बिहार : मिट्टी खनन माफियाओं की वजह से हो रही है आये-दिन दुर्घटना,उजड़ रहा है परिवार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 20 जून 2019

बिहार : मिट्टी खनन माफियाओं की वजह से हो रही है आये-दिन दुर्घटना,उजड़ रहा है परिवार

land-mafia-begusarai
अरुण कुमार (आर्यावर्त) तेघड़ा थाना क्षेत्र के रातगांंव पंचायत के विसौआ में बुधवार की सुबह 9वींं कक्षा केे छात्र व सुरेश कुमार के पुत्र नीतीश कुमार (15वर्ष) की मौत हाइवा के ठोकर लगने से मौके पर ही हो गई।वह घर से गेहूं पिसवाने  आँटा चक्की जहाँ गेंहू,मक्का आदि पिसाई की  जाती है,जा रहा था।घटना के बाद मृतक के परिवार में कोहराम मच गया।चीख व पुकार से पूरे गांंव में मातम का माहौल छाया हुआ है।घटना से आक्रोशित भीड़ ने दो हाइवा गाड़ी को आग के हवाले करते हुए पिढ़ौली चौक के पास एनएच-28 व घटनास्थल के चौक को जाम कर दिया।जानकारी  मिलते ही तेघड़ा एसडीओ डॉ०निशांत, एसडीपीओ डॉ०आशीष आनंद, थानाध्यक्ष शरत कुमार, फुलबड़िया थानाध्यक्ष विवेक भारती सहित भारी संख्या में महिला-पुरुष पुलिस बल वहां पहुंचे।पदाधिकारियों ने आक्रोशित लोगों को समझाने की कोशिश की, लेकिन लोगों का गुस्सा शांत नहीं हो रहा था। लोगों का कहना था कि जबतक गंगा के गर्भ से अवैध खनन का धंधा बंद नहीं होगा,तब-तक दुर्घटना का सिलसिला जारी रहेगा।इसलिए अवैध खनन को अविलंब रोका जाय।

छोड़े गए आंसू गैस के गोले, रोड़ेबाजी में कई घायल :-
 आक्रोशित भीड़ को अनियंत्रित होते देख मौके पर मौजूद पुलिस पदाधिकारियों ने कई थानों की पुलिस,दंगा नियंत्रण बल को भी बुला लिया ।इस बीच पुलिस और आक्रोशित लोगों के बीच काफी जोरदार झड़प शुरू हो गई.।आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर जमकर रोड़ेबाजी शुरू कर दी।स्थिति पर नियंत्रण पाने को लेकर पुलिस ने आंसू गैस छोड़ने शुरू कर दिये,इसके बाद भीड़ तीतर- बितर हो गई।इस दौरान कई बार पुलिस और आक्रोशित लोगों के बीच झड़प हुई।पुलिस ने जब सख्ती बरतनी शुरू की तो हालात काबू में आया।रोड़ेबाजी की घटना में पुलिस के कई महिला व पुरुष बल को काफी चोटें भी आई है।घटना के कारण हुए घायलों में विजय बैठा (25),बाल्मीकि प्रसाद (58),खुशबू कुमारी (30),शिल्पी कुमारी (30),मनीता कुमारी (32),प्रियंका कुमारी (29)  इलाजरत हैं, जिनका इलाज तेघड़ा पीएचसी में चल रहा था।इसके अलावा कई जवानों को गंभीर चोटें लगी है।हालात पर काबू पानेे के बाद एनएच 28 पर लगे जाम को किसी तरह हटाया गया।इस बीच कई घंटे तक सड़क के दोनों किनारे छोटी-बड़ी गाड़ियों की लंबी कतार लग गई।जिससे लोगों को चिलचिलाती धूप और गर्मी में घोर परेशानियों का सामना करना पड़ा।

