सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 मई - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 16 मई 2018

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 मई

विकासखंड स्तरीय विभागीय परिवेदना निवारण शिविर 18 को

जिला शिक्षा अधिकारी सीहोर ने बताया कि लोक शिक्षण संचालनालय के निर्देशानुसार सीहोर जिले में 18 मई,2018 को प्रात: 10.30 बजे से सायं 5.30 बजे तक समस्त विकासखंडों के शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में परिवेदना निवारण शिविर का आयोजन किया जाएगा। उक्त शिविरों में स्कूल शिक्षा विभाग के शिक्षक / कर्मचारी उनकी स्थापना संबंधी सभी स्वत्वों, समस्याओं और शिकायतों यथा वरिष्ठता निर्धारण, समयमान वेतनमान, क्रमोन्नति, वरिष्ठ वेतनमान, वेतन संबंधी समस्या, वेतनवृध्दि, अंशदान कटोत्रा, अवकाश संबंधी समस्या, सामान्य भविष्य निधि, गोपनीय चरित्रावली आदि हेतु आवेदन दे सकेंगे। यह शिविर पूर्णत: व्यक्तिगत परिवेदनाओं के लिए रहेगा। शिविर में स्थानांतरण आवेदन, नीतिगत निर्णय संबंधी आवेदन, मांग और सुझाव संबंधी आवेदन नहीं लिये जा सकेंगे। शिविरों में प्राप्त आवेदन पत्रों का स्कूल शिक्षा विभाग व्दारा निर्धारित समयावधि में सक्षम अधिकारी व्दारा निराकरण किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि 18 मई,18 को विकासखंड स्तरीय उक्त शिविरों के आयोजन होने से इस तिथि को पूर्व में निर्धारित जिला स्तरीय शिविर अब आयोजित नहीं किया जाएगा। 

पटवारी में चयनित अभ्यर्थियों का सत्यापन  तथा काउसिंलिंग 26 को 

आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त के निर्देशानुसार पटवारी भर्ती परीक्षा 2017 के माध्यम से चयनित अभ्यर्थियों का सत्यापन तथा काउसिंलिंग 26 मई,2018 को प्रात: 10 बजे से शासकीय महिला पोलीटेक्निक महाविद्यालय भोपाल नाका सीहोर में किया जाएगा। संयुक्त कलेक्टर सीहोर ने बताया कि काउंसिंलिंग में उपस्थित अभ्यार्थियों को दस्तवेजों की मूलप्रति साथ लाना आवश्यक है। दस्तावेजों में स्नातक उपाधि की मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से जारी डिग्री, आयु संबंधी प्रमाण पत्र- जन्म प्रमाण पत्र अथवा 10वीं बोर्ड की मार्कशीट, मूल निवासी प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, नि:शक्तजनों हेतु नि:शक्तता का प्रमाण पत्र, भूतपूर्व सैनिकों हेतु प्रमाणपत्र, निर्धारित प्रारूप में नोटरी व्दारा सत्यापित शपथ पत्र (शपथ पत्र का प्रारूप सीएलआर वेबसाइट  पर उपलब्ध)  शामिल है। 

31 मई को विश्व तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस के रूप में मनाया जायेगा

आगामी 31 मई,2018 को विश्व तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस के रूप में मनाया जायेगा। उप संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण ने बताया कि इसका उद्देश्य युवाओं, छात्र-छात्राओं एवं जन सामान्य में बढती हुई तम्बाकू एवं धूम्रपान के सेवन की प्रवृत्ति की रोकथाम के लिये तम्बाकू एवं बीडी सिगरेट के दुष्परिणामों से उन्हें अवगत कराना है ताकि तम्बाकू एवं गुटखा, बीडी, सिगरेट के सेवन की बढती प्रवृत्ति से युवाओं एवं जनसामान्य को कैंसर, टीबी, हृदयघात बीमारियों से बचाया जा सके तथा तम्बाकू एवं धूम्रपान के सेवन की रोकथाम हेतु जनजागृति का वातावरण बनाया जाकर तम्बाकू उत्पादों के सेवन से बचने का संदेश दिया जा सके। उप संचालक सामाजिक न्याय एवं निशक्तजन कल्याण ने बताया कि विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के सफल आयोजन हेतु स्थानीय स्तर पर 31 मई को नशा मुक्ति मानव श्रृंखला समय सुबह 7 से सुबह 8 बजे तक बनाई जाएगी। जिला मुख्यालय पर मानव श्रृंखला स्थानीय कोतवाली चौराहा से प्रारंभ होकर अलग अलग दिशाओं में बनाई जाएगी। मानव श्रृंखला जिले के सभी जनपद पंचायत, नगरीय निकाय, नगर पंचायत, ग्राम पंचायत स्तर पर बनाई जाएगी जिसमें समस्त विश्वविद्यालय, महाविद्यालय, विद्यालय के छात्र - छात्राएं एवं स्वैच्छिक संस्थाएं तथा स्थानीय जनप्रतिनिधि सम्मिलित होंगे। कलापथक दल के सांस्कृतिक कार्यक्रम जिसमें नुक्कड नाटक, संगीत आदि का आयोजन तथा स्कूली बच्चों की प्रतियोगिताएं जैसे वाद विवाद, निबंध लेखन, प्रश्न मंच, चित्रकला प्रतियोगितायें का आयोजन किया जायेगा। पंचायत, जिला पंचायत, जनपद पंचायत तथा स्वैच्छिक संस्थाओं में सभी संबंधित अधिकारियों को इस संबंध में आयोजित कार्यक्रमों का प्रचार-प्रसार करने और कार्यक्रम आयोजन के बाद पालन प्रतिवेदन अनिवार्य रुप से भेजने के निर्देश दिये है।

