अमेरिका में कैद 117 छात्रों से राजनयिक संपर्क स्थापित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 5 फ़रवरी 2019

अमेरिका में कैद 117 छात्रों से राजनयिक संपर्क स्थापित

govt-gets-consular-access-to-117-indian-students-detained-in-us
नयी दिल्ली 05 फरवरी, सरकार ने अमेरिका में एक फर्जी विश्वविद्यालय में प्रवेश लेकर जाने के कारण पुलिस की हिरासत में लिए गये 129 भारतीय छात्रों में से 117 छात्रों से राजनयिक संपर्क साधा है तथा वह उनकी रिहाई को लेकर छात्रों को कानूनी परामर्श मुहैया कराने के अलावा अमेरिका की संघीय एवं प्रांतीय सरकारों से लगातार बातचीत कर रही है। विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को यहां एक वक्तव्य में बताया कि सरकार भारतीय छात्रों की हिरासत को लेकर सक्रियता से काम कर रही है। अमेरिकी सरकार के अनुसार गत 31 जनवरी को 129 विद्यार्थियों को हिरासत में लिया गया है और अभी तक भारतीय राजदूतावास एवं अन्य शहरों में स्थित वाणिज्य दूतावासों के माध्यम से उनमें से 117 से राजनयिक संपर्क साधा जा चुका है जो देश में 36 अलग-अलग जगहों पर कैद हैं। करीब 12 अन्य विद्यार्थियों से भी राजनयिक संपर्क किया जा रहा है। दूतावास ने इस मामले में जानकारी देने के लिए 24 घंटे काम करने वाली हेल्पलाइन शुरू की है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारतीय विद्यार्थियों को कानूनी परामर्श दिलाने और सामुदायिक सहयोग उपलब्ध कराने में मदद दी जा रही है। भारत सरकार संघीय एवं प्रांतीय दोनों स्तर पर अमेरिकी अधिकारियों से सीधे संपर्क में है ताकि भारतीय विद्यार्थियों के साथ मानवीय एवं गरिमा पूर्ण व्यवहार किया जाये तथा उन्हें हिन्दुस्तानी परंपरा के अनुसार भोजन एवं विश्राम की व्यवस्था हो।  वक्तव्य में कहा गया कि सरकार हिरासत में लिये गये भारतीय छात्रों के कल्याण को उच्च प्राथमिकता देती रहेगी और अमेरिकी सरकार एवं अन्य पक्षकारों से बात कर इस मसले के समाधान के लिए लगातार प्रयास करेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...