जमशेदपुर : अभिव्यक्ति और आज़ादी का समन्वय उन्नत समाज बनाता है : सी.भास्कर राव - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 5 सितंबर 2018

जमशेदपुर : अभिव्यक्ति और आज़ादी का समन्वय उन्नत समाज बनाता है : सी.भास्कर राव


expression-and-freedom-build-strong-socity
आर्यावर्त डेस्क, जमशेदपुर , 5  सितम्बर , 2018,  अभिव्यक्ति और आज़ादी एक दूसरे के पूरक है. आज़ादी होगी तभी अभिव्यक्ति होगी और अभिव्यक्ति तभी सही तरीके से संचारित होगी जब आज़ादी होगी. अभिव्यक्ति और आज़ादी के सकारात्मक समन्वय से ही उन्नत समाज की रचना होती है.उक्त विचार वेब न्यूज़ पोर्टल "लाइव आर्यावर्त" द्वारा सेण्टर फॉर इंटरनेट एंड मीडिया एथिक्स और झारखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की सहभागिता से जमशेदपुर के होटल बुलेवर्ड में आयोजित "अभिव्यक्ति की आज़ादी और फेक न्यूज़ "विषय पर एक सेमिनार के दौरान विश्व हिंदी सम्मान से नवाजे गए झारखण्ड के वरिष्ठ साहित्यकार डॉ.सी.भास्कर राव ने व्यक्त किये. डॉ.राव ने कहा कि पत्रकारिता में अभिव्यक्ति का रचनात्मक उपयोग देश और समाज में गंगा जमुनी संस्कृति को और भी मजबूती प्रदान करने में सहायक होगा. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एस.आर.ए.रिज़वी छब्बन ने अपने उद्बोधन में कहा कि पत्रकार समाज का आईना होता है,अभिव्यक्ति की आज़ादी जरुरी है पर कभी कभी फेक न्यूज़ की वजह से सामाजिक सौहार्द बिगड़ता है ,ऐसे में मीडिया की जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है. छब्बन ने कहा कि भारत एक महान देश है और इंसानियत ही सर्वोपरि धर्म है. जे.के.एम् कॉलेज की प्राचार्या और साहित्यकार डॉ.कल्याणी कबीर ने कहा कि व्यावसायिकता की दौर में सबसे तेज चलने का प्रचलन है परन्तु इस बात का ख्याल मीडिया को रखना होगा कि तेजी के कारण समाचारों की वास्तविकता न प्रभावित हो. समाजसेवी राम भगवान राय ने कहा कि समाचारों की आपाधापी में अभिव्यक्ति और आज़ादी का ख्याल रखते हुए फेक न्यूज़ से सावधानी बरतना जरुरी है ताकि मीडिया की विश्वसनीयता और प्रतिष्ठा के साथ जनमानस सही तथ्यों से रूबरू रह सके.

समारोह के प्रारम्भ में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी और पत्रकार कुलदीप नैयर के निधन पर उनकी आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रख कर श्रद्धांजलि दी गयी.स्वागत भाषण के उपरांत विगत दिनों मॉरीसस में विश्व हिंदी सम्मान से अलंकृत किये जाने पर "लाइव आर्यावर्त" की तरफ से प्रधान संपादक कुसुम ठाकुर ने डॉ.सी.भास्कर राव को पुष्प गुच्छ देकर समारोह में सम्मानित किया.संपादक रजनीश के झा ने अपने वक्तव्य में आर्यावर्त की नीव और भावी रूप रेखा की जानकारी दी. सेमिनार का सञ्चालन लाइव आर्यावर्त के प्रबंध संपादक विजय सिंह ने किया जबकि धन्यवाद् ज्ञापन झारखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के महासचिव प्रमोद झा ने किया.
एक टिप्पणी भेजें
Loading...