सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 13 नवंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 नवंबर 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 13 नवंबर

नपाध्यक्ष श्रीमति अरोरा के निर्देश पर सीएमओ श्रीवास्तव कांग्रेस सेवादल जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले 
नेहरू पार्क की गदगी को लेकर गुमठिधारियों को सफाई बनाए रखने के दिए निर्देश
sehore news
सीहोर। पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती को लेकर नगर पालिका परिषद के द्वारा बस स्टेंड स्थित नेहरू पार्क में जीणोद्धार को लेकर नगर पालिका अध्यक्ष अमिता जसपाल अरोरा के निर्देश पर सीएमओ संदीप श्रीवास्तव के द्वारा युद्ध स्तर पर पार्क को सुसर्जित कर विकसित किया जा रहा है।  पार्क में ट्रालियों से मिटटी तथा गिटटी डालकर जमीन को समतल कर दिया गया है नेहरू जयंती को देखते हुए  नगर पालिका प्रशासन के द्वारा नागरिकों को ध्यान में रखते हुए जयंती स्थल पर चाकचौबंद व्यवस्था करा दी गई है।  पार्क अंदर गुलाब के पौधे यात्रिायों के लिए कुर्सियां तथा अन्य कार्यो के टेंडर कर अधिकारियों को निर्देश दिए गए है। पार्क हित में सीएमओ श्री श्रीवास्तव एवं पार्षद पति सेवादल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले, स्वास्थ्य अधिकारी दीपक देवगड़े, समाजसेवी मांगीलाल टिमरई, डॉ जितेंद्र चंदगवंशी, एंटी करप्शन के राज्य सचिव जितेंद्र सिंह, सफाई दरोगा राकेश टांक,छुटटन चावरिया, स्टोर किपर मंजूर भाई द्वारा पार्क के आपपास गुमठिधारियों को बुलाकर समझाइश दी गई.  अगर नेहरू पार्क में आप लोगों के एवं ग्राहकों के द्वारा पार्क के अंदर शराब की खाली बोतल पानी के पाउज अन्य किसी प्रकार से गंदगी पाई जाती है तो आप जिम्मेदार होगे। शीघ्र गुमठियों को हटा दिया जाएगा। सीएमओ के द्वारा सिटी कोतवाली टीआई मनोज मिश्रा से चर्चा कर रात के समय पुलिस व्यवस्था की मांग की गई। 

“प्रेम विस्तार है और स्वार्थ संकुचन” (विशेष लेख)  

मानव जीवन के प्रत्येक क्षण में दिन प्रतिदिन हमारा सामना विभिन्न पहलुओं से होता है। कुछ जीवन के घटक जैसे सुख, दु:ख, वत्सल, क्रोध, करुणा, सद्भाव और वीभत्स आदि हमारे ह्रदय को पूर्ण रूप से प्रभावित करते है। इन घटकों के कारण ही हमारा आन्तरिक एवं बाह्य जीवन, मस्तिष्क में उत्पन्न विचार एवं कार्यशैली प्रभावित होते हैं। इन घटकों अथवा जीवन के कुछ विभिन्न महत्वपूर्ण पहलुओं में सम्मिलित हैं “प्रेम” एवं “स्वार्थ”।

“प्रेम के पथ पर चलकर हो, मानवता का विस्तार।
स्वार्थ से मिथ्या जीवन हो, सुख की घटे कतार॥

आदिकाल से लेकर अनंतकाल तक प्रेम वास्तव है, फलीभूत है, सत्य एवं अटल है। जीवन की कसौटी पर बल देने वाला तत्व प्रेम है, जीवन का महत्त्व प्रेम है। मानव, पशु - पक्षी, पेड़-पौधे, पर्यावरण, प्रकृति एवं समस्त संसार एक ही बंधन में बंधे हुए हैं। ईश्वर हो चाहे मानव सभी प्रेम के साक्षी हैं।प्रत्येक सम्बन्ध के नाम में अंतर हो सकता है लेकिन इनमें निहित भाव प्रेम ही है।

हांथों में वो पुष्प सजाए, जिसकी खातिर आती है।
कान्हा का वो प्रेम ही है जो, गोपियाँ रास रचाती है॥

इस प्रसंग में श्री कृष्ण से गोपियों के निस्वार्थ प्रेम को वर्णित किया गया है। ठीक इसी प्रकार प्रेम अनेक रूपों में होता है चाहे वह माँ और संतान का हो, भार्या और आर्य का, भ्राता और भगिनी का या फिर मानव और प्रकृति का। प्रेम की सार्थकता में ही जीवन का आनंद है। जीवन की वास्तविकता में स्वार्थ भी उसी तरह से भागीदार है जिस प्रकार प्रेम। मानवता को परे रखकर स्वयं का कार्य सिद्ध करने की क्रिया या विचार ही स्वार्थ का मूल अर्थ है। स्वार्थ परोपकार का पर्याय है, जिसकी प्रवृत्ति में मनुष्य लोभ, नकारात्मकता और घृणा का शिकार होता है। कहीं न कहीं मानवता पर कलंक के समान व्याप्त यह स्वार्थ दु:खों की असीमित श्रंख्लाओं का एकमात्र कारण है।

