संगठन और राज्य सरकारों में बदलाव के लिए अधिकृत हैं राहुल : गहलोत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 28 मई 2019

संगठन और राज्य सरकारों में बदलाव के लिए अधिकृत हैं राहुल : गहलोत

rahul-authority-to-change-leader-in-party-gahlot
नयी दिल्ली, 27 मई, लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का सफाया होने के बाद से आलोचनाओं का सामना कर रहे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कहा कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को पार्टी की कार्य समिति ने अधिकृत किया है कि पार्टी के हित में वह जरूरी बदलाव कर सकते हैं। गहलोत ने कहा कि किसी भी नेता को किसी पद के पीछे नहीं पड़े रहना चाहिए और प्राथमिकता यह होनी चाहिए कि राहुल गांधी के पीछे खड़े होकर पार्टी में नयी जान फूंकी जाए। सीडब्ल्यूसी की बैठक में राहुल गांधी की नाराजगी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उनकी बात को संदर्भ से अलग करके पेश किया गया, हालांकि मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कांग्रेय अध्यक्ष के पास यह पूरा अधिकार है कि पार्टी के हित में अपनी बात रखें। यह पूछे जाने पर कि क्या वह राजस्थान में हार की जिम्मेदारी के लिए इस्तीफा देंगे तो गहलोत ने कोई सीधा जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष के पास पूरा अधिकार है कि वह संगठन या सरकार में जो चाहें वो बदलाव कर सकते हैं। कार्य समिति ने यह फैसला उन पर छोड़ दिया है।’’  गहलोत ने कहा, ‘‘सीडब्ल्यूसी ने राहुल गांधी जी को अधिकृत किया है कि वह पार्टी के हित में फैसले करें, चाहे वह संगठन में सभी स्तर पर बदलाव हो या फिर पार्टी शासित राज्यों की सरकारों में बदलाव हो। उन्हें अधिकृत किया गया है कि वह पार्टी और देश के हित में फैसले करें। मैं आशा करता हूं कि फैसला जल्द किया जाएगा।’’  मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने लोकसभा चुनाव में पूरे राजस्थान में 125 से अधिक सभाएं कीं। इनमें से तीन से पांच सभाएं हर लोकसभा क्षेत्र में की।’’  गहलोत ने कहा कि यह चुनावी हार कल्पना से परे है क्योंकि देश के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा, ‘‘यही वजह है कि लोगों को ईवीएम पर संदेह होता है। लोकतंत्र में इस तरह की हार कभी नहीं हुई।’’  राजस्थान के मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘सिर्फ राहुल गांधी ही भाजपा से लड़ सकते हैं और आखिरकार उनकी जीत होगी।’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...