दुमका : उपायुक्त ने पदभार ग्रहण कर जिले के विकास में लगे ग्रहण को हटाया। - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 11 मई 2018

दुमका : उपायुक्त ने पदभार ग्रहण कर जिले के विकास में लगे ग्रहण को हटाया।

  • डॉ लुईस मरांडी,समाज कल्याण मंत्री। बासुकी अगरबत्ती इंटरनेशनल ब्रांड बनेगा। जिला प्रशासन महिला सशक्तिकरण की दिशा में निरंतर कार्य करेगा।

new-dc-give-speed-to-development-in-dumka
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) इंडोर स्टेडियम दुमका में बासुकी अगरबत्ती ब्रांड की लांचिंग समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी व   सांसद निशिकांत दुबे द्वारा संयुक्त रूप से किया गया । आजीविका महिला मंडल (SHG) के द्वारा इस अगरबत्ती को बनाया जाएगा । बासुकी अगरबत्ती मंदिर में अर्पित पुष्प एवं बेलपत्र से निर्मित होगा।  महिला सशक्तिकरण की दिशा में जिला प्रशासन की यह जबरदस्त पहल है । महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़कर जिला प्रशासन द्वारा उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त करने का कार्य किया जा रहा है। इस अवसर  समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी ने कहा कि दुमका जिला के लिए आज का दिन ऐतिहासिक दिन है । खुशी की बात है कि जिला प्रशासन महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त करने का कार्य निरंतर रूप से कर रही है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की पूरी टीम की जितनी भी प्रशंसा की जाए कम होगी। जिला प्रशासन द्वारा निरंतर जिले में नए-नए कार्य किये जा रहे हैं।  उन्होंने कहा  सरकार भी महिला को सशक्त करने के लिए कृतसंकल्पित है।  सरकार की विभिन्न योजनाएं महिला सशक्तिकरण की दिशा में कारगर साबित हो रही है । राज्य सरकार छोटे-छोटे उद्योगों को बढ़ावा देकर लोगों को रोजगार उपलब्ध करा रही है । उन्होंने कहा कि दुमका के उपायुक्त मुकेश कुमार ने जिस दिन से जिले में उपायुक्त के रूप में पदभार ग्रहण किया है इस जिले में लगे विकास का ग्रहण खत्म हो चुका है । महिलाओं से कहा कि आप को अपने ऊपर गर्व होना चाहिए  सरकार ने आपके हाथ में हुनर देखकर आप को रोजगार उपलब्ध कराने का कार्य किया है। अब आपके हाथ में हुनर है और हुनरमंद को कोई भी दबा नहीं सकता । उन्होंने कहा कि सरकार ने गांव के लोगों, महिलाओं को कौशल विकास से जोड़कर एक नया हुनर देने का कार्य किया है । गांव का विकास तथा गांव की महिलाएं जब तक सशक्त नहीं होंगी तब तक हमारा राज्य और हमारा देश सशक्त नहीं हो सकता । सरकार विकास के लिए प्रतिबद्ध है । पिछले कुछ वर्षों से  सरकार द्वारा विकास की एक नई लंबी लकीर खींची गई है । लोगों को सरकार द्वारा किया गया कार्य दिखने लगा है । सरकार गरीब की चिंता करती है ।राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने मिलकर विकास की गति को तेज करने का कार्य किया है । उन्होंने कहा कि सांसद श्री निशिकांत दुबे द्वारा भी दुमका  के विकास के लिए निरंतर मदद की गई है और मुझे विश्वास है आगे भी इनके द्वारा हमें सहयोग मिलता रहेगा ।

