देवगौड़ा का चुनावी राजनीति से दूर रहने का संकेत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 फ़रवरी 2019

देवगौड़ा का चुनावी राजनीति से दूर रहने का संकेत

devgowda-gives-signs-to-away-from-electoral-politics
नयी दिल्ली, 7 फरवरी,  पूर्व प्रधानमंत्री तथा जनता दल एस के नेता एच डी देवगौड़ा नेे संकेत दिया है कि वह अब चुनावी राजनीति से दूर रहेंगे, श्री देवगौड़ा ने गुरुवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा “सदन में यह मेरा शायद अंतिम भाषण है।” श्री देवगौडा एक जून 1996 से 21 अप्रल 1997 तक देश के प्रधानमंत्री रहे। इससे पहले उन्होंने 1994 से 1996 तक कर्नाटक के 14वें मुख्यमंत्री के रूप में काम किया। श्री देवगौडा ने पहली बार 1962 में कर्नाटक विधानसभा का चुनाव लडा और 1996 में देश के 11वें प्रधानमंत्री नियुक्त हुए। पच्चासी वर्षीय श्री देवगौडा कर्नाटक के हसन से लोकसभा सदस्य हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...