बिहार : पटना महाधर्मप्रांत के पुरोहितों में सबसे उम्रदराज पुरोहित का निधन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 मई 2019

बिहार : पटना महाधर्मप्रांत के पुरोहितों में सबसे उम्रदराज पुरोहित का निधन

याजक एवं लोकधर्मियों में शोक का माहौल व्याप्त
senior-father-patna-passes-away
पटना,24 मई। सेवा केन्द्र के परिसर में है प्रेरणा भवन। यहां पर पटना महाधर्मप्रांत के पुरोहितों के साथ वयोवृद्ध पुरोहित भी रहे हैं। उन पुरोहितों में सबसे अधिक उम्रदराज पुरोहित हैं अलोसियुस सीकेरा। आज उनका निधन हो गया। वे 91 साल के थे। मंगलौर के निवासी फादर का जन्म 10 दिसम्बर,1928 को हुआ था।उनका पुरोहिताभिषेक 3 दिसम्बर,1959 को हुआ। एक पुरोहित बनकर शानदार 60 साल तक कार्य किए। विभिन्न जगहों के पल्ली पुरोहित और निदेशक के पद पर कार्य किए थे। कुछ अस्वस्थ रहने के कारण  कुछ दिन पहले कुर्जी होली फैमिली हॉस्पिटल में भर्ती कराए गए थे। पटना महाधर्मप्रांत के प्रवक्ता फादर अमल राज ने कहा कि आज फादर बारह बजे दिन में खाना खाकर सोने चले गए थे। प्रत्येक दिन भोजन करने के बाद विश्राम करने चले जाते थे। विश्राम करने के बाद चाय समय में उठकर आ जाते थे। उन्होंने कहा कि दिनचर्या के अनुसार आज भी फादर खाने के बाद सोने गए थे। मगर फादर तीन बजे वाली चाय पर नहीं आए। कुछ संदेह हुआ तो फादर के कमरे में अन्य लोग गए। गंभीर स्थिति को देख अन्य पुरोहित भी गए। पल्स और ह्दयगति बंद हो गया था। उस समय साढ़े तीन बज रहा। तब भी फादर को उठाकर कुर्जी होली फैमिली हॉस्पिटल लिया गया। वहां पर क्लिनिकल डेथ घोषित कर दिए। उनका पार्थिव शरीर को हॉस्पिटल में रखा गया है। उन्होंने कहा कि फादर के रिश्तेदारों के आगमन के बाद आर्चबिशप विलियम डिसूजा अंतिम संस्कार का समय निर्धारित करेंगे। मंगलौर के रहने वाले हैं। कुर्जी पल्ली में स्थित स्पेशल कब्रिस्तान में दफन किया जाएगा। सर्वत्र शोक व्याप्त है। सिसिल साह, राजन क्लेमेंट साह, रवि रौशन, नीतू सिंह, ज्योति साह आदि ने फादर के निधन पर श्रंद्धाजलि अर्पित की हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...