साध्वी प्रज्ञा को निकालकर ‘राजधर्म’ निभाए भाजपा : सत्यार्थी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 18 मई 2019

साध्वी प्रज्ञा को निकालकर ‘राजधर्म’ निभाए भाजपा : सत्यार्थी

satyarthi-said-bjp-should-fire-sadhvi
नयी दिल्ली, 18 मई, नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी ने भारतीय जनता पार्टी की नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि गोडसे ने तो सिर्फ बापू के शरीर की हत्या की थी लेकिन प्रज्ञा ठाकुर जैसे लोगों ने उनकी आत्मा के साथ ही ‘भारत की आत्मा’ की भी हत्या कर दी है। श्री सत्यार्थी ने शनिवार को ट्वीट किया, “गोडसे ने गांधी के शरीर की हत्या की थी, परंतु प्रज्ञा जैसे लोग उनकी आत्मा की हत्या के साथ, अहिंसा, शांति, सहिष्णुता और भारत की आत्मा की हत्या कर रहे हैं। गांधी हर सत्ता और राजनीति से ऊपर हैं। भाजपा नेतृत्व छोटे से फ़ायदे का मोह छोड़ कर उन्हें तत्काल पार्टी से निकाल कर राजधर्म निभाए।” मालेगांव बम धमाके में जेल की सजा काट चुकी साध्वी प्रज्ञा भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार हैं। हाल ही में उन्होंने गोडसे को देशभक्त कहा था जिसको लेकर पूरे देश में जबरदस्त प्रतिक्रिया हुई और बाद में उन्हें अपने बयान पर खेद व्यक्त करते हुए इसे वापस लेना पड़ा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...