मोदी ने किये बाबा केदारनाथ के दर्शन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 18 मई 2019

मोदी ने किये बाबा केदारनाथ के दर्शन

modi-visit-kedarnath
केदारनाथ, 18 मई, लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का प्रचार शुक्रवार शाम छह बजे समाप्त होने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार सुबह उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित बाबा केदारनाथ मंदिर पहुंचे और वहां पूजा-अर्चना की। श्री मोदी सुबह नौ बजकर 37 मिनट पर सेना के हेलीकॉप्‍टर से केदारनाथ धाम पहुंचे। गढ़वाली वेशभूषा धारण किये और कमर में लाल अंगौछा बांधे, सिर पर हिमाचली टोपी पहने और हाथ में छड़ी लिये श्री मोदी ने हेलीपैड पर बनाये गए सेफ हाउस में तीर्थ पुरोहितों से बातचीत की। इसके बाद वह मंदिर के गर्भगृह गये। वहां उन्होंने करीब 17 मिनट तक बाबा केदार की पूजा-अर्चना की। पुजारियों ने श्री मोदी को अंग वस्त्र भेंट किया जबकि श्री मोदी ने मंदिर में सवा क्विंटल का पीतल का बना घंटा अर्पित किया। उन्होंने पूजा-अर्चना के बाद मंदिर की परिक्रमा की। इसके बाद वहां मौजूद तीर्थयात्रियों और स्‍थानीय लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन स्‍वीकार किया। परिक्रमा के बाद उन्हें मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने शाल ओढ़ाया और स्‍मृति चिह्न भी भेंट किया। प्रधानमंत्री ने केदारनाथ मंदिर के समीप चल रहे पुननिर्माण कार्यों से संबंधित नक्‍शों का अवलोकन भी किया। इसके बाद प्रधानमंत्री मन्दिर से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर स्थित एक गुफा में ध्यान करने के लिये पैदल ही गये। यह गुफा पिछले वर्ष ही करीब साढ़े आठ लाख रुपये लागत से तैयार की गई है। इससे पहले सुबह श्री मोदी विशेष विमान से जौलीग्रांट हवाई अड्डे पहुंचे जहां राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने उनकी अगवानी की। वहां से प्रधानमंत्री त्रिवेंद्र रावत के साथ मिग 17 हेलीकाप्टर से केदारनाथ गये। श्री मोदी केदारनाथ में ही रात्रि विश्राम करेंगे। वह रविवार सुबह बदरीनाथ धाम के दर्शन के बाद दिल्ली रवाना हो जायेंगे। गौरतलब है कि श्री मोदी का उत्तराखंड से खास लगाव है और केदारनाथ के प्रति उनकी अगाध आस्था है। उन्होंने केदारनाथ के नजदीक ही गरुड़चट्टी में साधना की थी। प्रधानमंत्री बनने के बाद वह केदारनाथ आते रहे हैं। केदारपुरी का पुनर्निर्माण उनके ड्रीम प्रोजक्ट में शामिल है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...