बिहार : शिक्षा मंत्री का किया घेराव, परीक्षा फल गड़बड़ी से छात्र छात्राओं का फूटा गुस्सा - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 11 मई 2018

बिहार : शिक्षा मंत्री का किया घेराव, परीक्षा फल गड़बड़ी से छात्र छात्राओं का फूटा गुस्सा

  • शिक्षा मंत्री ने वार्ता के लिए कल बुलाया।

aisf-protest-patna-education-minister
पटना,11 मई, 2018:- आज अरविंद महिला कॉलेज में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे सूबे के शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा को छात्र छात्राओं का कोपभाजन बनना पड़ा।कार्यक्रम समाप्त कर मंत्री सीढ़ियों से उतर ही रहे थे कि  आक्रोशित छात्र छात्राओं ने कॉलेज परिसर में ही उन्हें घेर कर नारेबाजी करने लगे।परीक्षाफल गड़बड़ी पर चुप्पी तोड़ो,शिक्षा मंत्री जवाब दो,छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना बंद करो,सभी छात्राओं एवं एससी एसटी के छात्रों का पीजी तक निःशुल्क शिक्षा के राज्यसरकार के आदेश का पालन कराओ,शैक्षणिक सत्र नियमित करो आदि नारे लगाए।  आक्रोशित छात्र छात्राओं से घिरे शिक्षा मंत्री भी छात्र छात्राओं के साथ नारे लगाने लगे और शांत हो अपनी बात कहने की अपील किया।एआईएसएफ के सदस्यों ने शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौंपा जिसमें मगध विश्वविद्यालय  स्नातक द्वितीय खंड व वोकेशनल की उत्तरपुस्तिकाओं का पुनर्मूल्यांकन कर परीक्षाफल में सुधार,सभी छात्राओं एवं एससी एसटी के छात्रों को पीजी तक निःशुल्क शिक्षा सुनिश्चित कराने तथा इस मद में कॉलेजो को हुए आर्थिक क्षति की भरपाई,स्नातक प्रथम खंड सत्र 2017-18 के विद्यार्थियों का पंजीयन कराने,स्नातकोत्तर सेमेस्टर 4 की परीक्षा तिथि घोषित करने,पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के आधारभूत संरचना के साथ पूर्णतः विकसित कर सभी कार्य यहीं से संचालित करने,शैक्षणिक सत्र नियमित करने की मांगो का ज्ञापन शिक्षा मंत्री की सौंपा गया।  शिक्षा मंत्री ने कल 12 मई को 9 बजे अपने आवास पर आंदोलनकारी छात्र छात्राओं के 10 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल को वार्ता के लिए बुलाया है।वार्ता के बाद शिक्षा मंत्री मगध विश्वविद्यालय प्रशासन को निर्देश देंगे। इस दौरान एआईएसएफ के राज्य सचिव सुशील कुमार,जिला सचिव सुशील उमाराज,राज्यपरिषद सदस्य बिट्टु कुमार,सोनी कुमारी, कोमल कुमारी,जैकरीन,शिखा प्रकाश,मीसा भारती,अक्षय कुमार,शिवानी प्रिया,स्वाति कुमारी,मधु कुमारी,रानी कुमारी,नीलू कुमारी,सोनम कुमारी,रूबी कुमारी सहित सैकड़ों छात्र छात्राएं शामिल थे।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...