झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 23 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 23 जून 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 23 जून

गो वंश अधिनियम मे मामला दर्ज आरोपी फरार

jhabua news
पारा --यहा से करिब 20 किलोमीटर दुर पारा पुलिस चैकी के अंर्तगत आने वाले गांव छापरी रणवास मे रविवार कि सुबह तडके चार बजे के लगभग गांव के हि कुछ लोगो ने हल्के अंधेरे मे गोवंश को काटते हुवे देखा व पारा पुलिस को इस की सुचना दी। प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को तडके फरियादी राम चन्द्र ने पुलिस चौकी पारा को सुचना दि कि ग्राम छापरी रणवास मे अंधेरे का लाभ लेते हुवे गोवेश को काट करहे हे। घटना कि सुचना मिलते ही पारा पुलिस चैकी प्रभारी रमेश कोली एएसआई मिथिलेश वाजपेयी प्रधान आरक्षक प्रेम चन्द आरक्षक भारत ,जितेन्द्र व सेनिक को लेकर तत्काल घटना स्थल पर पहुचे लेकिन अंधेरे का लाभ उठाते हुए आरोपी फारार हो गए। पुलिस ने गोवंश का मांस जब्त करके मामले का पंचनामा बनाया व पशु चिकित्सक से उसका पी एम करवा कर गो मांस को सुरक्षित जमीन मे दफनाया । पुिलस ने  भादवि कि धारा 429 व मप्र गोवंश अधिनियम 2012 कि धारा 4 व 9 मे आठ आदमी तोलिया,दिनु, भीलु, पारासिह,हमीर, नरसिह, दलसिह व सरदार सभी निवासी छापरी रणवास  चैकी पारा थाना कोतवाली झाबुआ के विरुद्ध नामजद प्रकरण दर्ज कर मामले को विवेचना मे लेलिया हे। घटना स्थल से जो गो वंश का मंास बरामद हुव वह फरियादी की दो दिन से गुमशुदा गाय का हे। जेसा कि फरियादि ने बताया। क्षेत्र मे इस प्रकार कि घटना घटने से समग्र हिन्दु समाज मे काफी आक्रेाश हे। इस घटना को लेकर विश्व हिन्दु परिषद के कमल महाराज कोकावद वाले सहीत संगठन के अनेक लोग भी घटना के प्रति  काफी आक्रोशीत थे। सभी ने पुलिस चैकी पारा पर पहुच कर पुलिस से तत्काल आरोपीयो को पकड कर कडी से कडी कारवाही करने की अपील की हे।

राजनैतिक रसूक बनाये रखने के लिये पूर्व सांसद भूरिया कर रहे अब निरीक्षण की नाटकबाजी - ओम प्रकाष शर्मा
भाजपा ने भूरिया के  अस्पताल निरीक्षण को लेकर उठाया मुद्दा
jhabua news
झाबुआ । अपने राजनैतिक वजूद को बनाये रखने तथा लोकसभा चुनाव में अपनी हार से खिजवाये हुए पूर्व सांसद  कांतिलाल भूरिया येन-केन प्रकारेण अपना वर्चस्व बनाने के लिये हर तरह के प्रयास कर रहे  है । कभी जिला योजना समिति की बैठक में राज्यसभा सांसद के रूप  में पिछले दरवाजे से शामील होने तो कभी एक जन प्रतिनिधि की तरह जिला चिकित्सालय में निरीक्षण के नाम पर अपने पुत्र के निकट भविष्य में  शुरू हो रहे  हास्पीटल की मार्केटिंग को लेकर शनिवार को जिला चिकित्सालय झाबुआ का प्रातः निरीक्षण के नाम पर चिकित्सकों  को ऐसे निर्देश दिये जिससे जिले के आदिवासी प्रधान जिले के इस रैफरल हास्पीटल में पहले से ही मरीजों को परेशानिया झेलना नियति बन चुका है कि अब मरीज वहां पूरा इलाज नही मिलने पर मजबुरन आदिवासी मरीज  अपने  पुत्र डा. विक्रांत के निकट भविष्य में शुरू हो रहे आलिशान हास्पीटल में जाकर अपना उपचार करवाये और आदिवासियो को आयुष्मान योजना सहित सरकारी तौर पर  मिल रहे सुविधाओं से भी वंचित होना पडे । उक्त आरोप लगाते हुए जिला भाजपा अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा ने अपने बयान जारी कर कहा है कि सांसद रहते हुए श्री भूरिया को कभी भी जिला चिकित्सालय के भ्रमण निरीक्षण की फुर्सत ही नही मिली । अब वे किसी भी संवैधानिक पद पर नही है तब अपने रसूक को बनाये रखने के लिये जिला चिकित्सालय का भ्रमण निरीक्षण का नाटक कर रहे है। मिली जानकारी के अनुसार पूर्व सांसद कांतिलाल भूरिया ने पूर्व विधायक जेवियर मेडा को साथ लेकर अस्पताल के निरीक्षण के दौरान  जिला चिकित्सालय की दो डायलिसीस मशीन को ही चालू रखने  और अधिक  सुविधायें प्रदान नही करने के निर्देश दिये है । इससे तो ऐसा लगता है कि  सांसद भूरिया अब हताशा में आकर तथा भविष्य में मरीजों को पुत्र के नव निर्मित हो रहे विशाल अस्पताल में मरीजों को बुलाने की सोची समझी रणनीति बताई जारही है । चूंकि प्रदेश मे कांग्रेस की सरकार काबिज है ऐसे  में श्री भूरिया अपने रसूक के चलते इस प्रकार से जिला चिकित्सालय का निरीक्षण का नाटक कर रहे  तथा चिकित्सकों को ऐसे  निर्देश दे रहे है  ।ं