इस अवसर पर गोड्डा के सांसद श्री निशिकांत दुबे ने कहा कि दुमका जिला में बने मयूराक्षी सिल्क को अब किसी पहचान की जरूरत नही है । उन्होंने कहा कि दुमका जिला जिस तरह से विकास की एक नई किताब लिख रहा है इसके लिए जिला प्रशासन की जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है ।उन्होंने कहा कि विकास अगर सच में देखना है तो लोगों को दुमका आना चाहिए । सरकार द्वारा हर क्षेत्र में निरंतर कार्य किए जा रहे । संथाल परगना के सर्वांगीण विकास के लिए सरकार प्रतिबद्ध है । उन्होंने कहा कि दुमका जिला के विकास के लिए मेरे द्वारा भी कई कार्य किए गए हैं और मैं निरंतर क्षेत्र के विकास के लिए कार्य करता रहूंगा । उन्होंने उपायुक्त मुकेश कुमार की प्रशंसा करते हुए कहा कि विकास की एक नई लकीर खींचने का कार्य उपायुक्त ने किया है । जब तक महिलाओं को सशक्त नहीं किया जाता तब तक समाज का विकास सही मायने में नहीं हो सकता। महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त कर के ही विकास की बात की जा सकती है । बहुत जल्द दुमका को और भी कई तोहफे मिलने जा रहे हैं ।रेल का तोहफा भी दुमका को बहुत जल्द मिलेगा विभाग इस क्षेत्र पर लगातार कार्य कर रहा है । उन्होंने कहा कि ईसीएल के जीएम का हेड क्वार्टर दुमका में ही बनेगा ताकि दुमका का सर्वांगीण विकास और भी बेहतर ढंग से हो सके । इसी सत्र में मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई शुरू होगी ।  नेतरहाट की तर्ज पर स्कूल खोलने का कार्य किया जाएगा । उन्होंने कहा कि बासुकी अगरबत्ती से महिलाओं को जोड़कर जिला प्रशासन ने राज्य के समक्ष एक बेहतर उदाहरण प्रस्तुत किया है । श्रावणी मेले के दौरान यह प्रयोग यहां की महिलाओं को एक बेहतर आमदनी का स्रोत प्रदान करेगा । मुझे विश्वास है बासुकी अगरबत्ती इंटरनेशनल लेवल का ब्रांड बनेगा ।

इस अवसर पर दुमका के उपायुक्त मुकेश कुमार ने कहा कि सरकार का उद्देश्य अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुंचाना है । जब तक महिलाएं आर्थिक रूप से सशक्त नहीं होंगी तब तक सही मायने में विकास नहीं हो सकता । जिला प्रशासन निरंतर महिलाओं को सशक्त करने की दिशा में कार्य कर रहा है ।सेंट्रल सिल्क बोर्ड द्वारा 200 अटल मशीन बहुत जल्द प्रशासन को मुहैया करा दिया जाएगा जिस पर मयूराक्षी सिल्क का कार्य और भी तेजी से किया जा सकेगा । महिलाओं को आर्थिक रूप से संबल बनाकर ही विकास की बात की जा सकती है उन्होंने कहा कि बासुकी अगरबत्ती से 300 परिवारों को लाभ पहुंचेगा साथ ही यह प्रयोग पलायन रोकने के लिए भी कारगर साबित होगा । जिला प्रशासन महिलाओं को उनके घर पर ही सशक्त करने का कार्य कर रही है । बाली फुटवेअर से 2500 महिलाओं को जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है । पिंक आर्मी की पूरी टीम बाली फुटवेअर बनाकर अपने जीवन स्तर को बेहतर बनाने का कार्य कर रही है इनके साथ ब्लू आर्मी की टीम बासुकी अगरबत्ती निर्माण का कार्य करेंगी । उन्होंने कहा कि यह सामूहिक प्रयास सरकार के सपनों को पूरा करने का है । श्रावणी मेला के द्वारा बासुकी अगरबत्ती की मांग को पूरा करने के लिए अभी से ही कार्य किये जा रहे हैं । आने वाले समय में सेनेटरी नैपकिन भी यहां की महिलाएं बनाएंगी इस दिशा में भी जिला प्रशासन ने कार्य करना प्रारंभ कर दिया है । इस अवसर पर उप विकास आयुक्त शशि रंजन ने अपने  स्वागत संबोधन में कहा कि बासुकी अगरबत्ती महज एक शुरूआत है । इसे सिर्फ जरमुंडी तक सीमित नही रखा जाएगा । बासुकी अगरबत्ती बहुत जल्द पूरे राज्य में ही नहीं देश पर अपनी सफलता प्राप्त करेगा । जिला प्रशासन की यह पहल महिला को सशक्त करने की दिशा में एक जबरदस्त  प्रयास है ।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...