पश्चिम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देंगे : ममता बनर्जी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 11 जून 2019

पश्चिम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देंगे : ममता बनर्जी

bangal-will-not-be-gujrat-mamta-banerjee
कोलकाता, 10 जून, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि शनिवार को हुई हिंसा में दो लोग मारे गये थे और भाजपा का पांच लोगों के मारे जाने का दावा झूठा है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा हिंसा भड़काने की और फर्जी खबरें फैलाकर उनकी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है तथा तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देगी। बनर्जी ने केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा पश्चिम बंगाल को भेजे परामर्श को ‘‘पर्दे के पीछे से खेला जा रहा खेल’’ करार दिया और कहा कि राज्य के मुख्य सचिव इसका जवाब दे चुके हैं। मुख्यमंत्री ने राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, ‘‘वे (भाजपा) सोशल मीडिया के माध्यम से फर्जी खबरें फैलाने के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रहे हैं। केंद्र सरकार और (भाजपा) पार्टी के कार्यकर्ता राज्य में हिंसा भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। हम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देंगे।’’  मुख्यमंत्री ने मीडिया पर भी भाजपा के इशारे पर गलत जानकारी प्रसारित करके राज्य का अपमान करने का आरोप लगाया। उन्होंने राज्य विधानसभा चुनाव 2021 से पहले होने की अटकलों को भी खारिज कर दिया। बनर्जी ने आरोप लगाया कि लोकसभा चुनाव जीतने के बाद कुछ केंद्रीय नेताओं के इशारे पर भाजपा एक साजिश के तहत पश्चिम बंगाल के दार्जीलिंग और जंगलमहल इलाकों में हिंसा फैलाने की कोशिश कर रही है।  उन्होंने कहा कि भाजपा को ‘आग से नहीं खेलना चाहिए।’  तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘यह सुनियोजित खेल है। उनकी योजना मेरी आवाज दबाने की है क्योंकि उन्हें पता है कि देश में उनके खिलाफ आवाज उठाने वाली एक मात्र शख्सियत ममता बनर्जी है। हमारी सरकार को गिराने की यह साजिश सफल नहीं होगी।’’  उन्होंने कहा, ‘‘हम उनकी साजिश का शिकार नहीं होंगे और लोगों से शांत रहने को कहेंगे।’’ लोकसभा चुनाव के बाद हिंसा की घटनाएं भी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच टकराव का विषय बन गयी हैं।  उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली में शनिवार रात भड़की हिंसा के बाद तीन लोगों के शव बशीरहाट अस्पताल लाये गये थे। भाजपा नेताओं ने दावा किया था कि इनमें से दो लोग उनके समर्थक थे वहीं तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि एक उनका सक्रिय कार्यकर्ता था। दोनों दलों ने दावा किया कि उनके कई समर्थक हिंसा के बाद से लापता हैं। पुलिस और उत्तर 24 परगना जिले के अधिकारियों ने शनिवार के बाद हुए संघर्षों के बारे में कुछ नहीं बोला और मृतकों की संख्या पर कोई बयान नहीं दिया। हालांकि बनर्जी ने कहा कि मृतकों की संख्या दो है। उन्होंने इसका ब्योरा नहीं दिया और भाजपा पर राज्य में हिंसा फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने राज्य सचिवालय में कहा, ‘‘दो लोगों की मौत हो चुकी है, लेकिन वे (भाजपा) दावा कर रहे हैं कि पांच लोग मारे गये हैं। वे झूठ बोल रहे हैं। मैंने एक भाजपा नेता को एक समाचार चैनल में बोलते सुना कि तीन लोग लापता हैं। अगर यह सच है तो आप उनका नाम पता क्यों नहीं बताते।’’  उन्होंने राज्य में जल्द विधानसभा चुनाव को लेकर मीडिया में चल रही अटकलों की आलोचना करते हुए उन्हें खारिज कर दिया। लोकसभा चुनाव में भाजपा के शानदार प्रदर्शन के बाद राज्य में जल्द विधानसभा चुनाव की संभावना को भी मुख्यमंत्री ने खारिज कर दिया।  उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव दो साल बाद होंगे। लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनावों में कोई संबंध नहीं है। आप गलत खबरें चला रहे हैं।’’  उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘आप वही लिख रहे हो जो भाजपा नेता आपसे कह रहे हैं। आपने यह क्यों लिखा कि चार या पांच लोग मारे गये हैं? आप भाजपा नेताओं के दावों की जांच नहीं कर रहे। मुझे पता है कि भाजपा आपको विज्ञापन देती है। मुझे सब पता है।’’  मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘चुनाव के बाद पश्चिम बंगाल में छिटपुट घटनाएं घटीं। वो भी भाजपा की वजह से। उन्होंने खुद को भगवान समझना शुरू कर दिया है। लेकिन याद रखिए, हमने घटनाओं को नियंत्रित कर लिया है।’’  बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में आज के हालात की तुलना 2009 में माकपा की अगुवाई वाली वाम मोर्चा सरकार के समय से किये जाने पर कहा, ‘‘अब और तब के हालात में बहुत अंतर है।’’

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...