विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 10 जून 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 जून

हस्तषिल्प प्रदर्षनी 14 तक रहेगी जारी

विदिषा-10 जून 2019/ भारत सरकार के वस्त्र मंत्रालय के अधीन विकास आयुक्त कार्यालय (हस्तषिल्प) नई दिल्ली के मार्गदर्षी सहयोग से ज्ञानपथ षिक्षा एवं समाज कल्याण समिति भोपाल द्वारा स्थानीय स्वर्णकार काॅलोनी स्थित पंजाबी धर्मषाला में हस्तषिल्प प्रदर्षनी आयोजित की गई है। 5 जून से जारी यह प्रदर्षनी 14 जून तक प्रतिदिन दोपहर 12 बजे से रात्रि 9 बजे तक निरंतर खुली रहेगी। इस प्रदर्षनी में स्व-सहायता समूहों द्वारा उत्पादित वस्तुएं, जैसे जूट बैग, जरी वर्क, एम्ब्रायड्री उत्पाद आदि अवलोकन तथा क्रय किए जाने हेतु उपलब्ध हैं। ज्ञानपथ षिक्षा एवं समाज कल्याण समिति भोपाल के अध्यक्ष आईएस चैहान ने सबसे इस प्रदर्षनी का अवलोकन तथा स्व-सहायता समूहों द्वारा उत्पादित वस्तुएं क्रय करने का आग्रह किया है। 

कांग्रेस सरकार ने वचन निभाया, किसान कर्ज माफी का दूसरा चरण आया, 
बकायादार किसान आज से सहकारी समितियों से ले सकेंगे खाद बीजः- भार्गव 
विदिशाः- जय किसान फसल ऋणमाफी योजना के अंतर्गत दूसरे चरण में विदिशा जिले के किसान ऋणमाफी का लाभ ले सकेंगे विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने बताया कि दूसरे चरण की नीति के अनुसार जय किसान फसल ऋणमाफी योजना में सभी पात्र कृषक जिनका नाम हरी व सफेद सूची में है वे सभी कृषक नया ऋण प्राप्त करने के हकदार हैं बशर्ते ऋणमाफी की राशि 2.00 लाख तक या इससे कम है। यदि 2.00 लाख से अधिक की राशि ऋणमाफी सूची में है तो 2.00 लाख के ऊपर की राशि कृषक द्वारा जमा कराई जाकर नया ऋण प्राप्त कर सकेगा। यह ऋण अल्पकालीन कृषि व परिवर्तित कृषि ऋण दोनो हो सकते हैं। ऋणमाफी की दिनांक 01 अप्रैल 2018 से 31 मार्च 2019 तक जो भी फसल ऋण बांटे गये है वह कृषक 15 जून 2019 तक नया ऋण प्राप्त कर सकते है, यदि कृषक के पास ऋण शेष के बरावर राशि उपलब्ध नहीं है तो वह खाद, बीज, बीमा व अन्य राशियाॅ जो नगद ऋण के अतिरिक्त है के बरावर राशि जमा कर अपना के.सी.सी. ऋण का नवीनीकरण करा सकता है, जिससे 0 प्रतिशत ब्याज का लाभ नियमित रहेगा। ऋणमाफी के समस्त एन.पी.ए. खाते जो कि माफ कर दिये गये है, वह सारे कृषक संबंधित समितियों से नवीन ऋण प्राप्त करने की पात्रता रखते है। वह समिति में आवश्यक दस्तावेजो पर हस्ताक्षर करके नवीन ऋण प्राप्त कर सकते है।