पूर्व विधायक जेवियर मेड़ा के प्रयासांे से झाबुआ शहर में गैस पाईप लाईन की योजना ले रहीं साकार रूप, पेट्रोलियम मंत्रालय दिल्ली से मिली हरी झंडी, गैल झाबुआ ने इस क्षेत्र में कार्य शुरू किया

jhabua news
झाबुआ। गत 5 फरवरी 2012 को तत्कालीन विधायक जेवियर मेड़ा ने तत्कालीन अखिल भारतीय कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी तथा तत्कालीन पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री जयपाल रेड्डी और जतीन प्रसाद को झाबुआ नगर में गैस पाईप लाईन के जरिए घर-धर घरेलु गैस उपलब्ध हो एवं प्रत्येक घर मे गैस कनेक्षन के माध्यम से गैस मुहैया हो, इस हेतु एक मांग पत्र देकर पूरजोर तरीके से यह मुद्दा उठाया था, जो अब धरातल स्थर पर साकार होता दिखाई दे रहा है। गत 23 फरवरी 2012 को नई दिल्ली में तत्कालीन पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री जयपाल रेड्डी ने उक्त योजना का उद्घाटन कर इसमें झाबुआ शहर को शामिल करने के साथ ही मप्र के उज्जैन, देवास पिथनपुर को भी योजना से जोड़ा गया था। जिसमें जमीन अधिग्रहण के लिए 505 करोड़ रूपए मंजूर किए गए एवं 7 माह में गैस पाईप लाईन का सर्वे कर 2200 किमी की गैस पाईप लाईन डालने की ऐतिहासिक घोषणा की गई थी। इस बीच वर्ष 2015 में भारत सरकार की सबसे बड़ी कंपनी गैस अथाॅरिटी आॅफ इंडिया लिमिटेड नई दिल्ली से आई सर्वे टीम ने भी इस हेतु सर्वे किया।

दिल्ली से मिली हरी झंडी
ज्ञातव्य है कि इस योजना को लागू होने काीवर्षों से झाबुआ शहर के लोगों को प्रतिक्षा थी। जिसे तत्कालीन विधायक रहे जेवियर मेड़ा के प्रयासों से अब पेट्रोलियम मंत्रालय दिल्ली से हरी झंडी मिल चुकी है। इस क्षेत्र में गैल इंडिया लिमिटेड झाबुआ ने कार्य शुरू कर दिया है। औपचारिक प्रक्रियाओं के बाद शीघ्र ही शहर के सभी 18 वार्डों में इस हेतु सर्वे भी प्रारंभ किया जाएगा। गैल कंप्रेषर, झाबुआ के समीपस्थ ग्राम गेहलर बड़ी में स्थापित है, वहां से संभवतः गैस पाईप लाईन जोड़कर झाबुआवासियों को सीधे पाईप लाईन के माध्यम से गैस उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएंगे। जिसके तहत उपभोक्ताओं को बाहर से गैस सिलेंडर खरीदने की मषक्कत नहीं करना पड़ेगी। साथ ही गैस पाईप लाईन से गैस लेने से वे जितनी गैस इस्तेमाल करेंगे, उनता ही पैसा उन्हें पैसा देना होगा। यह योजना करीब 50 से 100 करोड़ की रहेगी।

जेवियर मेड़ा के प्रति माना आभार
उक्त योजना धीरे-धीरे साकार होती दिखने पर जहां झाबुआ शहर की जनता में खुषी है वहीं उक्त योजना को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करने वाले पूर्व विधायक जेवियर मेड़ा के प्रति कांग्रेस पदाधिकारी-कार्यकर्ताओं, पंच-सरपंच, पार्षदगणों के साथ शहर की जनता में उनके इस प्रयासों की सराहना की है।

आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के सदस्य कर रहे शुक्रताल महातीर्थ की यात्रा, भागवत कथा के समापन पर कथा वाचक का किया गया भावभरा सम्मान

jhabua news
झाबुआ। संपूर्ण देष में प्रसिद्ध उत्तरप्रदेष के शुक्रताल महातीर्थ की यात्रा आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट झाबुआ के सदस्यों द्वारा गत 18 जून से की जा रहीं है। शुक्रताल महातीर्थ की खासियत यह है कि यहां बारह मासी भागवत कथा का दौर चलता है। यहां पहुंचकर समुधर भागवत कथा का श्रावण आसरा ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर, लीना नागर एवं सरोजकांता नागर द्वारा किया जा रहा हे। उनके द्वारा शुक्रताल महातीर्थ पर दर्षन-वंदन के पश्चात् यहां सत्त चलने वाली भागवत कथाओं में शामिल होकर कथा का श्रवण कर धर्म की गंगा में गौते लगाए जा रहे है। आसरा ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर ने बताया कि यह तीर्थ भागवत कथा के कारण ही प्रसिद्ध है। यहां बारह मासी अलग-अलग स्थानों पर भागवत कथा चलती रहंी है। प्रतिवर्ष यहां लाखों की संख्या में लोग दर्षन-वंदन एवं भावगत कथा का श्रवण करने हेतु पधारते है तथा धर्म लाभ प्राप्त करते है।

24 जून तक की यात्रा
आसरा के उक्त सदस्यों द्वारा 24 जून तक यहां रहकर दर्षन-वंदन एवं भागवत कथा के श्रवण का लाभ लिया जााएगा। इसी क्रम में आसरा ट्रस्ट के राजेष नागर, लीना नागर एवं सरोजकांता नागर द्वारा शुक्रताल महातीर्थ में भागवत कथा की पूर्णाहूति होने पर कथा वाचक 15 वर्षीय बाल संत सुधीर नागर का भावभरा सम्मान शाल ओढ़ाकर, केसरिया दुपट्टा पहनाकर एवं प्रतीक चिन्ह देकर किया गया। बाद उनका आषीर्वाद प्राप्त किया। 24 जून को सभी पुनः झाबुआ लौटेंगे।

तन और मन का एकीकरण करना ही योग है -ः डीपीए अध्यक्ष यषवंत भंडारी, प्रषिक्षण षिविर के समापन पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने किया योगाभ्यास

jhabua news
झाबुआ। योग का शाब्दिक अर्थ है जोड़, जिस तरह जोड़ से अंकों का मिलान करते है, उसी तरह योग के द्वारा मन और शरीर का एकीकरण होता है। आज के इस आपाधापी भरे जीवन में योग ही एक ऐसा सरल  माध्यम है, जिसे करने से जीवन में आनंद एवं उत्साह की प्राप्ति के साथ शारीरिक एवं मानसिक कष्टों से भी मुक्ति मिलती है। उक्त प्रेरणादायी उद्बोधन झाबुआ के समीपस्थ ग्राम बिलिडोज स्थित जिला आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिक प्रषिक्षण केंद्र पर आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के 32 दिवसीय प्रषिक्षण कार्यक्रम के समापन अवसर पर ‘‘जीवन में योग क्यो जरूरी’’ विषय पर संबोधित करते हुए मुख्य प्रवक्ता जिला दहेज सलाहकार बोर्ड (डीपीए) के अध्यक्ष यषवंत भंडारी ने दिए। आपने योग के महत्व को प्रतिपादित करते हुए कहा कि योग-साधना से शरीर एवं मन को असीमित ऊर्जा प्राप्त होती है एवं मन में सकारात्मक विचारों का प्रवेष होता है। आपने बताया कि कि आज के इस तनावयुक्त जीवन से मुक्ति पाने के लिए योग ही सर्वश्रेष्ठ साधन है। योग से हम अपने अंदर शारीरिक एवं मानसिक शक्ति का संचार कर सकते है। प्रतिदिन कुछसमय के लिए भी जो व्यक्ति नियमित योग करता है, उस व्यक्ति का मन सदैव प्रसन्नता रहता है तथा बुद्धि स्वस्थ रहती है।

