बेगुसराय : बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ अभियान के लिए जागरूकता जरुरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 5 फ़रवरी 2019

बेगुसराय : बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ अभियान के लिए जागरूकता जरुरी

beti-padhao-beti-bachao-jagrukta
अरुण कुमार (बेगूसराय)  ना जाने कितने ही कन्यायें मौत के हवाले हो रही हैं हवसी दरिंदों के हाथ और ना जाने कितने ही भ्रूण हत्या की बलीवेदी पर हो गईं जन्म के पूर्व ही बलिदान।महिला हेल्पलाइन द्वारा स्थानीय भवन में सोमवार को “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” को लेकर कन्वर्जेंस बैठक आयोजित की गई।जिसमें जिलाधिकारी संयुक्त रुप से मंचासीन अधिकारियों के साथ दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन किया।और कार्यक्रमों की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी राहुल कुमार ने कहा कि बेगूसराय जिले का लिंगानुपात सूबे बिहार में 34वेंं स्थान पर होना चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ तभी सफल होगा जब शिक्षा विभाग,स्वास्थ्य विभाग तथा सभी स्वयंसेवी संस्था के लोग इसे अभियान के रुप में पंचायत स्तर पर लोगों को जागरूक करने का काम करेंगे। जिला पदाधिकारी ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान का शुभारंभ 2 जनवरी 2015 को माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार द्वारा पानीपत (हरियाणा) से किया गया था।घटता लिंगानुपात देश के लिए चिंता का विषय बनता जा रहा है।भारत में प्रति एक हजार पुरुषों पर 945 महिला और बिहार में 918 तथा बेगूसराय में 894 महिला ही है। इस घटते लिंगानुपात से समाज को खतरा है।बच्चियों तथा महिलाओं को शिक्षित कर आत्मनिर्भर बनाने की भी आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए कन्या भ्रूण हत्या को रोकने,बच्चों को जन्म के उपरांत बेहतर देखभाल करने और उन्हें शिक्षित कर आत्मनिर्भर बनाने की आवश्यकता है।उन्होंने कहा कि आंकड़ों के विश्लेषण से स्पष्ट होता है कि ग्रामीण इलाकों से ज्यादा शहरी इलाकों में लिंगानुपात कम है।इस कारण ग्रामीण इलाकों के साथ-साथ शहरी इलाकों में भी काम करने की नितांत आवश्यकता है।इस जागरूकता अभियान में स्वास्थ्य विभाग, आई०सी०डी०एस०शिक्षा विभाग, पंचायती राज विभाग में सरकारी कर्मचारियों,जनप्रतिनिधि व सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ-साथ मीडिया की भी महत्वपूर्ण भूमिका है।महिला हेल्पलाइन बेगूसराय के मणिभूषण मिश्रा द्वारा पावर प्लांट प्रोसेस टेंशन के माध्यम से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के संबंध में तथा जिला कार्य योजना पर विस्तार पूर्वक बताया गया।इस अभियान के तहत बेटियों के जन्म पर जन्म उत्सव मनाने,उन्हें संपूर्ण टीकाकरण से जोड़ने तथा उन्हें शिक्षा के जोड़ने के लिए जिला,प्रखंड व पंचायत स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

जागरूकता कार्यक्रम के तहत झांकी, कार्यशाला, नुक्कड़ नाटक, प्रदर्शनी, व्हेन किशोरी, कलर पेंटिंग, रंगोली, स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में 26 जनवरी 2019 के रंगोली प्रतियोगिता के बच्चियों को जिला पदाधिकारी द्वारा पुरस्कृत किया गया. इसमें राजकृत ओमर बालिका उच्च विद्यालय, बिशनपुर बेगूसराय की बच्चियों को प्रथम, कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय, केशावे की बच्चियों को द्वितीय एवं कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।मंच संचालन जिला प्रोग्राम पदाधिकारी आई०सी०डी०एस० जियाउर रहमान ने किया।नगर आयुक्त अब्दुल हमीद के अलावा डॉ०मारुति नंदन, सी०डी०पी०ओ० राधिका रमन रानी,साँई सोसायटी के सचिव संजीव कुमार,परियोजना प्रबंधक महिला हेल्पलाइन वीणा कुमारी ने भी संबोधित किया।मौके पर डी०डी०सी० कंचन कपूर,ओ०एस०डी० सचितानंद सुमन आदि भी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...