मुस्लिम शिक्षक कक्षा के दौरान जुमे की नमाज के लिए न जाएं : दिल्ली सरकार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 29 अप्रैल 2018

मुस्लिम शिक्षक कक्षा के दौरान जुमे की नमाज के लिए न जाएं : दिल्ली सरकार

stop-namaz-on-school-time
नई दिल्ली, 27 अप्रैल, दिल्ली सरकार ने दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग(डीएमसी) से कहा है कि स्कूल अवधि के दौरान मुस्लिम शिक्षकों को जुमे की नमाज अदा करने की इजाजत नहीं दी जा सकती।   डीएमसी के अध्यक्ष जराफुल इस्लाम खान ने बताया कि दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग ने लिखित प्रतिक्रिया में कहा है, "शिक्षक शुक्रवार को जुमे की नमाज अदा करने के लिए अपनी कक्षाओं को छोड़कर नहीं जा सकते, क्योंकि इससे विद्यार्थियों के हितों को नुकसान पहुंचता है।" खान ने कहा, "उन्होंने(शिक्षा विभाग) कहा है कि नियमों में ढील नहीं दी जा सकती और अपराह्न् एक बजे से शुरू होने वाली कक्षा के लिए शिक्षकों को अपराह्न् 12:45 बजे तक स्कूल पहुंचना होगा।" इससे पहले शिक्षकों ने आयोग से शुक्रवार को नमाज अदा करने के लिए जाने देने का आग्रह किया था, जिसके बाद इस संबंध में शिक्षा विभाग और तीनों नगर निगमों की प्रतिक्रिया मांगी गई थी। खान ने कहा, "नगर निगमों ने इस संबंध में अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।" उन्होंने कहा, "शिक्षकों ने मुझसे कहा कि 1954 में केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक आदेश के अनुसार, कर्मचारी अपने वेतन से एक निश्चित राशि देने के बाद नमाज अदा करने जा सकते हैं। हमने गृह विभाग को इस संबंध में लिखा है कि क्या इस नियम को अभी भी लागू किया जा सकता है।" खान के अनुसार, गृह मंत्रालय से इस संबंध में अभी जवाब नहीं आया है।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...