बिहार : बीडीओ के गैरहाजिर में बड़ा बाबू को स्वरोजगार करने की मांग का आवेदन सौंपा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 6 फ़रवरी 2019

बिहार : बीडीओ के गैरहाजिर में बड़ा बाबू को स्वरोजगार करने की मांग का आवेदन सौंपा

applicaation-siven-to-clark-instead-of-bdo
डूमर,6 फरवरी। नवगठित प्रगति बचत समूह के सदस्यों ने स्वरोजगार की मांग को लेकर समेली प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी सत्येन्द्र सिंह को आवेदन दिया है। बीडीओ साहब की गैरहाजिर में बड़ा बाबू को आवेदन दिया गया। आवेदन देने वालों में प्रगति बचत समूह की अध्यक्ष पूनम देवी के साथ मोनी देवी, मगनी खातून, पेरिया खातून और मुस्मात हसीना खातून थीं। 

आवेदन में लिखा गया कि हमलोग प्रगति ग्रामीण विकास समिति की छत्रछाया में प्रगति बचत समूह बनाया है। प्रगति बचत समूह की अध्यक्ष पूनम देवी मनोनीत की गयी है। सचिव गुलशन खातून और कोषाध्यक्ष पेरिया खातून को मनोनीत की गयी है। अन्य सदस्य मो.इसहाक की पत्नी शैररूण खातून, मो.अयुब की पत्नी पेरिया खातून (पतित्याग), स्व. मो. सलीम की विधवा मुस्मात हसीना खातून, मो.शमशाद की पत्नी सफीना खातून, सनोज रविदास की पत्नी मोनी देवी, मो.माजिद की पत्नी कारी खातून, उमेश मंडल की पत्नी पूनम देवी, दिलवर्द्धन रविदास की पत्नी हरदा देवी, मो.रसूल की पत्नी मैरूण खातून, मो.दुखाय की पत्नी गुलशन खातून, मो.मुस्लिम की पत्नी मदिना खातून, मो.राॅकी की पत्नी रविना खातून, पोलाय मंडल के पुत्र उमेश मंडल और मो.रूस्तम की पत्नी रूखसत खातून हैं। 

प्रगति बचत समूह के सदस्यों ने आजीविका के साधन उपलब्ध करवाने का आग्रह किए। उनलोगों की चाहत है कि सिलाई मशीन, बकरी पालन, गाय पालन, अगरबत्ती बनाने , मोमबत्ती बनाने आदि का रोजगार किया जाए। सभी सदस्यों ने मासिक 10 रू. बचत समूह में जमा करने का निश्चय किया। कोषाध्यक्ष के पास पैसा जमा होगा। सदस्यों ने सर्वसम्मति से प्रगति ग्रामीण विकास समिति के जिला समन्वयक  को अधिकृत किया था कि आप समेली प्रखंड के बीडीओ के नाम से आवेदन तैयार करें और चैादह सदस्यों को जीविकोपार्जन करने के लिए सिलाई मशीन,बकरी, गाय, मोमबत्ती, अगरबत्ती  आदि के लिए अनुदान उपलब्ध कराएं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...