मोदी ने चुनाव आयोग की गरिमा धूमिल की : कांग्रेस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 18 मई 2019

मोदी ने चुनाव आयोग की गरिमा धूमिल की : कांग्रेस

modi-destroy-ec-respect-congress
नयी दिल्ली, 18 मई, कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सभी संवैधानिक संस्थाओं की गरिमा खत्म करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि चुनाव आयोग के सदस्य अशोक लवासा का खुलासा इस बात का प्रमाण है कि आयोग भी श्री मोदी के हाथों की कठपुतली है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने शनिवार को यहां जारी एक बयान में कहा कि आयोग की बैठकों में श्री लवासा के शामिल नहीं होने का कारण उजागर होने से इस प्रतिष्ठित संस्था की गरिमा धूमिल हुई है। उन्होंने इसे आयोग के इतिहास का काला दिवस और लोकतंत्र की हत्या करार देते हुए कहा कि इस खुलासे से साफ हो गया है कि चुनाव आयोग श्री मोदी के हाथों की कठपुतली है। श्री सुरजेवाला ने श्री लवासा के खुलासे से जुड़ी एक खबर को ट्वीट किया है जिसमें कहा गया है कि श्री लवासा ने आयोग की बैठकों में शामिल होने से इन्कार करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा को चार मई को पत्र लिखकर शिकायत की थी कि आयोग की बैठकों में अल्पमत के फैसलों को रिकाॅर्ड नहीं किया जाता है और ऐसी बैठकों में शामिल नहीं होने के लिए उन्हें बाध्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बैठकों में अपनी बात नहीं सुने जाने से नाराज श्री लावासा ने यह भी कहा है कि यदि आयोग की बैठक में नियमों की अनदेखी कर अल्पमत के फैसले को रिकाॅर्ड नहीं किया जाता है तो आयोग की निष्पक्षता का मतलब समाप्त हो जाता है। उन्होंने आरोप लगाया कि चुनाव आयोग की बैठकों में अल्पमत के फैसले को रिकाॅर्ड न करने का दबाव मोदी सरकार का रहा है, क्योंकि इन बैठकों में श्री मोदी को आदर्श चुनाव आचार संहिता का दोषी होने का अल्पमत का फैसला दिया गया था।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...