ के समापन में सम्मिलित होकर पूर्णाहुति दी। इसके पश्चात ग्राम लाडकुई पहुंचकर शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय का उन्नयन होने पर कन्या हाईस्कूल का शुभारंभ किया। मंत्री श्री आर्य गूलरपुरा भी पहुंचे जहां उन्होंने हनुमान जयंती पर पूजा अर्चना की। इस अवसर पर मध्यप्रदेश वन विकास निगम अध्यक्ष श्री गुरू प्रसाद शर्मा, म.प्र.वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा बडी संख्या में स्थानीयजन एवं शासकीय सेवक उपस्थित थे। 

उपाध्यक्ष श्री अहिरवार विभागीय अधिकारियों से चर्चा करेंगे आज

म.प्र. राज्य सहकारी अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के उपाध्यक्ष (राज्य मंत्री दर्जा) श्री भुजबल सिंह अहिरवार रविवार 1 अप्रैल, 2018 को प्रात: 10 बजे विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर चर्चा करेंगे एवं दोपहर 4 बजे सीहोर से भोपाल हेतु प्रस्थान करेंगे। श्री अहिरवार 31 मार्च को शाजापुर से प्रस्थान कर रात्रि को 8 बजे सीहोर सर्किट पहुंच जाएंगें। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...