बिहार : बड़े पैमाने पर महुआ दारू बनाने का मामला सामने आया - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 14 सितंबर 2018

बिहार : बड़े पैमाने पर महुआ दारू बनाने का मामला सामने आया

डी.एम.कुमार रवि के नेतृत्व में अतिक्रमण मुक्त पटना सफल, दीघा थाना के थाना प्रभारी का निलम्बन तय, विरोध करने वाले मंटू मांझी गिरफ्तार
mahua-alcohal-patna
पटना: आज दीघा मुसहरी में चला पटना उच्च न्यायालय का हथौड़ा. हालांकि कल यहां पर हल्का-फुल्का अतिक्रमण हटाया गया.कल अतिक्रमण हटाने के दरम्यान ही चालाकी से स्थिति का जायजा लिया गया. इसके आलोक में आज शुक्रवार को जिला प्रशासन ने पूरी शक्ति दिखाई. भारी संख्या में पुलिस बंदोबस्ती की गई.अग्नि शमन दस्ता और टीयर गैस छोड़ने वाले दल तैयार थे.अतिक्रमण करने वाले विरोध व्यक्त नहीं.मंटू मांझी नामक एक व्यक्ति को हिरासत में लिया. खुद जिला समाहर्ता कुमार रवि ने मोर्चा संभाल लिया.इनके साथ पटना सदर अनुमंडल पदाधिकारी सुहर्ष भगत,पटना सदर के उप समाहर्ता भूमि सुधार शशि शेखर, उप समाहर्ता भूमि सुधार, दानापुर आदि मौजूद रहे. इन अधिकारियों के निशाने पर दीघा थाना प्रभारी सचिदानंद सिंह आ गए हैं.इनकी निष्क्रयता से राजू साह नामक व्यक्ति शराब बनाकर बेंचना शुरू कर दिया .इसके अलावे जावा महुआ और गुड़ भी बेचने लगा. अधिकारियों ने कहा कि यहीं बड़ा सिर वाला व्यक्ति है.जो होशियारी से से धंधा जमा लिया है.कभी गिरफ्तार नहीं हुआ है.  अतिक्रमण मुक्त पटना अभियान के तहत लोगों को 26 अगस्त 2018 को दीघा-पटना रेलवे लाइन के किनारे रहने वालों को नोटिस थमायी गयी.इस नोटिस के आधार पर 28.08.2018 को लोग सी.ओ.,पटना सदर के पास जाकर गुहार लगाया.हुजूर विस्थापन के पूर्व पुनर्वास करा दें.यह आग्रह स्वीकार नहीं किया गया .बस सी.ओ. ने कहा कि जो उचित होगा सरकार सहायता करेगी.  16 दिनों के बाद 13.09.2018 को अतिक्रमण हटाने आ धमके. झोपड़ी  हटाने के दरम्यान जे.सी.बी. ने जमीन के नीचे खोंदने लगी.दर्जनों डिब्बों में महुआ और मीठा डाला गया.उसे बरामद कर नष्ट कर दिया गया. महुआ दारू राजू साह के ठिकाने से बरामद किया गया.सभी जगहों से प्राप्त सैकड़ों डिब्बा बरामद कर नष्ट कर दिया गया.
एक टिप्पणी भेजें