दस्तक अभियान का शुभांरभ

vidisha news
प्रदेशयापी दस्तक अभियान का विदिशा जिले में आज दस जून से शुरूआत हुई है। यह अभियान बीस जुलाई तक क्रियान्वित किया जाएगा। अभियान को क्रियान्वित करने वाला अमला डोर-टू-डोर जाकर पांच वर्ष आयु तक के बच्चों में कुपोषण, खून की कमी, निमोनिया, दस्त रोग, जन्मजात विकृृति का पता लगाएगा। वही विटामिन ए की खुराक, जिंक की गोलिया देने का कार्य करेगा। डोर-टू-डोर सम्पर्क के दौरान बच्चों के अभिभावकों एवं माता-पिता को उचित आहार एवं साफ सफाई आदि की मूलभूत जानकारी देकर उनका पालन करने की सलाह देगा।  दस्तक अभियान के क्रियान्वयन में आमजनों का अधिक से अधिक सहयोग मिले के उद्वेश्य से आज एक दिवसीय मीडिया कार्यशाला का स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जिला चिकित्सालय परिसर के ब्लड बैंक के सभाकक्ष में आयोजित की गई थी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ किशोर नागवंशी ने अभियान के उद्वेश्यों को रेखांकित करते हुए कहा कि मीडिया के द्वारा दिया गया संदेश अभियान के क्रियान्वयन में मदद मिलती है। उन्होंने बीस जुलाई तक डोर-टू-डोर किए जाने वाले सम्पर्क के दरिम्यान अमले द्वारा किन-किन कार्यो का सम्पादन किया जाएगा कि बिन्दुवार जानकारी दी।  जिला टीकाकरण अधिकारी श्री केएस अहिरवार ने बताया कि दस्तक अभियान के तहत पांच वर्ष तक के दो लाख आठ हजार बच्चों से सम्पर्क किया जाएगा। इसके उनके माता-पिता से चर्चा कर यह पता लगाना है कि उनके बच्चे किसी भी प्रकार की गंभीर बीमारी से ग्रस्त तो नही है। अभियान के क्रियान्वयन हेतु स्वास्थ्य विभाग के आशा कार्यकर्ता और एएनएम को प्रशिक्षित किया गया है वही आंगनबाडी केन्द्रों की कार्यकर्ता एवं सहायिका भी इस अभियान के क्रियान्वयन में अपना सहयोग दे रही है।  जिले में कुल 230 टीमे गठित की गई है जो डोर-टू-डोर सम्पर्क करेंगी। प्रत्येक टीम के लिए किट के आधार पर प्रथम दृष्टया में पूर्व उल्लेखित गंभीर बीमारियों का चिन्हांकन करने हेतु प्रदाय की गई है। कुल टीमों मे से तीस टीम शहरी क्षेत्रोें में अभियान अवधि के दौरान भ्रमण करेंगी शेष दो सौ टीमे ग्र्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण करेंगी।  दस्तक अभियान के नोडल अधिकारी डाॅ एके उपाध्याय ने बताया कि अभियान के उद्वेश्यों की प्राप्ति हेतु सम्पूर्ण जिले को छोटे-छोटे क्षेत्र में विभक्त किया गया है और प्रत्येक क्षेत्र के लिए दल को जबावदेंही सौंपी गई है। दल किस दिन संबंधित क्षेत्र का भ्रमण करेगा के लिए माइक्रोप्लान तैयार किया गया है जिसकी जानकारी विकासखण्ड एवं ग्राम स्तर पर उपलब्ध कराई गई है। ग्रामों की चैपालो पर पहंुचकर दल दस्तक अभियान के क्रियान्वयन, उद्वेश्य और होने वाले फायदों की जानकारी से अवगत कराएगा। 

कंट्रोल रूम
दस्तक अभियान के नोडल अधिकारी श्री एके उपाध्याय ने बताया कि अभियान अवधि के दरम्यिान संबंधित दलो के पहुंचने की सूचनाएं प्राप्ति तथा आमजनों से अभियान के संबंध में फीडबैक लेने अथवा शिकायते प्राप्ति के लिए जिला मुख्यालय एवं विकासखण्डु मुख्यालय पर कंट्रोल रूम गठित किए गए है। जिला मुख्यालय पर बनाए गए कंट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07592-232047 एवं नोडल अधिकारी के मोबाइल नम्बर 9425641315 पर सूचित कर सकते है। 

