संघीय मोर्चा राष्ट्रीय राजनीति को हिला देगा : राव - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 29 अप्रैल 2018

संघीय मोर्चा राष्ट्रीय राजनीति को हिला देगा : राव

united-front-will-change-indian-politics-chandrasekhar-rao
हैदराबाद, 27 अप्रैल, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने शुक्रवार को कहा कि प्रस्तावित गैर-कांग्रेसी, गैर भाजपा संघीय मोर्चा राष्ट्रीय राजनीति को हिला देगा।  कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), दोनों को चुनौती देते हुए तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष ने राष्ट्रीय राजनीति में गुणात्मक परिवर्तन लाने का वादा किया। टीआरएस के सत्र में मौजूद पार्टी के 13 हजार प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "मोर्चा के विचार ने राष्ट्रीय राजधानी में पहले ही हलचल मचा दी है।" स्वतंत्रता के 70 वर्षो बाद देश में समस्या पैदा करने वाले सभी कारकों के लिए कांग्रेस और भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए उन्होंने कहा, "वास्तविक सहकारी संघवाद के जरिए संघीय मोर्चा देश को त्वरित विकास और समृद्धि की ओर ले जाएगा।" मोचरे के निर्माण में तेजी आने की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव जल्द ही उनसे मिलने हैदराबाद आने वाले हैं। राव ने घोषणा की कि वह अगले माह द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के नेता एम. के. स्टालिन से मुलाकात करेंगे। राव ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस, दोनों उनसे डरती हैं क्योंकि वह अपनी प्रतिबद्धताओं के लिए जाने जाते हैं। टीआरएस प्रमुख ने कहा कि उन्होंने जिस तरह से तेलंगाना राज्य हासिल करने के लिए प्रयत्न किया था, उसी तरह वह देश की भलाई के लिए कड़ा परिश्रम करेंगे। उन्होंने कहा, "भाजपा नेता कहते हैं कि इस मोर्चे के पास अपना कोई आधार नहीं है। अगर ऐसा है तो वे लोग डरते क्यों हैं?" राव ने कहा कि मोर्चा देश में प्रत्येक एकड़ जमीन की सिंचाई करने की योजना बनाएगा क्योंकि देश में पर्याप्त मात्रा में जल उपलब्ध है। 
एक टिप्पणी भेजें