जब मानव के जीवन में, स्वार्थ प्रबल हो जाता है।
प्रेम-करुणा और सद्भाव, अर्थहीन हो जाता है॥

प्रेम और स्वार्थ एक दूसरे के पूरक हैं। स्वार्थ यदि अंतर्मन और मस्तिष्क के भावों को दूषित कर अनुचित क्रियाएँ कराता है, तो वहीँ दूसरी और प्रेम विचलित मन एवं मस्तिष्क को उचित प्रोत्साहन एवं आत्मबल प्रदान करता है। वर्तमान परिवेश में स्वार्थ नें वृहद् रूप में प्रेम को भी अछूता नहीं रहने दिया। स्वार्थ की परछाई ने प्रेम को भी काला कर दिया है। अनेक युवक और युवतियों का आपस में प्रेम शारीरिक संबंधों के स्वार्थ में लिप्त हुआ है, तो कहीं राष्ट्र की राजनीति में स्वार्थ के कारण देशहित की अनदेखी की जाती है। इसके विपरीत स्वार्थ और भौतिक सुख-सुविधाओं को भुलाकर जब राष्ट्र के नौजवान सिपाही देशहित हेतु योगदान देते हैं तब प्रेम देशप्रेम बनकर स्वार्थ पर भारी हो जाता है। प्रेम और स्वार्थ का परस्पर सम्बन्ध है, कहीं प्रेम मानवता के विस्तार का परिचायक है तो कहीं स्वार्थ सीमाओं और संकुचन का।
उमेश पंसारी छात्र (पी.जी. कॉलेज, सीहोर)

पेंशन दुगुनी होने से खर्चे में हुई आसानी (खुशियों की दास्तां)

sehore news
जिले की सीहोर तहसील अंतर्गत ग्राम बमूलिया में रहने वाले 76 वर्षीय श्री गणेश राम को अपने बुढ़ापे में ऊपरी खर्च के लिए काफी परेशानी होती थी। गणेश राम को पहले 300 रुपये प्रतिमाह की पेंशन मिलती थी, वह नाकाफी थी। इससे उनका खर्च पूरा नहीं हो पाता था। गणेशराम की परेशानियां दूर हुई जब मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा वचन पत्र के अनुसार पेंशन दुगनी कर दी गई है। अब गणेशराम को 600 प्रतिमाह पेंशन मिलती है। वह अपनी जिंदगी सुखमय व्यतीत कर रहे हैं। गणेशराम बताते हैं कि यदि मध्यप्रदेश सरकार पेंशन दुगनी न करती तो उन्हें खर्च की परेशानी बनी रहती। अब वह निश्चित हैं क्योंकि उन्हें छोटी-छोटी बातों के लिए अपने बच्चों पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है। बमूलिया निवासी गणेशराम मध्यप्रदेश सरकार के मुखिया को धन्यवाद देते नहीं थकते।

कार्य में लापरवाही बरतने पर कलेक्टर ने छात्रावास अधीक्षक को किया निलंबित

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा अनुसूचित जाति बाबू जगजीवनराम बालक छात्रावास बुदनी के अधीक्षक महेन्द्र सिंह गौर को कार्य में लापरवाही बरतने पर निलंबन की कार्यवाही की गई है। घटना के अनुसार 12 अक्टूबर की रात्रि में अनुसूचित बाबू जगजीवनराम बालक छात्रावास बुदनी में कक्षा 12 वीं के छात्र सरवन पिता रुपसिंह की तबीयत खराब होने पर छात्रावास अधीक्षक एवं चौकीदार द्वारा छात्र को बुदनी के शासकीय चिकित्सालय में इलाज के लिए ले जाया गया था। चिकित्सालय में चिकित्साकों द्वारा छात्र को मृत घोषित कर दिया गया। छात्र के परिवारजनों की इच्छा अनुसार छात्र का पोस्ट मार्टम भोपाल में कराया गया। पोस्ट मार्टम की रिपोर्ट आना शेष है तथा पुलिस द्वारा प्रकरण की विवेचना की जा रही है। घटना में अधीक्षक की प्रथम दृष्टया लापरवाही प्रतीत होने से कलेक्टर द्वारा निलंबन की कार्यवाही की गई। निलंबन अवधि में श्री गौर का मुख्यालय आदिम जाति कल्याण विभाग सीहोर रहेगा एवं केवल जीवन निर्वाह की पात्रता होगी। कलेक्टर श्री गुप्ता के आदेशानुसार महेन्द्र सिंह गौर का समस्त प्रभार अधीक्षक आदिवासी एकलव्य छात्रावास बुदनी श्री कलेसिंह मरावी को अपने कार्य के साथ-साथ सौंपा गया है एवं श्री मरावी अधीक्षक बायां का अतिरिक्त प्रभार श्री अनुपसिंह तंवर अधीक्षक रेहटी को सौंपा गया है। पीड़ित परिवार को अनुसुचित संकटा पैन राहत के तहत 10 हजार रुपये की राहत स्वीकृत कर प्रदान की गई है।

