पूर्णिया : शहर को स्मार्ट सिटी बनाने की दिशा में पहल शुरू - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 19 मई 2019

पूर्णिया : शहर को स्मार्ट सिटी बनाने की दिशा में पहल शुरू

 31 करोड़ की लागत से हो रहा शहर का विकास, 23 मई के बाद मिलेगी गति 
project-starts-purnia-smart-city
कुमार गौरव । पूर्णिया : नगर निगम प्रशासन शहर को स्मार्ट सिटी की सूची में शामिल करने की जद्दोजहद में लगा है। मेयर सविता देवी व नगर आयुक्त विजय कुमार सिंह ने नगर निगम के अधिकारियों और कर्मियों को अभी से ही जुट जाने का आदेश दिया है। खासकर शहर को स्मार्ट सिटी की रेस में शामिल करने के लिए कवायद भी तेज कर दी गई है। अब 23 मई के बीतने का इंतजार है। जब पूर्व से पेंडिंग पड़े विकास कार्यों को न सिर्फ गति दी जाएगी बल्कि उन्हें अमली जामा भी पहनाया जाएगा। बता दें कि शहर में नई सरकार बनने के बाद अब तक 31 करोड़ रूपए के विकास कार्यों को हरी झंडी मिल चुकी है। जिसमें सड़क व नाले का निर्माण कार्य भी शामिल है। हालांकि अभी भी शहर की फिजाओं में बड़ा सवाल यह गूंज रहा है कि शहरी क्षेत्र में पेयजल सप्लाई, कचरा प्रबंधन, अतिक्रमण, ऑटो स्टैंड व वेंडिंग जोन के अलावा जलजमाव की समस्या से छुटकारा पाए बगैर स्मार्ट सिटी की श्रेणी में कैसे अपने शहर का नाम दर्ज कराया जा सकता है। शहर में पेयजल की व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए बिहार राज्य जल पर्षद के द्वारा पिछले करीब आठ माह से कवायद की जा रही है लेकिन अबतक कार्य पूरा नहीं हो सका है। बता दें कि इस योजना को दो चरणों में पूरा करने के लिए कुल 110 करोड़ व 83 करोड़ रूपए आवंटित किए गए हैं। जिसमें शहरी क्षेत्र के करीब 3400 घरों में नल जल पहुंचाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। इसके लिए बाकायदा बिहार राज्य जल पर्षद पटना के कर्मियों के द्वारा बाकायदा एक माह तक सर्वे का काम भी पूरा कर लिया गया और शहर के 11 विभिन्न जगहों पर जलमिनार समेत पाइपलाइन बिछाने के कार्य की शुरूआत तक कर दी गई। लेकिन आलम यह है कि अब तक अपेक्षित कार्य नहीं हो सका है। 

...23 मई के बाद नाला व सड़क निर्माण में आएगी तेजी : 
शहर में गंदगी व जलजमाव की समस्या को दूर करने के लिए मेयर के द्वारा कदम उठाया जा रहा है। गत दिनों रजनी चौक से रूई गोलाधार तक सड़क के दोनों किनारे नाला निर्माण काे लेकर मेयर द्वारा एस्टीमेट तैयार करने का निर्देश कनीय अभियंता को दिया गया है। वहीं कयास लगाए जा रहे हैं कि 23 मई के बाद शहर के सभी 46 वार्डों में विकास योजनाओं को भी गति मिलेगी। बता दें कि बारिश की बूंदे एकाध माह के बाद तेज हो जाएगी और इसके बाद शहर की स्थिति जलजमाव से नारकीय हो जाती है। लेकिन इस संबंध में मेयर का कहना है कि बरसात से पूर्व सभी मुख्य नालों समेत गली मोहल्ले की नालियों की सफाई कराई जा रही है और इस दिशा में बाकायदा सख्त दिशा निर्देश भी दिया गया है। वहीं ठोस कचरा निस्तारण के लिए शहर के छह जगहों पर बायो कम्पोस्टिंग प्लांट पर भी सहमति बनी है। जिसके लिए जगह चिन्हित किए गए हैं। जिस पर कार्य होना बाकी है। 

...11 जगहों पर बनेंगे वेंडिंग जोन : 
शहर में बेतरतीब दुकानों का फैलाव और मकानों के निर्माण से जहां यातायात व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है वहीं दूसरी ओर वेंडिंग जोन को डेवलप किए जाने के बाद इस समस्या से काफी राहत मिलेगी। निगम के द्वारा 11 जगहों पर वेंडिंग जोन को डेवलप किया जाएगा। जिसमें पहले चरण में ट्रायल तौर पर पॉलीटेक्निक चौक, थाना चौक व गिरजा चौक पर वेंडिंग जोन को डेवलप किया जाएगा। वहीं करीब 12 जगहों पर ऑटो स्टैंड बनाने की भी योजना है। 

...31 करोड़ की राशि से विभिन्न योजनाओं का हो रहा है क्रियान्वयन : 
अपना शहर भी स्मार्ट सिटी कहलाए सबकी इच्छा होती है। इसके लिए तेजी से काम करने की जरूरत है। सभी लोगों को निगम के कार्यांे में सहयोग करने की जरूरत है। शहर में नई सरकार बनने के बाद काफी परिवर्तन हुआ है। खासकर एलईडी लाइट, डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन, शौचालय निर्माण, सड़क व नाला निर्माण को लेकर कई योजना तैयार की गई है। फिलहाल 31 करोड़ की विभिन्न योजनाओं को शहर के विकास के लिए क्रियान्वित किया जा रहा है। बाकी जितने पेंडिंग कार्य हैं उनका क्रियान्वयन 23 मई के बाद शुरू किया जाएगा। : सविता देवी, मेयर, नगर निगम पूर्णिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...