सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 10 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 फ़रवरी 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 10 फ़रवरी

कराएंगे गणेश मंदिर परिसर का सौन्दर्यकरण  पूर्व शिक्षा मंत्री पहुंचे चिंतामन गणेश मंदिर
कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत 
sehore news
सीहोर। मुख्यमंत्री कमलनाथ से भेंट कर प्राचीन चिंतामन गणेश मंदिर परिसर का सौन्दर्यकरण कार्य धर्मास्य और पर्यटन विभाग से कराया जाएगा उक्त बात रविवार को पूर्व शिक्षा मंत्री मुकेश नायक ने कहीं। रविवार को परिवार सहित प्रसिद्ध चिंतामन गणेश मंदिर पहुंचे श्री नायक ने प्रमुख पूजारी पृथ्वी बल्लब दुबे के सानिध्य में भगवान की विधिवत पूजा अर्चना की। सेकड़ा खेड़ी हाईवे जोड़ पर पहुंचकर कांग्रेस के जिला कार्यकारी अध्यक्ष राहुल यादव के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं के द्वारा अगवानी की गई। श्री नायक पूजा अर्चना के उपरांत कस्बा स्थित श्री यादव के निवास पर पहुंचे। श्रीमति नायक का पूर्व पार्षद रीना यादव और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के द्वारा पुष्प मालाओं से स्वागत किया। इस अवसर पर जिला कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रवि पांडे, युवा नेता एडवोकेट हरिशंकर सिलोदिया, मुकेश यादव, मनीष वर्मा, लोकेन्द्र वर्मा, युशुफ पठान, आजम नेता, श्रवण वास्तावार राजेंद्र परिहार, मनीष मालवीय आदि कांग्रेस कार्यकर्ता बड़ी संख्या में मौजूद थे। 

प्रधानमंत्री मातृत्व योजना अन्तर्गत राधा की जिंदगी में आई रोशनी
विवाह के 16 साल बाद दिया स्वस्थ बच्ची को जन्म
sehore news
"खुशियों का दिन आया है, जो मांगा वह पाया है" यह पंक्तियां उस महिला पर सटीक बैठती है, जिसने अपनी शादी के 16 साल बाद आधुनिक चिकित्सा पद्धति की मदद से एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। संतान के जन्म से मां एवं बच्ची के पूरे परिवार की खुशियों का कोई ठिकाना नहीं था। सीहोर जिले की आष्टा तहसील के अंतर्गत ग्राम खामखेडा जतरा निवासी श्रीमती राधा बाई की शादी को 16 वर्ष बीत चुके थे। शादी के बाद से इन्हें कोई संतान नहीं हुई, 5 वर्ष तक इंतजार करने के बाद उन्होंने भोपाल के एक निजी अस्पताल में अपना इलाज करवाया। इलाज के दौरान उन्होंने लगभग 3 लाख रुपये खर्च कर दिए, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। राधा बाई एवं उनके पति गोपाल पांचाल काफी निराश हो गए थे। एक दिन खामखेड़ा जतरा की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता किरण बैरागी ने राधा बाई को बताया कि आधुनिक चिकित्सा पद्धति द्वारा उन्हें संतान प्राप्त हो सकती है व इलाज में आने वाले खर्च की राशि शासन द्वारा दी जाएगी। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने उन्हें प्रधानमंत्री मातृत्व योजना अंतर्गत संचालित रोशनी क्लीनिक में नि:संतानता की जाँच और उचित इलाज कराने की सलाह दी और वह उन्हें आष्टा के सिविल अस्पताल में लेकर पहुँची, जहां से राधाबाई जिला चिकित्सालय भेजा गया। जिला चिकित्सालय के मातृ शिशु स्वास्थ्य संस्थान  में प्रत्येक माह की 9 तारीख को संचालित रोशनी क्लीनिक के माध्यम से जब राधाबाई की जाँच और उपचार शुरू हुआ तो 1 वर्ष तक इलाज चलने के बाद राधाबाई गर्भवती हुई। इसके बाद आने-जाने, खाने-पीने, दवाई-गोली सहित 40-45 हजार रुपए सरकार की ओर से उपचार पर व्यय हुये। राधा बाई ने 9 फरवरी 2019 को जिला चिकित्सालय के एमसीएच केन्द्र  में स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। उनका प्रसव स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सुजाता परमार द्वारा कराया गया।  अपनी जिंदगी से मायूस राधा और उसके पति गोपाल पांचाल सारी उम्मीदें छोड़ चुके थे कि शायद उन्हें कभी संतान होगी। लेकिन प्रधानमंत्री मातृत्व योजना अंतर्गत रोशनी क्लीनिक के माध्यम से कराए गए इलाज द्वारा उनका जीवन खुशियों से भर गया है और उस समय उनकी खुशियों का कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता है।

स्वाईन फ्लू के लक्षण दिखने पर तुरंत कराएं इलाज

अन्य राज्यों में स्वाईन फ्लू के मामले देखते हुए स्वाईन फ्लू के लिए अलर्ट जारी किया गया है। मौसम में बदलाव के कारण भी इन्फ्लुएन्जा एच-1, एन-1 के फैलने की संभावना रहती है। इसलिए सभी को इससे सुरक्षित रहने की सलाह दी गई है। इसके लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से परामर्श लें।  यदि किसी व्यक्ति को सामान्य सर्दी-जुकाम की तकलीफ हो तब भी उसका उपचार योग्यताधारी चिकित्सक से कराएं। तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ, छाती में दर्द, नाखून नीले पड़ना आदि लक्षण होने पर भी तुरंत चिकित्सक से सलाह लें। साथ ही चिकित्सकों को भी निर्देश दिए हैं कि स्वाईन फ्लू एच-1, एन-1 की आशंका होने पर मरीज का उपचार तत्काल प्रारंभ करके टेमीफ्लू निर्धारित डोज के अनुसार दी जाए। 

कक्षा 5 वीं एवं 8 वीं के स्वाध्यायी हेतु आवेदन पत्र 15 तक

राज्य शिक्षा केन्द्र भोपाल के निर्देशानुसार इस वर्ष कक्षा 5वीं एवं 8वीं के स्वाध्यायी आवेदन पत्र 14 फरवरी तक क्षेत्र के संकुल प्राचार्यो (आहरण संवितरण अधिकारी) के यहां भरे जा सकेंगे। कक्षा 5वीं के लिए 30 रूपये तथा कक्षा 8वीं के लिये 50 रूपये शुल्क निर्धारित की गई है। विलंब शुल्क 100 रूपये के साथ 15 फरवरी तक आवेदन भरे जा सकेंगे। कक्षा 5वीं के लिये आवेदक को 15 फरवरी को 14 वर्ष की आयु पूर्ण करना अनिवार्य है। जबकि कक्षा 8वीं के लिये संबंधित को कक्षा 5 वीं उर्त्तीण होकर दो वर्ष का शैक्षिक अंतराल का होना आवश्यक है।  स्वाध्यायी छात्रों का परीक्षा केन्द्र जिला स्तर पर रहेगा। इच्छुक छात्र-छात्राएं आवेदन भरने हेतु अपने क्षेत्र के संकुल प्राचार्य से संपर्क करें। स्वाध्यायी छात्रों की परीक्षाएं नियमित परीक्षार्थियों के परीक्षा कार्यक्रम अनुसार 28 फरवरी से प्रात: 8 बजे से प्रारंभ होगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...