योग देष की प्राचीन धरोहर है
डीपीए अध्यक्ष श्री भंडारी ने आगे बताया कि योग हमारे देष की प्राचीन परंपरा की बहुत बड़ी धरोहर है। वर्तमान में देष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सद्प्रयासो से इसे पूरे विष्व में 21 जून को योग दिवस के रूप में मनाया जाने लगा है। जिसमें देष के हर नागरिक योग के महत्व को समझे और योग के माध्यम से अपने जीवन को सफल बनाएं, यह संदेष दिया जा रहा है। आप आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी प्रषिक्षण कार्यक्रम पश्चात् अपने जीवन को स्वस्थ एवं निरोगी रखने के लिए प्रतिदिन योगाभ्यास करना है।

आधे घंटे तक किया योगाभ्यास
इसके पूर्व जिले के पांच विकासखंडों से आई आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने आधे घंटे तक योगाभ्यास किया। योगाभ्यास आंगनवाड़ी केंद्र की प्रभारी श्रीमती कल्पना यादव ने करवाया। बाद श्री भंडारी द्वारा योग के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। प्रषिक्षण के समापन पर पधारे प्रमुख वक्ता श्री भंडारी का स्वागत एवं परिचय श्रीमती यादव ने दिया। अंत में सभी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने श्री भंडारी के प्रति आभार व्यक्त किया। 

पेंशनर संघ ने किया जिला चिकित्सालय का निरीक्षण

jhabua news
झाबुआ । जिला पेंशनर एसोसिएशन के द्वारा जिला चिकित्सालय का निरीक्षण कर सुविधाओ के बारे में जानकारी प्राप्त की गई। जिस पर से जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन आर एस प्रभाकर से मिलकर ब्लड बैंक, डायलीसीस मशीन ओर ओपीडी के साथ ही वार्ड में भर्ती मरीजो एवं उनके परिजनो से ईलाज संबंधी भी चर्चाये की गई। जिला चिकित्सालय व्याप्त कमियो एवं मरिजो की परेशानियों को लेकर सिविल सर्जन से संपर्क कर उनके निराकरण करने की ठोस कदम उठाने की पहल की गई। तथा व्यवस्था को मरीजो के हित में सतत बनाये रहने का आव्हान किया। इस अवसर पर संगठन के सुभाष दुबे, बालमुकंद सिंह चैहान, गोपालसिह चैहान, शषि त्रिवेदी, निरंजन सिंह चैहान, भगवतीलाल शाह, रूपसिंह खपेड, श्रीनाथ चैहान, जर्नादन शुक्ला, भारतसिंह तोमर आदि ने इस पुनित कार्य में सहभागिता की।

शिल्पा को क्लेट परीक्षा में मिली सफलता

jhabua news
झाबुआ। अब झाबुआ के छात्र छात्राएं भी किसी से कम नही है। हर कोई अपने जिले का नाम रोशन करने में लगा है। कोई मेडल ला रहा है तो कोई अच्छी रेंक से पास हो रहा है।  ऐसा ही कुछ शिल्पा ने अपने हौंसलों की उडान से क्लेट की परीक्षा में सफलता हासिल की। उदयपुरिया दिलीप गेट निवासी व जिला झाबुआ कलेक्टर कार्यालय महिला एवं बाल विकास विभाग में कार्यरत कर्मचारी श्रीमती उर्सिला पिता जोसफ रावत की पुत्री कुमारी शिल्पा रावत ने क्लेट की परीक्षा में सफलता हासिल की। उसे आॅल इंडिया एसटी वर्ग में 56 वीं रेंक प्राप्त हुई और नेशनल लाॅ इंन्स्टीटयूट युनिवरसीटी भोपाल काॅलेज में सीट मिली। इस सफलता के लिए परिवार ने पिता परमेश्वर को धन्यवाद देते हुए हर्ष व्यक्त किया व उसके उज्जवल भविष्य की कामना की।

युवा योग से जुड़कर अपने जीवन को बनाए खुषहाल और आनंदमयी -ः श्रीमती नलिनी बैरागी, प्रतिदिन गायत्री शक्तिपीठ परिसर में करे योग

jhabua news
झाबुआ। स्थानीय काॅलेज मार्ग स्थित गायत्री शक्तिपीठ पर अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। इस अवसर पर प्रातःकाल गायत्री परिवार की महिलाओं एवं युवाआंे ने मिलकर योग किया। बाद श्रीमती नलिनी बैरागी ने योग दिवस के महत्व को प्रतिपादित करते हुए विषेष रूप से युवाओं को नियमित कर अपने जीवन को खुषहाल और आनंदमयी बनाने की प्रेरणा दी। गायत्री शक्तिपीठ पर सुबह 6.30 से 7.30 बजे तक योग कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जिसमें उपस्थित गायत्री परिवार की महिलाओं एवं शक्तिपीठ से जुड़े युवाओं को योग की विभिन्न क्रियाएं एवं आसन नारी जागरण अभियान की जिला संयोजक श्रीमती नलिनी बैरागी एवं विजय बजाज के साथ युवा नन्नू डूडवे  ने करवाई। इस अवसर पर सभी ने सामूहिक रूप से सूर्य नमस्कार की क्रियाएं भी की। करीब एक घंटे महिलाआंे ने योग के प्रणायाम एवं आसन कर अपने शरीर में स्फूर्ति के साथ आनंद की अनुभूति की।

योग करने से व्यक्ति होता है निरोगी
इस असर पर संबोधित करते हुए नारी जागरण अभियान की जिला संयोजक श्रीमती बैरागी ने उपस्थित महिलाओं एंव युवाओं से कहा कि योग करने से एक ओर जहां हमारे शरीर के अंदर स्फूर्ति और शक्ति का संचार होता है। वहीं नियमित योग करने से कई प्रकार की बिमारियों से भी बचा जा सकता है। श्रीमती बैरागी ने इस अवसर पर उपस्थित युवाओं को प्रेरित किया कि वे गायत्री शक्तिपीठ परिसर में नियमित योग करे। योग करने का आपका अध्ययन कार्य में मन लगने के साथ आपके मन में सकारात्मक विचारों का भी संचार होगा।