ज्वार एवं बाजरा का उपार्जन 18 नवम्बर से प्रारंभ होगा

खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में समर्थन मूल्य पर मोटा अनाज (ज्वार एवं बाजरा) उपार्जन हेतु जारी नीति के अनुसार अब 18 नवम्बर से प्रारंभ किया जाएगा। जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी ने बताया कि पूर्व में ज्वार एवं बाजरा का उपार्जन 8 नवम्बर से किया जाना था। प्रदेश में निरंतर वर्षा होने से ज्वार एवं बाजरा में नमी का अंश सीमा से अधिक होने के कारण अब ज्वार एवं बाजरा का उपार्जन 18 नवम्बर से किया जाएगा।

हेल्थ एंड वेलनेस के अंतर्गत आयोजित की गई दौड़ व कबड्डी प्रतियोगिता
स्वास्थ्य विभाग तथा स्कूल शिक्षा विभाग ने किया निरोगी काया अभियान के अंतर्गत संयुक्त आयोजन
sehore news
निरोगी काया अभियान एवं  हेल्थ एंड वेलनेस गतिविधियों के अंतर्गत प्राथमिक शाला गुड़भेला में सोमवार को छात्र-छात्राओं की दौड़ तथा कबड्डी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इस अवसर विजेता एवं उप विजेता प्रतिभागी छात्रों को मेडल तथा प्रोत्साहन पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि 20 नवंबर तक संचालित निरोगी काया अभियान के अंतर्गत जिले के सभी हेल्थ एंड वेलनेस संेटर्स तथा स्कूल स्तर पर क्रीड़ा प्रतियोगिताएं, योग, प्रश्नोत्तरी, भाषण, निबंध इत्यादि प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। शास.माध्यमिक शाला गुडभेला में क्रीड़ा गतिविधियों के अंतर्गत कबड्डी एवं दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस अवसर पर दौड़ में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर कु.अंजली, द्वित्तीय स्थान कु.अनीता, तृतीय स्थान पाने पर कु. रितिका मालवीय को मेडल प्रदान किया गया वहीं कबड्डी में बालिका वर्ग में कु.करिष्मा, कु.तनीषा, कु.अंजली, कु.रवीना, कु.प्रीती, कु.करीना, कु.रिया तथा कबड्डी बालक वर्ग में छात्र मोहित कुमार, प्रमोद, मंगलेश, शिवराज, फरहान, सतीश, रितिक मालवीय को मेडल प्रदान किए गए तथा उप विजेता छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहन पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया। प्रतियोगिता के आयोजन में  स्वास्थ्य विभाग से जिला मीडिया सलाहकार शैलेष कुमार, डीईआई प्रबंधक सुश्री दीनू शर्मा, स्कूल शिक्षा विभाग से जन शिक्षक श्री चंदर सिंह वर्मा, श्री नरेष गुर्जर, प्रधान पाठक श्रीमती प्रेमलता घोडे़श्वार, शिक्षिका श्रीमती निवेदिता मोढे़, श्रीमती सुनीता जैन, श्रीमती मंजू वर्मा, श्री कृष्ण गोपाल जाटव, नूतन वर्मा का योगदान रहा। पुरस्कार वितरण समारोह के उपरांत निरोगी काया अभियान, हैल्थ एंड वेलनेस पर विस्तार से जानकारी प्रदान की गई।