जन प्रतिनिधियों ने किया सहयोग :-
पूर्व विधायक कॉमरेड राजेन्द्र सिंह, मुखिया सुमन देवी, मुखिया प्रभात कुमार उर्फ टिकीवाला, पूर्व मुखिया भुल्लू सिंह, जिला परिषद सदस्य रामनिवास चौधरी, राजद नेता मो. मकबूल आलम ने आक्रोशित लोगों को समझाने-बुझाने और हालत को नियंत्रित करवाने में पुलिस प्रशासन की पूरी मदद की।बाद में पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल, बेगूसराय भेज दिया।

गंगा में अवैध खनन से भाड़ी वाहनों का परिचालन से बढ़ रही है दुर्घटना :-
आक्रोशित लोगों का आरोप है कि दबंगों द्वारा गंगा नदी से अवैध रूप से मिट्टी कटाई का खेल चल रहा है।खनन विभाग, पुलिस व दबंगों के गठजोड़ से प्रतिदिन लाखों रुपये का न्यारा-व्यारा का खेल वर्षों से जारी है।जिसकी शिकायत तेघड़ा थानाध्यक्ष व डीएसपी से की गई थी, लेकिन इस कारण कार्रवाई नहीं की गई।क्योंकि इससे लाखो रुपये की कमाई रुक जाती।लोगों ने बताया कि दिनभर सैकड़ों गाड़ियां गंगा नदी से अवैध रूप से मिट्टी काटकर ले जाती है।इस कारण गांव में हमेशा ट्रैफिक की समस्या तो रहती ही है, अक्सर लोग दुर्घटना के शिकार भी होते हैं।दबंगों को मिट्टी काटने से रोका जाता है तो उसके विरोध में दहशत फैलाने के लिए फायरिंग की जाती है जिससे लोग दहशत में आ जाते हैं,और कुछ बोल नहीं पाते हैं।नतीजा सबके सामने है और सब भुगत रहे हैं।

डीपीएस तेघड़ा में नौवीं कक्षा का था छात्र 
लोगों ने बताया कि मृतक नीतीश डीपीएस तेघड़ा में नौवीं कक्षा में पढ़ता था।तीन बहन के बाद अपने मांं-बाप का इकलौता पुत्र पढ़ने में होनहार था।इस घटना के बाद मृतक के माता पिता और परिवार के लोगों का बुरा हाल हो गया है मृतक के पिता, मांं, एवं बहन रोते-रोते बार-बार बेहोश हो जा रहे हैं।

25 ज्ञात व सौ से अधिक अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज :-
विसौआ में हाइवा को जलाने, पुलिस पर हमला करने, सड़क जाम कर आवागमन बाधित करनेआदि को लेकर अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की जा रही है।जिसमें 25 नामजद सहित सौ से अधिक अज्ञात के विरुद्ध मामला दर्ज किया जा रहा है।एसडीओ डॉ० निशांत ने बताया कि उक्त घटना के संबंध में विधि संगत कार्रवाई की जाएगी और मृतक के परिवार को मुआवजा दिलाने का प्रयास किया जाएगा।किन्तु इस अवैध कार्य को रोका नहीं जाएगा,मुुआवजे बात की जाएगी पर अपरााधीक कार्यों पर कोई ध्यान नहीं।

हंगामा के बाद भी माफिया- पदाधिकारी गठजोड़ पर पर कार्रवाई नहीं
विसौआ से लेकर दुलारपुर चौक तक भड़के आक्रोश के मूल विन्दुओं को गायब कर दिये जाने का चर्चा आम हो रही है।खनन माफिया, खनन विभाग–शिकायती आवेदन पर कुंडली मारकर बैठे पुलिस पदाधिकारी को हंगामा के बाद भी बचाने की तैयारी कर ली गई है।कहते हैं कि गंगा से अवैध मिट्टी कटाई का कमीशन काफी उपर तक जाता है. इस कारण न तो कोई विधायक सदन में मामले को उठाता और न बड़े अधिकारी कुछ करते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...