सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 11 फ़रवरी 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 फ़रवरी

नवरात्रि के पावन पर्व पर नव शतचंडी महायज्ञ का आयोजन

sehore news
जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम बमुलिया में गुप्त नवरात्रि के पावन पर्व पर नव शतचंडी महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है जानकारी के अनुसार ग्राम बमुलिया में पंडित बालकृष्ण तिवारी के सानिध्य में माता बिजासन मां के दरबार में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ महा यज्ञ में आहुतियां छोड़ी जा रही हैग्राम वासियों ने बताया कि  सोमवती अमावस्या के साथ प्रारंभ हुए इस महायज्ञ का समापन  13 फरवरी को  किया जाएगा इस दौरान  प्रसादी वितरण  एवं  कन्या भोजन का आयोजन भी किया जाएगा

समय सीमा बैठक में बिना सूचना के अनुपस्थित होने पर एक
दिवस का अर्जित अवकाश काटने के निर्देश कलेक्टर ने दिए
sehore news
सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा की अध्यक्षता में समय सीमा बैठक आयोजित हुई। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में महिला बाल विकास अधिकारी एवं आईटीआई के अधिकारी बिना सूचना के अनुपस्थित रहे। कलेक्टर ने तत्काल दोनों का एक दिवस का अर्जित अवकाश काटने के निर्देश दिए हैं।  बैठक में कलेक्टर श्री मिश्रा ने समस्त विभाग प्रमुखों को निर्देशित किया कि लोकसभा निर्वाचन 2019 संबंधी कार्यों को समय सीमा में गंभीरता से पूर्ण करें। कलेक्टर ने आचार संहिता लगने के साथ ही संपत्ति विरूपण निवारण अधिनियम, कोलाहल नियंत्रण अधिनियम आदि के तहत कार्यवाही प्रभावी रूप से करने के निर्देश दिए। इसके तहत शहर में सार्वजनिक स्थलों, भवनों आदि पर लगे जनप्रतिनिधियों के पोस्टर, बैनर हटाने की कार्यवाही की जाएगी। इसी प्रकार कलेक्टर ने निर्देशित किया कि आचार संहिता लगते ही सभी विभाग अपने कार्यालयों से जनप्रतिनिधियों के फोटो युक्त पोस्टर या अन्य सामाग्री हटाना सुनिश्चत करेंगे। पशुपालन विभाग सभी जनपदों के ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित होने वाली गौशालाओं के लिए जमीन चिंहित करके प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि गौशाला के लिए आधा एकड़ तथा चारागाहों के लिए 5 हेक्टेयर जमीन चिंहित की जानी है। जिले की गोशालाओं की क्षमता वृद्धि भी की जाएगी। प्रत्येक ब्लाक में तीन नई गोशालाएं बनाई जाएंगी। कलेक्टर ने सभी संबंधितों को निर्देश दिए कि वर्तमान में क्रियाशील गोशालाओं में शहर के आवारा पशुओं को भेजना सुनिश्चत करें। कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया कि बोर्ड परिक्षाओं की तैयारी हेतु प्रशिक्षण, परीक्षा के प्रवेश पत्रों का वितरण आदि की तैयारियां जल्दी पूर्ण करें। पीएचई विभाग को निर्देश दिए कि नलजल योजना के तहत बंद पड़े कनेक्शन जो मोटर के  खराब होने या बिजली न होने से बंद है उन्हें सात दिन के भीतर ठीक करवाएं। जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत किसानों से आवेदन भरवाने तथा पोर्टल पर ऑन लाइन एंट्री की भी समीक्षा की गई।

शांति समिति की बैठक का आयोजन आज

कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा के निर्देशानुसार आगामी त्यौराहों को लेकर शांति समिति की बैठक का आयोजन आज 12 फरवरी को 3 बजे किया जाएगा। बैठक पुलिस अधीक्षक कार्यालय के नवनिर्मित कंट्रोल रूम में स्थित सभाकक्ष में आयोजित होगी। बैठक में 19 फरवरी संत रविदास जयंती/छत्रपति शिवाजी जयंती, 4 मार्च को महाशिवरात्रि, 20 मार्च को होलिका दहन, 21 मार्च को होली उत्सव, 25 मार्च को रंगपंचमी, 6 अप्रैल को गुड़ी पड़वा चैत्र नवरात्र प्रारंभ, चैतीचांद, 13 अप्रैल को श्रीराम नवमी, 14 अप्रैल को डॉ अंबेडकर जयंती/बैशाखी, 15 अप्रैल को शब-ए-बरात, 17 अप्रैल को महावीर जयंती, 19 अप्रैल को हनुमान जयंती, गुड फ्राइडे, 7 मई को परशुराम जयंती, 18 मई को बुद्ध जयंतीख, 31 मई को जमात-उल-विदा, 5 जून को ईदुल फितर, 17 जून को कबीर जयंती आदि अन्य धार्मिक त्यौहोरों को शान्ति पूर्वक मनाए जाने हेतु चर्चा की जाएगी।