ये थे उपस्थित
इस अवसर पर गायत्री परिवार की महिलाओं में नम्रता शेखावत, रीना शर्मा, कृष्णा शर्मा के साथ शक्तिपीठ से जुड़े युवाओं मे सोनू भूरिया, रायसिंह भिड़े, मोती सिंगाड़, भन्द्रू भूरिया, राजू भूरिया, मंसूर वसुनिया, मन्नु गुंडिया जगला, रामसिंह, अभरम, नानसिंह, किर्तन आदि उपस्थित थे।

डाॅ. जीएस अवास्या उत्कृष्ट कार्यों के लिए भोपाल में सम्मानित, दी गई शुभकामनाएं

jhabua news
झाबुआा। स्वास्थ्य संचालनालय भोपाल द्वारा जिला नेत्र चिकित्सालय के प्रभारी डाॅ. जीएस अवास्या को झाबुआ जिले में अपने कार्यों के प्रति सक्रिय रहने एवं नेत्र रोगियों को उत्कृष्ट सेवाएं देने हेतु उनका सम्मान किया गया। उन्हें यह सम्मान भोपाल में आयोजित एक कार्यषाला में नेषनल प्रोग्राम फाॅर कंट्रोल आॅफ ब्लाईंडनेस एंड विसयुल इंपायरमेंट के तहत संचालक एमपी डाॅ. बीएन चैहान एवं कमिष्नर हेल्थ एमपीनिलेष व्यास (आईएएस) के हस्ताक्षरयुक्त सौंपा गया है। बाद डाॅ. अवस्या ने कार्यषालान में झाबुआ जिले में नेत्र रोगियों को दी जा रहीं सेवाओं के संबंध में अपने विचार भी व्यक्त किए। उनकी इस उपलब्धि पर उन्हें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बीएस बारिया, सिविल सर्जन डाॅ. आरएस प्रभाकर सहित समस्त चिकित्सकों, नेत्र चिकित्सालय के समस्त स्टाॅफ द्वारा शुभकामनाएं प्रेषित की गई है।

बारिश पूर्व नगरपालिका द्वारा शहर में चलाई जा रहीं स्वच्छता मुहीम, नाले-नालियों के साथ सड़कों की विषेष सफाई अभियान

jhabua news
झाबुआ। नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती मन्नूबेन डोडियार एवं सीएमओ एलएस डोडिया के निर्देष पर नगरपालिका की स्वच्छता शाखा द्वारा पूरे शहरभर में पिछले कुछ दिनों से स्व्च्छता मुहीम छेड़ी गई है। इसके तहत शहर में निर्मित नाले-नालियों के साथ सड़कों की नियमित सफाई का कार्य चल रहा है। यह जानकारी देते हुए नगरपालिका के सेनेट्री प्रभारी कमलेष जायसवाल ने बताया कि वर्षाकाल में प्रायः बारिष के कारण नाले-नालियों में पूर्व से कूड़ा-कचरा एवं गंदगी जमा होने से बारिष के पानी के बहाव से नाला जाम हो जाने की समस्या एवं दिक्कते तो आती है। साथ ही नाले का गंदा पानी एवं कूड़ा-कचरा तेज बारिष के पानी से सड़कों पर बहने लगता है एवं उसका सड़कों पर ही एकत्रीकरण हो जाता है। इस कारण सड़कों पर चलने वाले पैदल राहगीरों और वाहन चालकों को काफी परेषानी होने के साथ साथ ही नाला चैक हो जाने से आसपास के रहवासियों के घरों में पानी घुसने की समस्या निर्मित होती है।

सफाई अभियान संचालित किया जा रहा
जिसको देखते हुए नपा द्वारा अध्यक्ष श्रीमती डोडियार एवं सीएमओ श्री डोडिया के निर्देष पर शहर के प्रत्येक वार्डों में पिछले दिनों से नाले-नालियों की सफाई का अभियान संचालित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त सड़कों पर जो पूर्व से कूड़ा-कचारा पसरा है, उसकी भी सफाईकर्मियों से नियमित सफाई करवाई जा रहीं है, ताकि बारिष में शहरवासियांे को किसी प्रकार की कोई परेषानी का सामना ना करना पड़े।

शनिवार को इन जगहों पर चलाया अभियान
शनिवार को नगरपालिका के सेनेट्री कमलेष जायसवाल एवं सहायक स्वच्छता निरीक्षक टोली मलिया के नेतृत्व में झाबुआ के बस स्टेड फव्वारा चैक पर पुलिस चैकी के समीप नाला, उदयपुरिया क्षेत्र में महिन्द्रा शो-रूम के पीछे के नाले एवं मेन बाजार प्रधान डाकघर के समीप नाले की सफाईकर्मियों द्वारा सफाई कर इन्हें साफ-सुथरा किया गया। श्री जायसवाल के अनुसार आगामी दिनों में भी यह स्वच्छता अभियान शहर में जारी रहेगा।

याकूब को 4 लाख रूपये आर्थिक सहायता स्वीकृत
           
झाबुआ ।  जिले के ग्राम कचलदरा तहसील मेघनगर के रहने वाले याकूब के पुत्र आषीष उम्र 04 वर्ष की दिनांक 05.05.2019 को पानी की टंकी (होद) के अन्दर पानी में डुबनेे से मृत्यु हो जाने पर मृतक आषीष के वैध वारिस उसके पिता याकूब पिता रमसू निवासी कचलदरा को 4 लाख रूपयें की आर्थिक सहायता राशि एसडीएम मेघनगर द्वारा स्वीकृत की गई है। स्वीकृत राशि बैंक खाते में ई-पेमेन्ट द्वारा भूगतान की जाएगी।

श्खरीफ फसलों मे कामलिया कीट / फाल आर्मीवर्म से होने वाले नुकसान के लिये कृषकों के लिये उपयोगी सलाह

