चक्रवाती तूफान 'गज' तमिलनाडु में दस्तक देगा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 15 नवंबर 2018

चक्रवाती तूफान 'गज' तमिलनाडु में दस्तक देगा


चेन्नई 15 नवंबर  बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पश्चिम में समुद्री तूफान 'गज' के गुरुवार शाम या रात तक तमिलनाडु तट को पार करने की संभावना है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, हवा की रफ्तार लगभग 80 से 90 किलोमीटर प्रतिघंटा रहेगी।आईएमडी ने कहा कि तूफान 14 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से आगे बढ़ा और यह गुरुवार सुबह 5.30 बजे तक नागापट्टिनम के पूर्व-पूर्वोत्तर में केंद्रित रहा।गज पश्चिम-दक्षिणपश्चिम की ओर बढ़ सकता है और पंबन और कड्डालूर को पार कर सकता है। आईएमडी के मुताबिक, तमिलनाडु-दक्षिण आंध्र प्रदेश और पुड्डुचेरी तटों पर समुद्र की स्थिति गुरुवार दोपहर तक खराब से बहुत खराब रहेगी। अगले 24 घंटों यानी शुक्रवार तक तमिलनाडु, पुड्डुचेरी और उससे सटे दक्षिणी आंध्र प्रदेश में मछली पकड़ने पर पूर्ण रोक लगाने की सलाह दी गई है। तमिलनाडु के तंजावुर, तिरुवरुर, नागापट्टिनम, रामानाथपुरम और पुडुकोट्टई जिलों में और पुड्डुचेरी के करइकल में स्कूलों और कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। एआईएडीएमके सरकार के मुताबिक, दूरसंचार कंपनियों ने आश्वासन दिया है कि उनके पास तूफान प्रभावित क्षेत्रों में सिर्फ पांच दिनों तक और उनके मुख्यालयों में 15 दिनों तक का ही तेल का भंडारण हैं। मोबाइल टेलीफोन कंपनियों ने भी सरकार को आश्वासन दिया है कि वे अपने मोबाइल टेलीकॉम टावर्स को पहियों पर रखकर नागापट्टिनम से कड्डालूर ले जाएंगे।

 


एक टिप्पणी भेजें