बैंक अदालत का आयोजन 

vidisha news
भारतीय स्टेट बैंक विदिशा में एक दिवसीय बैंक अदालत का आयोजन सोमवार दस जून को किया गया था। स्टेट बैंक की कृषि विकास शाखा में लीड बैंक आफीसर श्री दिलीप सीरवानी ने बैंक अदालत के आयोजन उद्वेश्यों पर गहन प्रकाश डाला।  लीड बैंक आफीसर श्री सीरवानी ने कहा कि बैंको की ऋण वसूली के मामले में आरसीसी प्रकरणो में राजस्व अधिकारियों का सहयोग प्राप्त कर वसूली की जा रही है और आॅन लाइन आसीसी दर्ज करने का कार्य क्रियान्वित है।  बैंक अदालत में 56 किसानों ने समझौता प्रस्ताव के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की। इस दौरान चार किसानों द्वारा लगभग सात लाख रूपए की राशि के समझौते प्रस्ताव पर सहमति पत्र प्रदाय किए गए है। इस दौरान विदिशा तहसीलदार द्वारा आरसीसी के माध्यम से खराब प्रकरणों मेें वसूली के लिए चूककर्ता ऋणियों की सूची उपलब्ध कराने के संबंध में मार्गदर्शन दिया गया है। 

श्रम सेवा पोर्टल पर प्रावीण्य सूची जारी

मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार मण्डल द्वारा संचालित सुपर 5000 (दसवीं एवं बारहवीं) योजनातंर्गत हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी परीक्षा 2018 की प्रावीण्य सूची श्रम सेवा पोर्टल www.labour.mp.gov.in/knowledgesharing/public/Allcirculars.aspx पर अपलोड कर दी गई है।  जिला श्रम पदाधिकारी श्री सुधीश कमल ने उक्त जानकारी देते हुए प्रावीण्य सूची में शामिल छात्र-छात्राओं को योजना का लाभ लेने हेतु कार्यालय श्रम पदाधिकारी, राजीवनगर, विदिशा में कार्यालयीन दिवसों अवधि में आवेदन प्रस्तुत कर सकते है। 

एसडीएम द्वारा कृषि उपज मंडी का औचक निरीक्षण मंडी संबंधी समस्याओं से कभी भी अवगत करा सकते है

vidisha news
एसडीएम श्री लोकेन्द्र सिंह सरल ने आज दोपहर में अचानक विदिशा कृषि उपज मंडी में पहुंचकर किसानों को शासन के मापदण्ड अनुसार मुहैया कराई जाने वाली सुविधाओं का जायजा लिया वही मंडी सचिव के कक्ष में निर्माण कार्यो की समीक्षा की।  एसडीएम श्री सरल ने मंडी सचिव श्री कमल कुमार वगवैया को स्पष्ट निर्देश दिए कि किसानों को ग्रीष्मकाल के दौरान ठंडे पेयजल की आपूर्ति सतत बनी रहें। तुलाई के दौरान किसानों को बैठने के लिए छाया के प्रबंध किए जाएं। एसडीएम ने किसानों के लिए किए गए पेयजल आपूर्ति प्रबंध पर असंतोष जाहिर किया वही शौचालयों में साफ सफाई व पानी की सप्लाई व्यवस्था को ठीक दुरूस्त कराने के निर्देश दिए है।  एसडीएम श्री लोकेन्द्र सिंह सरल ने किसानों से संवाद स्थापित कर उनकी मूलभूत समस्याओं को सुना। यहां किसानो का आश्वस्त कराते हुए उन्होंने कहा कि मंडी से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या परलिक्षित होती है तो अविलम्ब मेरी जानकारी में ला सकते है। एसडीएम द्वारा मंडी निधि से कराए जा रहे निर्माण कार्यो की भी जानकारी प्राप्त की गई है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...