झाबुआ ।  जिले मे कामलिया कीट का प्रकोप वितग वर्षों मे होता आया है । इस कारण से खरीफ की मुख्यतया सोयाबीन फसल मे अधिक नुकसान की संभावना बनी रहती है । कामलिया कीट का जीवन चक्र्र मानसून की पहली वर्षा के साथ षुरू होता है। यह तितली पलाष के पत्तो के पृष्ठ भाग पर अण्डे देता है जो वर्षा मे कुछ समय की खेंच/अवर्षा की स्थिति में ईल्ली के रूप मे परिवर्तित हो कर नवांकुरित सोयाबीन फसल के पौधों को खा कर नष्ट कर देती है।  इसी प्रकार आर्मी वर्म एक बहु भक्षी कीट है परन्तु मक्का इसकी सबसे पसंदीदा फसल है इस कीट के पतंगे हवा के बहाव के साथ 100 किलोमीटर तक प्रवास कर सकते है तथा इसकी प्रजनन् क्षमता बहुत अधिक होती है इसकी मादा अपने जीवनकाल मे 1 से 2 हजार तक अंडे दे सकती है । इस कीट का झुंड आक्रमण कर एक रात मे क्षैत्र की पूरी फसल नष्ट कर सकता है । इसकी ईल्लियां अण्डो से निकल कर छोटी छोटी पत्तीयों के हरे भाग को खुरच -खुरच कर खा जाती है, जिससे पत्तियो मे छोटे, बडे छेद कर नुकसान पहुचाती है । इसकी ईल्लियां भुट्टोंॅ/मंजरीयो को खा कर भी नुकसान पहुचाती है । विगत वर्षो मे आस पास के राज्यो मे इसका प्रकोप बहुत रहा है एवं इस बार इसके प्रकोप की संभावना प्रदेष मे बन रही है अतः-

ऐसे करें नियंत्रण
समन्वित कीट नियंत्रण विधियो को अपनाऐं , इस हेतु ग्रीष्म काल मे गहरी जुताई करें । ग्रीष्म काल मे खेत मे गहरी जुताई उपरांत 250 कि.ग्रा. प्रति हेक्टेयर नीम खली भूमि मे मिलावें बोनी के समय पर देरी से बुआई करने पर नवांकुर होने पर उक्त कीटों का प्रकोप होने पर पौधों को अधिक नुकसान होता है । मक्के के साथ साथ अरहर, मुंग , उडद की अंतरवर्तीय फसले लेवें । लाईट ट्रेप का उपयोग करें या रात्री मे खेतो के मेढो पर अलाव जलावे । फ्युजीपरडा फिरोमोन प्रपंत्र 15 /हेक्टेयर का उपयोग करें। उर्वरकों का सन्तुलित मात्रा मे उपयोग करें। फसलों /पलाष के पत्तों के पृष्ठ भाग पर अण्डे दिखाई देने पर एकत्र कर नष्ट करें ,टी.आकार. की खुटीयां लगाऐें ताकि उस पर प़क्षी बैठ कर इस कीट की ईल्लियो को खा कर नष्ट कर देवे।ग्रसित फसल की पोगली मे बारीक सूखी रेत , राख अथवा बुरादा डाल दे। प्रकोप की प्रारम्भिक अवस्था मे नीम तेल 10000 पी पी. एम या एन.एस.के.ई. 5ः का एक लीटर /हैक्टेयर छिडकाव करें ।

रक्तदान षिविर 26 जून से 10 जुलाई तक लगाये जायेगे

झाबुआ । जिले में 10 जून 2019 से 20 जुलाई 2019 तक दस्तक अभियान के प्रथम चरण का आयोजन किया जा रहा है । इस अवधि में दस्तक दल द्वारा घर घर दस्तक देकर गंभीर एनिमिक बच्चों की पहचान की जायेगी । चिंहीत गंभीर एनिमिक बच्चों को ब्लड ट्रांसफयूून की आवष्यकता होगी। दस्तक अभियान को दृष्टिगत रखते हुये 26 जून से 10 जुलाई तक विकासखण्डों में स्वैच्छिक रक्तदान षिविरों का आयोजन किया जायेगा। स्वैच्छिक रक्तदान षिविर प्रत्येक विकासखण्ड में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र/सिविल अस्पताल में प्रात 9 बजे से शाम 4 बजे तक आयोजित किये जायेगे । स्वैच्छिक रक्तदान षिविर हेतु संबंधित बीएमओ नोडल अधिकारी होगे एवं बीपीएम तथा बीईई सहायक नोडल अधिकारी होगे। स्वैच्छिक रक्तदान षिविर 26 जून 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र थांदला में, 29 जून 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मेघनगर मे, 01 जुलाई 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रानापुर में, 03 जुलाई .2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कल्याणपुरा में ,06 जुलाई 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रामा मे एवं 10 जुलाई 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र /सिविल अस्पताल पेदलावद में आयोजित किये जाएगे। स्वयंसेवी संगठनों, महाविद्यालयों, व्यापारी संगठनों, अन्य शासकीय समन्वित विभागों से आपसी समन्वय से अनुरोध है कि अधिक से अधिक संख्या में रक्तदान करे ।      