89 अस्थाई शासकीय सेवकों को स्थायी करने के आदेश जारी   

राजस्व स्थापना के शासकीय सेवकों की वर्ष 2001 से लंबित स्थायीकरण किये जाने के संबंध कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा के निर्देशानुसार अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी की अध्यक्षता में गत दिवस बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में स्टेनोग्राफर, सहायक ग्रेड-2, सहायक ग्रेड-3 एवं भृत्यों के स्थाईकरण किए जाने की समीक्षा की गई। अपर कलेक्टर श्री चतुर्वेदी द्वारा स्थाईकरण किए जाने वाले शासकीय सेवकों में 01 स्टेनोग्राफर, सहायक ग्रेड-2 में 23 एवं सहायक ग्रेड-3 में 35 तथा भृत्य में 30 शासकीय सेवक कुल 89 अस्थाई शासकीय सेवको को स्थाई किए जाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

लोकसभा निर्वाचन 2019 के लिए कॉल सेंटर प्रारंभ
टोल फ्री नंबर 1950 पर कर सकेंगे शिकायत एवं जानकारी प्राप्त
भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार लोकसभा निर्वाचन 2019 के लिए जिले में कॉल सेंटर प्रारंभ कर दिया गया है जिसका टोल फ्री नंबर 1950 है। इस टोल फ्री नंबर के माध्यम से  पात्र मतदाता यह पता लगा सकेंगे कि उनका नाम जिले के किस मतदान केन्द्र में दर्ज हैं। मतदाता इस टोल फ्री नंबर पर फोन कर मतदाता सूची के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि 28 फरवरी तक सभी नवीन मतदाताओं के मतदाता पहचान पत्रों का वितरण किया जाना है, जिन मतदाताओं को पहचान पत्र 28 फरवरी तक प्राप्त न हो पाएं वे 1950 पर फोन करके शिकायत दर्ज करा सकते हैं।   

गलत विद्युत देयकों के निराकरण के लिये वितरण केन्द्र स्तर पर समिति बनेगी

राज्य शासन के वचन-पत्र के परिपालन में प्रत्येक जिले में विद्युत वितरण कम्पनी के वितरण केन्द्र स्तर पर गलत विद्युत देयकों के निराकरण के लिये समिति का गठन किया जा रहा है। समिति में विद्युत वितरण कम्पनी के प्रबंधक संयोजक सदस्य होंगे। समिति में प्रभारी मंत्री द्वारा 6 अशासकीय सदस्य नामांकित किये जायेंगे। समिति में एक-एक जनपद पंचायत के सदस्य, नगरीय क्षेत्र में पार्षद, कृषि/व्यावसायिक उपभोक्ता, घरेलू उपभोक्ता और दो महिला सदस्य होंगी। समिति की बैठक प्रत्येक माह के दूसरे मंगलवार को दोपहर 12 बजे वितरण केन्द्र/जोन पर होगी। इस दिन अवकाश होने पर अगले कार्य-दिवस में बैठक होगी। बैठक का कोरम कम से कम 3 सदस्य का होगा।    गलत विद्युत देयकों के निराकरण संबंधी आवेदन मिलने पर विद्युत वितरण कम्पनी के प्रबंधक के माध्यम से समिति के समक्ष रखा जायेगा। समिति की अनुशंसा के 3 दिन के भीतर सदस्य संयोजक द्वारा वितरण कम्पनी के उप महाप्रबंधक/कार्यपालन यंत्री को भेज दिया जायेगा। आवश्यकता अनुसार बिल सुधार की कार्यवाही 7 दिन में कर समिति को सूचना दी जायेगी। प्राधिकृत अधिकारी द्वारा की गयी कार्यवाही से समिति के संतुष्ट नहीं होने पर मामला अधीक्षण अभियंता/महाप्रबंधक को भेजा जायेगा, जिनका निर्णय अंतिम होगा।

