मधुबनी : गंदगी में फिसड्डी से सौन्दर्य में शिखर पर पहुंचा मधुबनी रेलवे स्टेशन - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 2 मई 2018

मधुबनी : गंदगी में फिसड्डी से सौन्दर्य में शिखर पर पहुंचा मधुबनी रेलवे स्टेशन

madhubani-railway-station-won-second-on-beautiful-station
मधुबनी (आर्यावर्त डेस्क) 02 मई, पिछले साल तक गंदगी में सबसे निचले पायदान पर रहने वाला मिथिला का मधुबनी रेलवे स्टेशन रेलवे की 'स्टेशन सौंदर्यीकरण प्रतियोगिता' में दुसरा स्थान प्राप्त हुआ है. मधुबनी के इस काय कल्प का श्रेय जाता है मधुबनी के तमाम मधुबनी पेंटिंग करने वाले कलाकारों का जिन्होंने दिन रात के अथक मेहनत और प्रयास से मिथिला की ह्रदयस्थली मधुबनी को स्थानीय लोक कला मधुबनी पेंटिंग से सराबोर कर बेहद खूबसूरत बना डाला. महाराष्ट्र के बल्लारशाह और चंद्रपुर रेलवे स्टेशनों को रेलवे की 'स्टेशन सौंदर्यीकरण प्रतियोगिता' में संयुक्त रूप से शीर्ष स्थान प्राप्त हुआ है। रेल मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी। मध्य रेलवे के नागपुर मंडल ने इन दोनों स्टेशनों पर ताडोदा राष्ट्रीय उद्यान और स्थानीय आदिवासी कला के आधार पर पेंटिंग, मूर्तियां और भित्ति चित्र लगाकर सौंदर्यीकरण किया था। इस प्रतियोगिता में दूसरे स्थान पर बिहार का मधुबनी स्टेशन रहा। स्थानीय कलाकारों ने पूरे स्टेशन का स्थानीय मधुबनी पेंटिंग से सौंदर्यीकरण किया है। इसके अलावा तमिलनाडु के मदुरै स्टेशन को भी दूसरा स्थान मिला।  तीसरा पुरस्कार संयुक्त रूप से गुजरात के गांधीधाम, राजस्थान के कोटा और तेलंगाना के सिकंदराबाद स्टेशनों को मिला। पहले स्थान पर रहे विजेता स्टेशन को 10 लाख रुपए, दूसरे स्थान पर रहे विजेता को 5 लाख रुपए और तीसरे स्थान पर रहे विजेता को 3 लाख रुपए पुरस्कार में दिए जाएंगे।बता दें कि 2017 में 'स्वच्छता ही सेवा' के अंतिम दिन 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर मधुबनी स्टेशन पर बड़े पैमाने पर मधुबनी चित्रकला को प्रदर्शित करने का काम शुरू कर दिया गया था। बड़ी संख्या में कलाकारों ने इसमें हिस्सा लिया और 20 अलग-अलग विषयों पर 20 टीमें काम कर रही थीं। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...