बिहार : दलितों की मजदूरी में सेंधमारी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 16 मई 2018

बिहार : दलितों की मजदूरी में सेंधमारी

dalit-labour
पटना. आजकल पटना नगर निगम कार्यक्षेत्र में बड़े और छोटे नालों की उड़ाई व सफाई हो रही है.ऑपेन ड्रेन को जेसीबी से और भूगर्भ नालों को मानव बल से कीचड़ निकालने का कार्य हो रहा है. मानव बल में दलित कार्यशील हैं.कीचड़ निकालने वाले मानव बलों ने कार्य निरीक्षण करने वाले शक्ति सिंह पर कीचड़ उछाला है कि मजदूरी में कटौती करते हैं. कीचड़ निकालने वाले दलितों ने कहा कि पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर- 22 के वार्ड सदस्य दिनेश हैं. इनके वार्ड में भूगर्भ नालों की उड़ाही-सफाई हो रही है. एक मजदूर को 400 मजदूरी देय है.8 मजदूरों से कार्य करवाना है मगर 6 मजदूरों से कार्य करवाया जा रहा है.2 मजदूरों की मजदूरी जेब में डाल ली जाती है.वहीं मजदूरों को साप्ताहिक मजदूरी देते समय 2 सौ रु.डकार लिया जाता है. यहां कार्य निरीक्षक शक्ति सिंह हैं.इनके ऊपर कीचड़़ उछाला गया है. एक मजदूर 6 दिन काम करता है तो उसे 2400 के बदले में 2200 रू.थमा दिया जाता है. इस तरह 6 मजदूरों से साप्ताहिक 12 हजार रू.गडक जाते हैं.2 मजदूरों की हाजरी बनाकर 4800 रु.लेते हैं.6 हजार रु.कमा रहे हैं शक्ति सिंह.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...