पूर्णिया : संतुलित उर्वरक प्रयोग करने की किसानों को देंगे सलाह : डाॅ पारसनाथ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 21 जून 2019

पूर्णिया : संतुलित उर्वरक प्रयोग करने की किसानों को देंगे सलाह : डाॅ पारसनाथ

will-work-for-farmer
पूर्णिया : भोला पासवान शास्त्री कृषि महाविद्यालय का 9 वां स्थापना दिवस सह प्रमाण पत्र वितरण समारोह का आयोजन महाविद्यालय के सभागार में किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत आगत अतिथियों द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री स्व भोला पासवान शास्त्री जी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर की गई। डाॅ पारसनाथ, सह अधिष्ठाता सह प्राचार्य एवं मंचासीन सभी आगत अतिथियों  डाॅ बीके मिश्रा, डाॅ सीमा कुमारी, डाॅ सुशील कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की विधिवत शुरूआत की। इस अवसर पर सुमन कल्यानी, डाॅ रूबी साहा एवं अनुपम कुमारी के द्वारा सभी आगत अतिथियों को पुष्पगुच्छ एवं अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। प्राचार्य ने भोला पासवान शास्त्री कृषि महाविद्यालय में चल रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम के बारे में विस्तृत जानकारी दी। प्रमाण पत्र वितरण एवं समापन समारोह के मुख्य अतिथि प्राचार्य ने प्रशिक्षणार्थियों से फीड बैक लिया। इस दौरान प्रशिक्षणार्थियों ने कहा कि समेकित पोषक तत्व प्रबंधन के साथ साथ समेकित खरपतवार, कीट एवं पादप रोग नाशी विषयों को भी शामिल किया जाए। ताकि हमें कृषि उपादान विक्रेताओं को रासायनिक उर्वरकों के साथ साथ खरपतवार, कीट एवं पादप रोग नाशी दवाओं को विक्र्रय करने का लाईसेंस भी मिल सकेगा। किसानों को एक ही दुकान से कृषि एवं कृषि से संबंधित सभी तरह के कृषि उपादान उपलब्ध कराना संभव हो पाएगा। प्राचार्य ने कहा कि समेकित पोषक तत्व प्रबंधन विषय पर जानकारी प्राप्त करने के बाद आप सभी की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि भारत सरकार के द्वारा बनाए गए नियम के अनुसार खाद एवं उर्वरक का संतुलित प्रयोग करने के लिए किसानों को उचित सलाह प्रदान की जाए। प्राचार्य ने स्थापना दिवस मनाने की परिपाटी नवस्थापित महाविद्यालयों में शुरू करने की अपनी सोच को रखते हुए कहा की शुरूआत के चार पांच वर्ष महाविद्यालय को सुचारू रूप से चलाने में लग जाते हैं। उसके बाद स्थापना दिवस प्रत्येक वर्ष मनाने से हम सभी को यह ज्ञात होता है कि गत वर्ष हम कहां थे और इस वर्ष विकास कर हम कहां पहुंचे। 

...30 प्रतिभागियों को किया गया सम्मानित : 
प्राचार्य एवं मंचासीन सभी आगत अतिथियों डॉ बीके मिश्रा, डाॅ सीमा कुमारी, डाॅ सुशील कुमार सिंह द्वारा महाविद्यालय में चलाए जा रहे कृषि उपादान विक्रेताओं के लिए समेकित पोषक तत्व प्रबंधन विषय पर 15 दिवसीय सर्टिफिकेट कोर्स में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए पूर्णिया, अररिया एवं मधेपुरा के कुल 30 प्रतिभागियों में भवेश प्रसाद सिंह, मो एजाजुल हसन, शिवम कुमार सिंह, आलोक कुमार, प्रिंस कुमार पंकज, सत्यम कुमार, मिथिलेश कुमार, पिंटु कुमार, ख्वाजा एहरार अहमद, सोनू कुमार, सौरभ कुमार सिंह, नीरज कुमार, श्याम कुमार साहा, रमेश कुमार रमण, ओमप्रकाश कुमार, प्रमोद कुमार, गोल्डेन कुमार, संदीप कुमार, मो जिशान इनामी, संजय कुमार पांडेय, जितेंद्र कुमार गुप्ता, विकास कुमार झा व धीरेंद्र कुमार आदि एवं कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

...इनकी रही उपस्थिति : 
इस अवसर पर महाविद्यालय के अन्य वैज्ञानिक डाॅ जनार्दन प्रसाद, एसपी सिन्हा, ई मोहन कुमार सिन्हा, डाॅ राधेश्याम, डाॅ रवि केशरी, डाॅ सूरज प्रकाश, मणिभूषण, डाॅ तपन गोराई, डाॅ एनके शर्मा, जयप्रकाश प्रसाद, माचा उदय कुमार एवं कर्मचारियों ने अपना सहयोग प्रदान किया। मंच का संचालन महाविद्यालय के वैज्ञानिक डाॅ रणवीर कुमार एवं धन्यवाद ज्ञापन डाॅ जेएन श्रीवास्तव द्वारा किया। संध्या वेला में सांस्कृतिक कार्यक्रम में हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सभी विशिष्ठ अतिथियों के साथ साथ सभी शिक्षक, कर्मचारी एवं छात्र छात्राओं ने भाग लिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...