खाद्यान्न कोटे में बढोत्तरी की जाये -खाद्य मंत्री श्री तोमर
केन्द्रीय खाद्य मंत्री श्री पासवान को भेजा पत्र
झाबुआ ।  प्रदेश के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भारत सरकार से माँग की है कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली में प्रदेश के खाद्यान्न कोटे में बढोत्तरी की जाये। इस सिलसिले में श्री तोमर ने केन्द्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री श्री रामविलास पासवान को पत्र प्रेषित कर आग्रह किया है।  मंत्री श्री तोमर ने प्रेषित पत्र में कहा है कि राष्ट्रीय स्तर पर हकदारी आधारित खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के तहत देशवासियों को उचित मूल्य पर अच्छी गुणवत्ता के खाद्यान्न पोषण की सुरक्षा दी गई है। इस अधिनियम के अंतर्गत मध्यप्रदेश की 75 प्रतिशत आबादी को सस्ती दर पर राशन मुहैया कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि फिलहाल प्रदेश में कुल 5 करोड 46 लाख पात्र परिवारों को राशन मुहैया कराया जा रहा है जबकि यह संख्या वर्ष 2011 में प्रदेश की कुल जनसंख्या 8 करोड 23 लाख की मात्र 66 प्रतिशत ही है। श्री तोमर ने कहा कि नतीजतन निर्धारित लक्ष्य के अनुसार सस्ती दर पर पात्र परिवारों को राशन मुहैया कराने में राज्य सरकार को व्यावहारिक कठिनाइयों का सामना करना पडता है। अधिसूचित प्राथमिकता परिवारों में पात्र होने पर भी पात्र व्यक्तियों को लक्षित सार्वजनिक प्रणाली हकदारी नहीं मिल पाती है क्योंकि उन्हें केन्द्रीय योजना की निर्धारित खाद्यान्न आवंटन सीमा से बाहर होने के कारण सूची में सम्मिलित नहीं किया जा सकता है।  श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने यूनाइटेड नेशन डेव्हलपमेंट प्लॉन के अंतर्गत वर्ष 2030 तक तय किये गये सब्स्टेंशियल डेव्हलपमेंट गोल में जीरो हंगर की सहमति भारत सरकार द्वारा दिये जाने का भी अपने पत्र में जिक्र किया है। उन्होंने कहा है कि भारत सरकार से प्राप्त खाद्यान्न आवंटन सीमा अंतर्गत लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली में 5 करोड 46 लाख हितग्राही लाभान्वित हो रहे हैं। अधिनियम के अंतर्गत समस्त प्राथमिक परिवारों को 5 किलो प्रति सदस्य के मान से खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। अनेक न्यूट्रिशियन गणनाओं में भी यह निष्कर्ष सामने आया है कि एक वयस्क व्यक्ति को पर्याप्त पोषण के लिये एक माह में न्यूनतम 8 किलो खाद्यान्न की आवश्यकता होती है। उन्होंने बताया है कि भारत सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जा रही खाद्यान्न की मात्रा वास्तविक आवश्यकता से 3 किलो कम है। श्री तोमर ने माँग की है कि अंत्योदय अन्न योजना के लिये हितग्राहियों को 35 किलो के स्थान पर 45 किलो प्रति परिवार खाद्यान्न दिया जाना चाहिये। खाद्य मंत्री श्री तोमर ने केन्द्रीय मंत्री श्री पासवान से आग्रह किया है कि अधिनियम अंतर्गत प्राथमिक प्राप्त परिवार को दिये जाने वाले खाद्यान्न की मात्रा 5 किलो प्रति सदस्य से बढाकर 8 किलो प्रति सदस्य प्रतिमाह तथा अंत्योदय अन्न योजना के लिये हितग्राहियों को 45 किलो प्रति परिवार की जाये ताकि हितग्राहियों को पर्याप्त खाद्यान्न प्राप्त हो सके।

जिला य¨जना समितिय¨ं क¨ सशक्त बनाने राज्य-स्तरीय समिति गठित
            
झाबुआ । राज्य सरकार ने जिला य¨जना समितिय¨ं क¨ सशक्त बनाने के लिये मुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय समिति का गठन किया है। अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन, अपर मुख्य सचिव वित्त, प्रमुख सचिव विधि एवं विधायी कार्य एवं प्रमुख सचिव य¨जना, आर्थिक एवं सांख्यकी क¨ समिति में सदस्य मन¨नीत किया गया है। यह समिति सभी विभाग¨ं में संचालित की जा रही ऐसी य¨जनाअ¨ं क¨ चिन्हाकित करेगी, जिन्हें जिला स्तर पर संचालित किया जा सके। इसके अतिरिक्त, विभिन्न विभाग¨ं द्वारा संचालित य¨जनाअ¨ं की माॅनीटरिंग जिला य¨जना समिति द्वारा किये जाने की व्यवस्था करेगी।

पर्यावरण संरक्षणजीव चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन के लिये 13 स्थानों पर विशेष व्यवस्था
नदियों के 22 प्रदूषित स्थलों की क्लीनिंग प्रोग्राम योजना
झाबुआ । प्रदेश में जीव चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन के लिये प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा 13 स्थानों पर संयुक्त जीव चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन की व्यवस्था की गई है। इन स्थानों पर चिकित्सीय अपशिष्टों का परिवहन करने वाले 820 वाहनों में जीपीएस उपकरण लगाये गये हैं। जीव चिकित्सा अपशिष्ट को 4 श्रेणियों में बाँटा गया है। राज्य में इनके उपचार की विभिन्न पद्धतियों जैसे इन्सीरिनेशन, ऑटोक्लेविंग, माइक्रोवेविंग रासायनिक उपचार, कटिंग, ग्रेडिंग तथा भूमि में गहरा गड्डा किया जाकर उपयोग करना प्रमुख है। अधिकांश चिकित्सालय एवं निजी नर्सिंग होम आबादी वाले क्षेत्रों में हैं। इनके कचरे के डिस्पोजल की अलग से व्यवस्था नहीं होने के कारण उपचार की यह व्यवस्था की गई है। प्रदेश में प्रतिदिन लगभग 11 टन अपशिष्ट का निष्पादन वैज्ञानिक तरीके से किया जा रहा है। राज्य के प्रमुख शहरों की वायु गुणवत्ता की सतत निगरानी के लिये उज्जैन, पीथमपुर, देवास, मण्डीदीप, सिंगरौली, दमोह, रीवा, इंदौर, सतना, रतलाम और मैहर में ऑनलाइन कन्टीन्यूअस एयर क्वालिटी मॉनीटरिंग सिस्टम की स्थापना कर वायु गुणवत्ता की मॉनीटरिंग की जा रही है। इसके अलावा 4 प्रमुख शहरों इंदौर, भोपाल, ग्वालियर एवं जबलपुर में जन-सामान्य को जागरूक करने के मकसद से राज्य की वायु गुणवत्ता दर्शाने वाले 9 बड़े डिस्प्ले बोर्ड लगाए गए हैं। पर्यावरण विभाग द्वारा प्रदेश की नदियों के 22 प्रदूषित स्थलों के क्लीनिंग प्रोग्राम की योजना अनुमोदित की गई है। इस पर शीघ्र काम शुरू किया जा रहा है। जीवनदायिनी नर्मदा नदी के ओंकारेश्वर तट पर और भोपाल स्थित बड़े तालाब की जलवायु गुणवत्ता मापन के लिये रियल टाइम कन्टीन्यूअस वाटर गुणवत्ता परिणाम डिस्प्ले बोर्ड के माध्यम से जन-साधारण के लिये प्रदर्शित किये जा रहे है।

अपने बच्चों को एलपीजी चलित वाहनों से स्कूल न भेजें परिवहन विभाग ने बच्चों के पालकों को दी सलाह