‘‘स्व सहायता समूहों की महिलाओं ने  शुरू किया खुद का प्रशिक्षण केन्द्र‘‘ ‘‘आजीविका मिशन की अभिनव पहल’’

sehore news
राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला सीहोर द्वारा ग्रामीण महिलाओं को स्व सहायता समूह से जोड़कर महिलाओं को सामाजिक एवं आर्थिक रूप से सशक्त करने का कार्य किया जा रहा है।  इस दिशा में महिलाओं ने समूह बनाकर, ग्राम संगठन की नींव रखी साथ ही संकुल स्तरीय संगठन बनाकर बेहतर दिशा में कार्य कर रही है। 

दुर्गावती सामुदायिक सहयोग संगठन का किया गठन
10 ग्रामों की समूह की महिलाओं ने मिलकर दुर्गावती संगठन का गठन किया जिसमें महिलाओं द्वारा सामाजिक एवं आर्थिक मुद्दों पर चर्चा कर उनके समाधान पर कार्य किया जा रहा है। 

प्रशासन की मदद से जिला मुख्यालय पर की प्रशिक्षण केन्द्र की स्थापना
समय-समय पर महिलाओं को प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है, इस हेतु उन्हें खाली भवन की जरूरत महसूस हो रही थी, जिसका जिक्र उनके द्वारा प्रशासन के सामने किया, कलेक्टर  एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत के सहयोग से जिला पंचायत के पुराने भवन को प्रशिक्षण केन्द्र के लिये आवंटित किया गया।

महिलाओं ने स्थापित की 40 लोगों की आवासीय व्यवस्था
समूह की महिलाओं द्वारा प्रशिक्षण केन्द्र में 40 लोगों की आवसीय व्यवस्था की गयी है। साथ ही रहने एवं भोजन की भी संपूर्ण व्यवस्था उपलब्ध है, महिलाओं की सुरक्षा की भी पूरी व्यवस्था की गयी है। खास बात तो यह है कि पूरे प्रशिक्षण केन्द्र का संचालन ग्रामीण महिलाओं द्वारा ही किया जा रहा है। 

अन्य सुविधाएँ
प्रशिक्षण कक्ष में आधुनिक प्रोजेक्टर, माईक सिस्टम, कूलर, पंखे, बोर्ड, फिल्टर पानी आदि की पूर्ण व्यवस्था है। प्रशिक्षण केन्द्र में प्रशिक्षण भी अनुभवी महिलाओं द्वारा दिया जा रहा है।

प्रशिक्षण प्रारंभ
वर्तमान में प्रशिक्षण केन्द्र में सामाजिक अंकेक्षण का प्रशिक्षण संचालित है। यह प्रशिक्षण लगातार 10 जून तक संचालित रहेगा, इस प्रशिक्षण के दौरान लगभग 220 स्व सहायता समूहों की महिला सदस्य प्रशिक्षित होगीं।

भविष्य की योजना
जिला परियोजना प्रबंधक श्री संदीप सोनी के अनुसार इस प्रशिक्षण केन्द्र में जिला स्तरीय प्रशिक्षण आयोजित कराए जाएंगे साथ ही अन्य जिलों के समूहों सदस्यों को भी प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। प्रशिक्षण केन्द्र में बच्चों के खेलने के लिये बेबी केयर सेन्टर एवं माँ अपने बच्चे को दूध वगैरह पिला सके, इस हेतु मदर फिडिंग सेन्टर की स्थापना भी की जाएगी।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...