बिहार : जातिवाद और महिला उत्पीड़न पर बनी बिहारी फिल्म छेका - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 25 जून 2019

बिहार : जातिवाद और महिला उत्पीड़न पर बनी बिहारी फिल्म छेका

bhojpuri-film-chheka
अरुण कुमार (आर्यावर्त) भोजपुरी सिनेमा को देखने वाले करोड़ों दर्शक अब भोजपुरी सिनेमा से दूर होते जा रहे हैं।इन दिनों भोजपुरी फ़िल्म के दर्शकों में महिला दर्शकों की संख्या नगण्य पायी जाती है।कारण वर्तमान की फ़िल्मों में भोजपुरी समाज की संस्कृति से और वास्तविक कहानीयों का आभाव होना,पश्चिमी परिवेश को ज़बरदस्ती ठूंस के दिखाना या फिर वजह क़ुछ भी हो, लेकिन ये इस उद्योग के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं।ये भाषा अपने समृद्ध संस्कृति के लिए विश्व प्रसिद्ध है,लेकिन आज इसी भाषा को अपने फ़िल्म उद्योग में कुछ विशिष्ट तकनीकीयों के प्रभाव की वजह से,फ़िल्मों में फैली अश्लीलता आदि से शर्मसार होना पड़ रहा है। दर्शक वर्ग इससे कटते जा रहें हैं,लेकिन इन्ही दर्शक वर्ग को वापस थिएटर तक लाने की कोशिश में यह फ़िल्म "छेका" अपना स्थान बनाने में सफलता प्राप्त करे ऐसा जान पड़ता है। भोजपुरी फ़िल्म छेका का ट्रेलर जारी होते ही ये चर्चा फ़िल्म उद्योग में ज़ोर शोर से होने लगी है।इस बात की पुष्टिकरण फ़िल्म की जारी ट्रेलर से ही लग रहा है कि फ़िल्म बॉक्स आफिस के कसौटी पर खरा उतारकर अपनी पहचान बनाने में सफलता प्राप्त करेगी।ट्रेलर देखने से ही लगता है कि जातिवाद और महिला उत्पीड़न की बात की गयी है।बदलते समाज में इस तरह की फ़िल्में दर्शकों को हमेशा ही लुभाती रहीं है।पी आर फिल्म्स एंड इंटरटेनमेंट व परमा प्रोडक्‍शन के बैनर तले निर्मित इस फ़िल्म के निर्माता हैं कुमार परमानंद,सह निर्माता हैं प्रताप कुमार सिंह और पीआरओ हैं सर्वेश कश्यप।फ़िल्म में कोई बड़ा चेहरा नहीं होने के बावजूद छेका को विडियो,आडीयो व सेटेलाइट कीमत की बात करें तो मनचाहा दाम मिला है।जिसे ख़रीदा है भारत की अग्रणी म्यूज़िक कम्पनी यशी फ़िल्मस ने।और यही इस फ़िल्म के कामयाबी का संकेत है।फ़िल्म का विषय वस्तु वाक़ई उम्दा है।शूटिंग के समय से ही ऐसी ख़बरें आई थी कि इस फ़िल्म का निर्माण बेहतरीन तकनीकी से किया जा रहा है।संगीत इस फ़िल्म का मजबूत पक्ष है।फ़िल्म के संगीतकार संजीत तन्हा हैं।फ़िल्म के गीतों को प्रसिद्ध गायक आलोक कुमार,धीरज पांडे,तृप्ति साकिया,मांती मौर्या जितेंद्र इत्यादि ने गाया है। यशी फ़िल्मस के मुखिया अभय सिन्हा ने फ़िल्म के निर्माता को काफ़ी बधाई दी है। फ़िल्म के विषय में निर्माता कुमार परमानंद बताते हैं कि मुझे काफी दिनों से एक अच्छी फिल्म के निर्माण का ख्याल आया और इस विचार के साथ मैं निर्देशक नेहाल अहमद से मुलाक़ात की।कुछ ही दिन बाद नेहाल "छेका" के साथ मिले।निर्देशक निहाल के अनुसार फ़िल्म की कहानी का डिमांड था नया चेहरा और् खोजबीन के बाद रमेश सावंत और् विक्टर सिंह के रूप में दो बेहतरीन अभिनेता की तलाश पूरी हुई।इस् फ़िल्म में रमेश सावंत,विक्टर सिंह के अलावे जया पांडेय,खुशबू पांडे,संजू बाबा मुख्य भूमिका में हैं साथ ही प्रिंसी,मिथुन,प्रियांशु,पूनम,पुष्पा, बिपिन बिहारी,बब्बन सिंह इत्यादि भी मुख्य भूमिका में दिखेंगे।फ़िल्म के सिनेमाटोग्राफर उत्तम सिंह व नृत्य निर्देशक प्रीतम अधिकारी एवं सुशांत है।एडिटर सन्नी सिंहा एवम् पब्लिसिटी डिज़ाइनर सागर सिंहा हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...