वैश्विक शांति के लिये नौजवानों को आगे आने का आह्वान किया पी.व्ही. राजगोपाल ने - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 6 जून 2019

वैश्विक शांति के लिये नौजवानों को आगे आने का आह्वान किया पी.व्ही. राजगोपाल ने

  • तीन दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान राजगोपाल जी का 71 वां जन्मोत्सव मनाया

जय -जगत यात्रा 2020 के समन्वय के लिये बनाए गए तीन अंतर्राष्ट्रीय कार्यालयों में से दो कार्यालयों सनेगल देश के डकार शहर और इटली के रोम शहर में स्थित दोनों कार्यालयों का उद्घाटन एक ही समय पर किया गया ।जिसका लाइव प्रसारण किया गया।
call-to-join-jay-jagat-yatra
भोपाल। पूरा विश्व हिंसा और शोषण की चपेट में हैं, शन्ति और अहिंसा पर आधारित नई दुनिया की रचना करने के लिये नवजवानो को आगे आना चाहिए। उक्त उद्गार पी. व्ही.   राजगोपाल ने तीन दिवसीय प्रशिक्षण के समापन पर व्यक्त किया।  इसके बाद जय-जगत यात्रा 2020 के समन्वय के लिये बनाए गए तीन अंतर्राष्ट्रीय कार्यालयों में से दो कार्यालयों सनेगल देश के डकार शहर और इटली के रोम शहर में स्थित दोनों कार्यालयों का उद्घाटन एक ही समय पर किया गया ।जिसका  लाइव प्रसारण भोपाल में किया गया ।  इस अवसर पर पी.व्ही. राजगोपालन के साथ प्रशिक्षण पर आये कई राज्यों के 50 से अधिक साथियों ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए जुड़े । उद्घाटन के बाद भोपाल के कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंस के द्वारा विदेशी साथियों को जय - जगत गीत सुनाया गया ।

इसके बाद पी.व्ही. राजगोपालन उर्फ राजा का 71 वां जन्मदिन मनाया गया । जिसमें राजा जी के साथ लंबे समय से कार्य कर रहे वरिष्ठ साथियों ने राजाजी के सामाजिक कार्यों को याद किया । सर्वप्रथम श्रद्धा बहन ने राजा जी के कई संस्मरण सुनाए और उन्होंने अपने संपूर्ण सामाजिक जीवन का श्रेय राजाजी को दिया । नवरचना संस्था के संतोष सिंह ने कविता के माध्यम से राजा जी के व्यक्तित्व को बताया । इस अवसर पर फिल्मी कलाकार विक्रम भाई ने राजा जी के साथ की गई यात्राओं का जिक्र किया और कई रोचक संस्मरण याद किये । कस्तूरी बहन ने गीत सुनाकर माहौल को भावुक किया , तो शोभा बहन , मनीष राजपूत , जय सिंह , सनी कुमार वोजो , अनीष कुमार , रमेश शर्मा आदि लोगों ने गीत , कविता और राजा जी से जुड़ी यादों को प्रस्तुत किया । संचालन सान्या ने किया।   एकता परिषद के अध्यक्ष रन सिंह परमार ने एकता परिषद संगठन और राजा जी के जीवन को जोड़कर युवाओं के लिए कई प्रेरणादायी बातें बतायी । अंत में गांधी भवन के सचिव दयाराम नामदेव ने अपने वक्तव्य में राजा जी के जीवन पर गहराई से प्रकाश डालते हुए जन्मदिन की बधाई दी ।  राजा जी के जन्मदिवस के साथ एकता परिषद के तीन अन्य साथी डोगर शर्मा , सुरजीत भाई और महेंद्र भाई का भी जन्मदिन था , जिन्हें राजा जी ने "बा-बापू-150" का प्रतीक चिन्ह भेंट कर दीर्घ आयु और स्वस्थ जीवन की कामना की । जन्मदिन को यादगार बनाने के लिए गांधी भवन परिसर में राजा जी के हाथों से वृक्षारोपण कराया गया , जो पर्यावरण जागरूकता के प्रति संदेश भी था । प्रशिक्षण के आयोजन मे अंश हेप्पीनेस के स्वयं सेवकों सहित राष्ट्रीय समन्वयक अनीश भाई और वरिष्ठ साथी अनिल भाई ने महत्वपुर्ण भूमिका निभायी। बिहार से आर्यावर्त संवाददाता आलोक कुमार के अनुसार आज जल,जंगल और जमीन वह हो जनता के अधीन नामक जनांदोलन छेड़ने वाले एकता परिषद के संस्थापक डॉ.पी.व्ही.राजगोपाल जी का 71 वां जन्मदिवस है। एकता परिषद बिहार के प्रांतीय संयोजक प्रदीप प्रियदर्शी, महिला वीरांगना मंजू के साथ 38 जिले के संयोजक की ओर से गांधी,विनोबा,जयप्रकाश की राह पर चलकर अंहिसात्मक आंदोलनों का नेतृत्व करने वाले राजाजी को जन्मदिन मुबारक हो ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...