झाबुआ । अपने बच्चों कोे स्कूल भेजने के लिए वाहन का चयन करते समय यह जरूर देखे कि वाहन में समस्त सुरक्षा मानकों का पालन किया जा रहा है कि नहीं, साथ ही वाहन चालक के पास वैध ड्राईविंग लायसेंस तथा अन्य आवष्यक वैध दस्तावेज है अथवा नहीं। चंूकि एलपीजी गैस से संचालित वाहनों का प्रयोग स्कूली बच्चों के परिवहन हेतु पूर्णतः प्रतिबंधित है। अतः अभिभावकगण गैस से संचालित किसी भी वाहन से अपने बच्चों को स्कूल न भेजंे। बच्चों के पालकों से अपील की गई है कि वे मारूति वेन से बच्चों को बिल्कुल स्कूल न भेजे, तथा ऐसे किसी भी वाहन से बच्चों को स्कूल न भेजंे जो डबल फ्यूल से संचालित हो। अपने बच्चों को स्कूल भेजते समय यह ध्यान रखे कि आॅटो रिक्शा में 12 वर्ष से कम 5 छोटे अथवा 12 वर्ष से अधिक 3 बडे बच्चों से अधिक सवारी को न बैठाऐं। आॅटो में बच्चों को कदापि आगे वाहन चालक के पास नही बैठाएं। स्कूली बच्चों को ले जाते समय माननीय उच्च न्यायालय खण्डपीठ ग्वालियर व्दारा निर्देषों का पालन अनिवार्यतः किया जाएं। स्कूल प्रबंधन व्दारा बच्चे को स्कूल परिसर में ऐसे सुरक्षित स्थान पर ही वाहन में बिठाया व चढ़ाया जा रहा है, जहाॅं सीसीटीवी कैमरे लगे हों। यदि कोई भी वाहन चालक स्कूली बच्चों का असुरक्षित ढंग से परिवहन कर रहा है, तो उसी समय उसका फोटों खींचकर, तथा वाहन का रजिस्ट्रेषन नंबर नोटकर कार्यालय अतिरिक्त क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी को सूचना दे सकते है। आपकी सूचना सही पायी जाने पर वाहन चालक के ड्राईविंग लायसेंस तथा वाहन का पंजीयन के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जावेगी ।

विद्युत व्यवधान से संबंधित शिकायतों के निराकरण के लिए 1912 का उपयोग करें
              
झाबुआ । पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी, मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी और पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के द्वारा अपने-अपने कंपनी कार्य क्षेत्र में प्री-मानसून और मानसून के कारण अचानक आने वाले विद्युत व्यवधान के त्वरित निराकरण के लिए केन्द्रीय काल-सेंटर बनाए गए हैं। कॉल-सेंटर का टोल-फ्री नंबर 1912 है। कॉल-सेंटर में उपभोक्ता द्वारा शिकायत दर्ज कराते ही निराकरण तक हर स्तर पर मॉनीटरिंग की जा रही है। ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने कहा है कि विद्युत व्यवधान की शिकायतों के लिए 1912 के अलावा हर क्षेत्र में स्थानीय स्तर पर भी विद्युत व्यवधान के निराकरण के लिए संबंधित अधिकारियों-कर्मचारियों के मोबाइल नंबर, वाट्सऐप नंबर जारी किए गए हैं। उपभोक्ता इनका भी उपयोग कर सकते हैं। कॉल-सेंटर का नम्बर 1912 व्यस्त मिलने पर मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के जबलपुर, सागर, रीवा, शहडोल कमिश्नरी कार्य क्षेत्र के उपभोक्ता कॉल-सेंटर के नंबर 0761-2972020, 18002331266, मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के भोपाल, ग्वालियर, नर्मदापुरम, चंबल कमिश्नरी कार्यक्षेत्र के उपभोक्ता कॉल-सेंटर के नंबर 0755-2551222, 18002331912 तथा मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के इंदौर एवं उज्जैन कमिश्नरी कार्य क्षेत्र के बिजली उपभोक्ता कॉल-सेंटर के नंबर 0731-6700000, 18004191912 पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

लोक सेवा केन्द्रों में सुधार के लिए उप समिति गठित
             
झाबुआ । राज्य सरकार ने लोक सेवा केन्द्रों के संचालन की प्रक्रिया में आवश्यक सुधार के लिए गृह मंत्री श्री बाला बच्चन की अध्यक्षता में मं‍त्रि-परिषद उप-समिति का गठन किया है। समिति में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल और वित्त मंत्री श्री तरूण भनोत को सदस्य मनोनीत किया गया है। उप-समिति के संयोजक का दायित्व प्रमुख सचिव लोक सेवा प्रबंधन को सौंपा गया है।

बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित कर लगाई गई ड्यूटी
        
झाबुआ । जिले में अतिवृष्टि एवं प्राकृतिक प्रकोप से निपटने के लिये जिला स्तर पर कलेक्टर कार्यालय में बाढ़ नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। नियंत्रण कक्ष का दूरभाष क्रमांक 07392-243319 है। नियंत्रण कक्ष में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने शासकीय सेवको की ड्यूटी लगाई जाने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है। नियंत्रण कक्ष में अधीक्षक भू-अभिलेख झाबुआ के शासकीय सेवक 25 जून तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, जिला आबकारी अधिकारी झाबुआ के शासकीय सेवक 25 जून से 6 जुलाई तके प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, सहायक आुयक्त आदिवासी विभाग झाबुआ के शासकीय सेवक 6 जुलाई से 17 जुलाई तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, मुख्य कार्यपालन अधिकारी झाबुआ जनपद के शासकीय सेवक 17 जुलाई से 28 जुलाई तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन  क्रमांक 1 झाबुआ के शासकीय सेवक 28 जुलाई से 09 अगस्त तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, परियोजना प्रशासक एकीकृत आदि.परि. झाबुआ के शासकीय सेवक 09 अगस्त से  19 अगस्त तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग झाबुआ  के शासकीय सेवक 19 अगस्त से 30 अगस्त तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, उप संचालक पशु चि.कि. सेवा झाबुआ  के शासकीय सेवक 30 अगस्त से 10 सितम्बर तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, उप संचालक कृषि विभाग झाबुआ  के शासकीय सेवक 10 सितम्बर से 21 सितम्बर तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक, जिला महिला एवं बाल विकास झाबुआ के शासकीय सेवक 21 सितम्बर से 30 सितम्बर तक प्रातः 8.00 बजे से प्रातः 8.00 बजे तक बाढ़ नियंत्रण कक्ष में ड्यूटी करेगे। ड्यूटीरत कर्मचारी संधारित उपस्थिति पंजी में अपने हस्ताक्षर करेगे तथा प्राप्त दूरभाष संदेश/निर्देश इस हेतु रखी गई पंजी में अंकित करेगे। विशेष परिस्थिति में दूरभाष से नियंत्रण कक्ष के प्रभारी अधिकारी भू-अभिलेख झाबुआ को सूचित करेगे। प्राप्त संदेश सर्व संबंधितो को सूचित करेगे, तथा दूरभाष संदेश/निर्देश पंजी में दर्ज करेगे।