बेरोजगार युवा उद्योग स्थापना के लिए 10 लाख से 2 करोड़ तक ले सकते है ऋण 

मध्यप्रदेश शासन द्वारा बेरोजगार युवाओं को स्वयं के नवीन उद्यमों की स्थापना हेतु 10 लाख से 2 करोड़ रूपये तक की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना क्रियान्वित की जा रही है। जिसमें आवेदक को 10वीं कक्षा उत्तीर्ण एवं 18 से 40 वर्ष आयु वर्ग का होना आवश्यक है। इस योजना में सामान्य वर्ग के आवेदकों को पूंजीगत लागत का 15 प्रतिशत अधिकतम रूपये 12 लाख, बीपीएल हेतु 20 प्रतिशत अधिकतम रूपये 18 लाख तथा पूंजीगत लागत पर 5 प्रतिशत प्रतिवर्ष व महिला उद्यमियों हेतु 6 प्रतिशत ब्याज अनुदान, अधिकतम 7 वर्षों तक रूपये 5 लाख प्रतिवर्ष का भी प्रावधान है।  शासन द्वारा विभाग के माध्यम से कृषक पुत्र/ पुत्रियों जिनके माता-पिता या स्वयं के पास कृषि भूमि हो तथा वह आयकरदाता न हो, इनके लिए भी मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इसमें पात्रताएं मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना के समान है। 

रबी उपार्जन हेतु 23 फरवरी तक करा सकते हैं पंजीयन

समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन वर्ष 2019-20 हेतु कृषक अपना पंजीयन 23 फरवरी तक करा सकते है। राज्य सरकार द्वारा गेहूं के लिए समर्थन मूल्य 1840 रूपए प्रति क्विंटल घोषित किया गया है। रबी उपार्जन हेतु कृषक समर्थन मूल्य पर विक्रय हेतु नजदीक के पंजीयन केन्द्र पर प्रातः 11 बजे से सायं पांच बजे तक पहुंचकर पंजीयन करा सकते है। जिले के सभी कृषक बंधुओं से आग्रह किया गया है कि समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन हेतु अपना पंजीयन जरूर कराएं ताकि फसल का उचित दाम पा सकें। समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन के लिए कृषकों को पंजीयन कराने हेतु पाँच दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे उनमें समग्र सदस्य आईडी, आधार कार्ड, ऋण पुस्तिका, बैंक खाता पासबुक, मोबाइल नम्बर इत्यादि शामिल है।

जय किसान ऋण माफी योजना से कृषक नारायण सिंह के चहरे से हटी चिंता की लकीरें, दो लाख रुपये का ऋण हुआ माफ

sehore news
 सीहोर के ग्राम फूल मोगरा निवासी नारायण सिंह वर्मा इन दिनों अपने कर्ज माफी से बहुत खुश है और यह खुशी क्यों न हो उनका "जय किसान ऋण माफी योजना" से 10 हजार नहीं 50 हजार नहीं पूरे 2 लाख का ऋण माफ जो हुआ है। नारायण सिंह नई सरकार के द्वारा किसानों से किए वादे को पूरा करने से बहुत खुश है। उनका कहना है कि किसानों के हितों का सरकार को पूरा ध्यान है। इसीलिए तो सरकार ने गठन के तुरंत बाद सबसे पहले निर्णय कर्ज माफी का लिया है। नारायण सिंह वर्मा ने 4 लाख रुपये ऋण सहकारिता बैंक से लिया था. उन्होंने ये ऋण लेकर अपने खेत में रबी फसल बोई थी फसल की पैदावार और ऋण चुकाने की चिंता हमेशा लगी रहती थी। सरकार की ऋण देने की कई योजनाएं भी है जो बड़ी मदद करती हैं।  नारायण सिंह का कहना है कि किसान अपना तन मन लगाकर खेती करता है लेकिन जब धन की बात आती है तो बड़ी चिंता हो जाती है। किंतु समुचित पैदावार न होने से फसल का नुकसान तो होता ही है बल्कि कर्ज की चिंता भी बढ़ जाती है। नारायण सिंह बताते हैं कि हर साल की तरह मैं भी फसल बोने के साथ ही कर्ज चुकाने की चिंता से परेशान हो जाता था, पर जब मुख्यमंत्री ने किसानों के ऋण माफी की घोषणा की तो बड़ी खुशी हुई साथ ही जीवन में निश्चिंता आई। नारायण सिंह वर्मा के चेहरे पर अब कर्ज की चिंता नहीं है बल्कि उनके चेहरे पर अपने कर्ज माफी की खुशी साफ झलक रही है। वे मुख्यमंत्री के प्रति कृतज्ञता भरे भाव से धन्यवाद प्रेषित करते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...