बेगुसराय : 30वाँ राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का हुआ श्रीगणेश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 5 फ़रवरी 2019

बेगुसराय : 30वाँ राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का हुआ श्रीगणेश

road-safty-week-begusaray
स्थानीय समाहरणालय स्थित कारगिल विजय भवन में 4 फरवरी को 30वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह की शुरुआत की गई।जिसका उद्घाटन जिलाधिकारी राहुल कुमार,डी०डी०सी० कंचन कपूर व महापौर उपेंद्र प्रसाद सिंह ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।समारोह में स्कूली बच्चे,जिला प्रशासन के अधिकारी और आम नागरिकों ने भी इस आयोजन में  हिस्सा लिया।जिलाधिकारी राहुल कुमार ने कहा कि सड़कों पर हादसों को कम करने के लिए कुछ स्थानों को चिन्हित कियागया है,जहाँ पर डिभायडर लगाने की प्रक्रिया अपनायी जा रही है।इसके अलावारक्तदान शिविर,लोगों में जन जागरूकता के लिए अभियान और स्पेशल वाहन जाँच अभियान चलाया जाएगा।उन्होंने कहा कि सुरक्षा सप्ताह का मकसद है कि लोग यातायात नियमों का पालन करें,सड़क हादसों में घायलों की मदद करने के लिये लोग आगे आयें।इसीलिए यह कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।समारोह के दौरान सड़क हादसों से संबंधित जागरूकता को लेकर एक वीडियो भी आयोजित समारोह में दिखाया गया।जिलाधिकारी राहुल कुमार ने हादसे में घायलों को मदद करने वाले कुछ लोगों को सम्मानित भी किया।साथ ही लोगों को यातायात नियम पालन करने की शपथ भी दिलाई।मानवीय भूल के कारण होती है 80 फीसदी दुर्घटना, उन्होंने कहा कि सड़क पर होने वाली 80%  सड़क दुर्घटनायें मानवीय भूल यानी चालकों की लापरवाही से होती हैं।बाइक चालकोंं और उनके पीछे बैठने वाले व्यक्ति को आवश्यक रूप से आई०एस०आई० मार्का हेलमेट पहनना चाहिए।किसी भी प्रकार का वाहन के ड्राइव करते समय मोबाइल फोन का इस्तेमाल भूलकर भी नहीं करना चाहिये,साइड में गाड़ी खड़ी करके बात कर लें या फिर कब अपने गंतव्य पर पहुँचे तो कॉल बेक करके बात कर लें।किन्तु वाहन चलाते वक्त बात नही करनी है।चार चक्के वाहन चलाते समय सेप्टी सीट बेल्ट अवश्य लगायें साथ ही गतिसीमा का भी अनुपालन करें।राहुल कुमार ने कहा कि शराब पीकर कभी भी गाड़ी नहीं चलानी चाहिए।सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति को उठाकर तुरंत पास के अस्पताल में भर्ती कराने में घायलों की मदद करनी चाहिये।इसके लिए उस व्यक्ति के ऊपर किसी भी प्रकार का कोई दोषारोपण नहीं किया जाएगा,बल्कि उसे इस काम के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा,यह निर्देश माननीय सुप्रीम कोर्ट का है।चालकों का होगा निःशुल्क नेत्र जांच।इस बार सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान बेगूसराय के बस स्टैंड में निःशुल्क नेत्र जाँच शिविर का आयोजन किया जाएगा।वाहन चलाने वाले सभी ड्राइवरों के आँखों की जांंच नि:शुल्क में कराया जाएगा और उन्हें मुप्त में आँखों का चश्मा भी दिया जाएगा।जिला परिवहन पदाधिकारी राजीव कुमार श्रीवास्तव द्वारा वाहन चलाने के दौरान सेप्टी सुरक्षा को लेकर विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई।

महापौर उपेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि सतर्कता गई दुर्घटना हुई।जिला परिषद के अध्यक्ष रविंद्र चौधरी ने भी वाहन सुरक्षा की ओर ध्यान दिलाते हुए संबोधित किया।मौके पर जिलाधिकारी ने बेगूसराय शहर के विशनपुर 38नम्बर वार्ड निवासी मुरली मनोहर के पुत्र रविंद्र मनोहर को दुर्घटना में घायल को अस्पताल पहुँचाकर जानबचाने को लेकर प्रशस्ति पत्र और शाँल भेंट कर सम्मानित किया गया।इस अवसर पर चमथा कॉलेज के प्राचार्य सह प्रतिष्ठित संस्थान आर्यभट्ट के निदेशक प्रो० अशोक कुमार सिंह अमर,समाजसेवी दिलीप कुमार सिन्हा,विष्णु देव सिंह,सदर एस० डी०एम० संजीव कुमार चौधरी,तेघड़ा  एस०डी०एम० डॉ० निशांत,मंझौल एस०डी०एम० दुर्गेश कुमार,सदर डी० सी०एल०आर० सह जिलाधिकारी के ओ०एस०डी० सच्चिदानंद सुमन,जिला अवर निबंधन पदाधिकारी राकेश कुमार, ए०एस०पी० मनोज कुमार तिवारी,एम० वी०आई० गौतम कुमार,नगर आयुक्त मो०अब्दुल हमीद,प्रभारी जिला जनसंपर्क पदाधिकारी आशीष आनंद समेत कई अन्य लोग उपस्थित थे।विशेष रूप से मंच संचालन युवा कवि सह अधिवक्ता प्रफुल्ल चन्द्र मिश्रा ने किया।उनके द्वारा पेश की गई कविता "शराबबंदी" माना कि मुश्किलें हैं बहुत, वक्त लगेगा ही सुधार में।ये कमिनी शराब क्या गई, बड़ा चैन है बिहार में......। काफी सराहनीय रही।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...