मुख्यमंत्री कमलनाथ 24 जून को झाबुआ में विवाह/निकाह सम्मेलन मे होगंे सम्मिलित 
            
झाबुआ । प्रदेष के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ 24 जून को झाबुआ जिले के भ्रमण पर रहेंगे। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ 24 जून को प्रातः 11ः00 बजे भोपाल से प्रस्थान कर दोपहर 12ः15 बजे झाबुआ पहुचेगे। उसके बाद 12ः30 बजे उत्कृष्ट विद्यालय झाबुआ मे स्कूल चले हम अभियान कार्यक्रम में सहभागिता करेगे।तत्पष्चात दोपहर 1ः15 बजे स्थानीय पोलोटेलिक काॅलेज झाबुआ के परिसर मे आयोजित मुख्यमत्रंी कन्या/निकाह योजना अंर्तगत आयोजित विवाह सम्मेलन मे सम्मिलित होगे। उसके बाद निर्माण कार्याे का लोकार्पण/भूमिपूजन करेगे। उसके बाद र्सिर्कट हाॅउस पर जनप्रतिनिधियो की बैठक लेगे। तत्पष्चात् झाबुआ से सायः 05ः00 बजे भोपाल के लिये प्रस्थान करेंगे।

दस्तक अभियान के तहत कार्यकर्ता घर-घर जाकर दे रही है स्वास्थ्य सेवाए
ं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बारीया द्वारा दस्तक अभियान की समीक्षा की गई
झाबुआ । वर्ष 2019-20 में ‘‘दस्तक अभियान’’ का प्रथम चरण सोमवार 10 जून से जिले में चलाया जा रहा है स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व्दारा जन्म से पांच वर्ष तक के बच्चे वाले परिवारों के घर-घर जाकर दस्तक अभियान अंतर्गत दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवायें बच्चों को दी जा रही है। साथ ही स्वास्थ्य कार्यकर्ता व ग्राम की आशा व आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व्दारा महिलाओ को एकत्रित करके अभियान संबंधी व स्वास्थ्य की जानकारी देकर परिवारों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया जा रहा है। आज मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बारीया द्वारा दस्तक अभियान की समीक्षा की गई एवं आवष्यक निर्देष दिये गये। बैठक मे आगामी कार्ययोजना के सबंध मे प्रषिक्षण भी दिया गया।

एडीएम श्री चैहान ने किया अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण
        
झाबुआ । एडीएम श्री चैहान ने आज जिला चिकित्सालय झाबुआ का आकस्मिक निरीक्षण किया एवं जिला चिकित्सालय मे साफ सफाई व्यवस्था को ठीक करवाने के निर्देष दिये। साथ ही चिकित्सालय मे पानी की व्यवस्था सूचारू रखने के निर्देष दिये। निरीक्षण के दौरान उनके साथ मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बारीया, एसडीएम श्री परते सहित षासकीय सेवक उपस्थित थे।

जिले में 24 घण्टो मे 9.2 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज

झाबुआ । जिले में इस वर्ष अब तक औसतन 20.8 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी है। विगत 24 घण्टो मे औसत 9.2 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापक केन्द्र झाबुआ में 1.0, रामा में 0.0 मि.मी., पेटलावद मे नील, थांदला मे 31.4 मि.मी., मेघनगर मे नील, राणापुर मे 23.0 मि.मी वर्षा दर्ज की गई।

तहसील कार्यालयो मे वाहन किराये पर लेने के लिये निविदा आमंत्रित

झाबुआ । जिले के तहसील कार्यालयों झाबुआ/रानापुर/रामा मेघनगर/थांदला/पेटलावद में कार्यरत तहसीलदारों/अतिरिक्त तहसीलदारों के लिये वाहन की अधिकतम कीमत रूपये 6.50 लाख के अन्तर्गत महेन्द्रा बोलेरो वाहन के समकक्ष वाहन मासिक किराये पर लगाने हेतु एक वर्ष तक की अवधि के लिए इच्छुक निविदाकारो से खुली निविदाऐ 29 जून 2019 को साय 4.00 बजे तक आमंत्रित की गई है। नियम एवं षर्तो की जानकारी के लिये कलेक्टर कार्यालय नजारत षाखा में संपर्क कर सकते है। 

आन्नदको का सम्मेलन 26 जून को

झाबुआ । जिले में म.प्र. षासन अध्यात्म विभाग के अधिन राज्य आनंद संस्थान में पंजीकृत आनंदको का एक दिवसीय षिविर सम्मेलन होगा। अपने जीवन को तनाव मुक्त रखने व आनंद के पलो का एहसास दूसरो की मदद करने में खुषी जैसे गतिविधि आधारित कार्यक्रम होगा। कार्यक्रम को आयोजन 26 जून 2019 को दस बजे से षाम पांच बजे तक रहेगा। संभाग समन्वयक के.बी मंसारे ने बताया कि संभाग से मास्टर टैनर आनंदम सहयोगीयो का पांच सदस्य दल षिविर संचालन करेगे। जिला प्रषासन के निर्देषानुसार षिविर संपन्न होगा।

स्कूलों में  प्रवेश हेतु आधार कार्ड अनिवार्य नही हैं
          
झाबुआ । जिले  में  नविन सत्र के लिए  शासकीय एवं प्राइवेट स्कूलों में प्रवेश का प्रारम्भ हो चुके हैं।  स्कूलों  में  प्रवेश हेतु  छात्रों के आधार कार्ड मांगे जा रहे है। परन्तु स्कूलों में  प्रवेश हेतु आधार कार्ड अनिवार्य नही हैं द्य यदि किसी  भी शासकीय एवं प्राइवेट स्कूलों  में  आधार कार्ड  के कारण  छात्रों को  प्रवेश नहीं दिया जाता हैंए तो उस शासकीय   स्कूल  की शिकायत आदिम जाती कल्याण विभाग झाबुआ  एवं  प्राइवेट स्कूल  की कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी झाबुआ  को करे द्य एवं आधार से सम्बंधित किसी भी प्रकार की समस्या हेतु जिला ई गवर्नेंस प्रबंधक श्री धर्मेन्द्र सिंह मीना ;7509129772  से संपर्क करे

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...