विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 मई - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 2 मई 2018

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 मई

समस्या का समाधान 'सल्फास' नहीं, सत्संग है : पं.अंकितकृष्ण
  • कथा के चौथे दिन आज मनेगा कृष्ण जन्मोत्सव

vidisha news
अटारीखेजड़ा में चल रही संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के तीसरे दिन कथावाचक गौवत्स पं.अंकितकृष्ण महाराज ने श्रोताओं से  कहा कि वर्तमान समय में मनुष्य परेशानियो से घबडाकर मृत्यु को गले लगा लेता है ये किसी समस्या का समाधान नहीं है समस्या आने पर मनुष्य को सत्संग एवं संतों का सद आश्रय ग्रहण करना चाहिए, महाराज परीक्षित को जिस प्रकार तक्षक के काटने का श्राप मिला ऐसी भयंकर परिस्थिति मे भी महाराज परीक्षित ने धैर्य नहीं खोया और शुकदेव जैसे ऋषि की शरणागति में जाकर अपनी जीवन और मृत्यु दोनों को मंगलमय बना लिया ।उक्त उद्गार ग्राम अटारीखेजड़ा मे चल रही श्रीमदभागवत के तीसरे दिन गौवत्स पं. अंकितकृष्ण जी महाराज (वटुकजी) ने दिए । वटुकजी महाराज ने ध्रुव-प्रहलाद का चरित्र सुनाते हुए कहा कि जीव के ह्रदय मे भक्ति का संस्कार बाल्यवस्था से होना चाहिए । ध्रुव-प्रहलाद ने अल्प आयु मे भगवद शरणागति ग्रहण करके प्रभु पद प्राप्त किया । ग्राम अटारीखेजड़ा में संकट मोचन हनुमान मंदिर परिसर में चल रही सात दिवसीय भागवत कथा में तीसरे दिन पंडाल भक्तों से खचाखच भर गया, आसपास के गांवों से भी बड़ी संख्या में माताएं-बहनें कथा सुनने के लिए पहुंच रही हैं। भगवान के गुणगान और उनकी लीलाओं का वर्णन करते हुए कथा व्यास गौवत्स पं.अंकितकृष्ण महाराज ने कहा कि  कलियुग में समस्त पापों को हरने वाली है श्रीमद् भागवत कथा । भगवान श्री कृष्ण की सभी लीलाओं तथा जीवन का सार श्रीमद् भगवत कथा में बताया गया है।  उन्होंने बताया कि श्रीमद् भागवत का मनन और चिन्तन जीवन को नई दिशा एवं प्रेरणा देता है । कथा के तीसरे दिन भक्तों ने धु्रव चरित्र, जड़ भरत चरित्र, अजामिल कथा, प्रहलाद चरित्र, नरसिंह संवाद एवं श्री वामन अवतार का व्याख्यान किया। साथ ही बटुक महाराज ने गौमाता की भक्ति पर जोर देते हुए कहा कि आज गौमाता को केवल राजनीति का जरिया बना लिया गया है और असल सेवा हम भूलते जा रहे हैं। हमारे कृषि प्रधान देश में यदि गौमाता संकट में है ते यह बहुत शर्म की बात है। महाराज श्री ने लोगों से समय निकालकर गौसेवा करने का आग्रह किया। कथा आयोजन में अलग- अलग क्षेत्रों से पधारे कलाकार अपनी प्रस्तुति दे रहे हैं, सांची से आए राजा विश्वकर्मा अपने गायन और ढोलक से लोगों का मन मोह रहे हैं , पेड पर उनका साथ दे रहे पवन और अन्य कलाकार अपने गायन, संगीत से श्रद्धालुओं को पंडाल में थिरकने पर मजबूर कर देते हैं। इस  दौरान कथा के मुख्य यजमान रामबाबू राजपूत, पं. महेश शर्मा, भगवान सिंह राजपूत, महेन्द्र रघुवंशी, रंजीत रघुवंशी, नीलेश यादव, राहुल राय, भगवान सिंह कुशवाह, शुभम सोनी, आशीष कुशवाह, शिवराज दुबे आदि उपस्थित रहे, आयोजन समिति ने सभी क्षेत्रवासियो से अधिक से अधिक संख्या मे उपस्थित होकर धर्मलाभ लेने की अपील की...। कथा समिति में शामिल महेश महाराज ने बताया कि  गुरूवार को भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाएगा इस मौके पर बाल कृष्ण की आकर्षक झांकी और दर्शन करने का अवसर मिलेगा। महाराज श्री ने भक्तों से आग्रह करते हुए कहा कि भगवान कृष्ण को पीले वस्त्र प्रिय थे इसलिए अगर आप सब लोग पीले वस्त्र धारण करके आएं ।कथा आयोजकों ने भी अधिक से अधिक लोगों से पहुंचने की अपील की है , कथा का समापन 6 मई को किया जाएगा इस मौके पर पूर्णाहूति एवं महा प्रसादी वितरण का आयोजन भी रखा गया है। 

शहर की जनता को दोनो समय पानी मिलें: भार्गव 

विदिशा:- विदिषा शहर में नगरपालिका द्वारा सिर्फ एक समय पानी सप्लाए किया जा रहा हैं। भारी गर्मी के चलते वाटर लेवल नीचे सिमट चुका हैं जिससे रहवासियो के वोरबेल एवं हैण्डपंप भी सूखे पडे हैं एक समय पानी की सप्लाई से लोगो की जरूरत का पूरा पानी नही मिल पा रहा हैं शहर भर में पानी की किल्लत को देखते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता शषांक भार्गव ने राज्यपाल महोदय के नाम ज्ञापन सौंप कर प्रषासन से विदिषा शहर में दोनो समय जल प्रदाय कि मांग की। इस अवसर पर बंसत जैन, मोहरसिंह रधुवंषी, अजय कटारे, अनुज लोधी, रईस अहमद कुरैषी, नरेन्द्र रघुवंषी, राजकुमार डिडौत, शरूण गुप्ता, सुमित शर्मा, गोविंद भार्गव, बंन्टी सक्सैना, दिनेष विष्वकर्मा, अभिषेक मिश्रा, विनय मीना, भूरा मीना, सलीम खांन आदि उपस्थित थे। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...