पंचायतों की प्रारुप मतदाता सूची का प्रकाशन आज

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित कार्यक्रम अनुसार पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची का वार्षिक पुनरीक्षण 2019 के फोटो प्रारुप मतदाता सूची का प्रकाशन ग्राम पंचायत एवं विहित स्थानों पर 13 नवम्बर को किया जायेगा। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायतों के निर्वाचन के लिये एक जनवरी 2019 की संदर्भ तारीख के आधार पर पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता सूची के वार्षिक पुनरीक्षण का संशोधित कार्यक्रम जारी किया गया है। इसके अनुसार प्रथम चरण में कन्ट्रोल टेबल का वेरीफिकेशन, अपडेशन, मतदान केन्द्रों का युक्तियुक्तकरण और द्वितीय चरण में प्रारुप मतदाता सूची तैयार करने की कार्यवाही की जायेगी। रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों द्वारा फोटोयुक्त प्रारुप मतदाता सूची का सार्वजनिक प्रकाशन 13 नवम्बर को ग्राम पंचायत एवं विहित स्थानों पर कराया जायेगा। इसी के साथ दावा आपत्तियों को लिये जाने का सिलसिला प्रारंभ होगा, जो 21 नवम्बर तक चलेगा। दावा आपत्तियों का निराकरण 27 नवम्बर तक किया जायेगा। इसी दौरान 13 से 18 नवम्बर के बीच स्टैण्डिंग कमेटी की बैठकों का आयोजन होगा। फोटोयुक्त अंतिम मतदाता सूची का ग्राम पंचायत तथा अन्य विहित स्थानों पर सार्वजनिक प्रकाशन 16 दिसम्बर  को किया जायेगा।

किसानों को रबी फसलों के बीज खरीदी पर मिलेगा अनुदान

किसानों को रबी फसलों के उन्नत किस्म के बीज खरीदी पर विभाग द्वारा अनुदान दिया जाएगा। विभिन्न फसलों में गेंहू ऊंची किस्म (10 साल तक) विक्रय दर प्रति क्विंटल 4 हजार पर अनुदान 750 रूपये, गेंहू ऊंची किस्म (10 साल से अधिक) विक्रय दर प्रति क्विंटल 4 हजार पर अनुदान 100 रूपये, इसी प्रकार गेंहू बोनी किस्म (10 साल तक) विक्रय दर प्रति क्विंटल 3 हजार 700 रूपये पर अनुदान 750, गेंहू बोनी किस्म (10 साल से अधिक) विक्रय दर प्रति क्विंटल 3 हजार 700 रूपये पर अनुदान 100 रूपये, चना समस्त काबूली चना छोड़कर (10 साल तक) प्रति क्विंटल 6450 रूपये पर अनुदान 1300 रूपये, चना समस्त काबूली चना छोडकर (10 साल अधिक) प्रति क्विंटल 6450 रूपये पर अनुदान 500 रूपये, मसूर समस्त (10 साल तक) प्रति क्विंटल 6350 रूपये पर अनुदान 3200 रूपये, मसूर समस्त (10 साल से अधिक) प्रति क्विंटल 6350 रूपये पर अनुदान 1500 रूपये, अलसी समस्त (10 साल तक) प्रति क्विंटल 6000 रूपये पर अनुदान 2900 रूपये, सरसों समस्त (10 साल तक) प्रति क्विंटल 6600 रूपये पर अनुदान 3000 रूपये मिलेगा। किसानों द्वारा संस्थाओं से 2 हैक्टेयर तक का बीज नगद रूप में क्रय करने पर अनुदान डीबीटी के माध्यम से दिया जाएगा। अधिक जानकारी के लिए उपसंचालक कार्यालय से संपर्क किया जा सकता है।

बिना अनुमति के धरना, प्रदर्शन, रैली, जुलूस होंगे प्रतिबंधित

अयोध्या प्रकरण के प्रस्तावित निर्णय एवं वर्तमान परिदृष्य को दृष्टिगत रखते हुए एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री अजय गुप्ता द्वारा दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गए थे। कलेक्टर द्वारा आदेश में संशोधन किया गया है। जारी आदेशानुसार जिले में कोई भी व्यक्ति या व्यक्तियों का समूह किसी भी प्रकार के जुलूस एवं रैली सभा बगैर अनुमति के नहीं करेगा। प्रतिबंधित अवधि में कोई धार्मिक, सांस्कृतिक जुलूस, रैली, सभा आदि का आयोजन संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी की अनुमति के बिना नहीं करेगा। कोई भी व्यक्ति सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म जैसे फेसबुक, व्हाटसएप, ट्विटर, एसएमएस, इंस्टाग्राम आदि का दुरुपयोग कर धार्मिक, सामाजिक, जातिगत भावनाओं एवं विद्वेष को भड़काने के लिए नहीं करेगा। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होकर 15 दिसंबर तक प्रभावशील रहेगा।

बाल दिवस 14 नवंबर को सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों पर होगा बाल रंग मेला

बाल दिवस के अवसर पर 14 नवंबर को प्रदेश के प्रत्येक आंगनवाड़ी केंद्र पर बाल रंग मेला आयोजित किया जाएगा। प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास ने निर्देश जारी किये हैं कि 14 नवंबर को प्रत्येक आंगनवाड़ी केंद्र पर बाल दिवस मनाया जाए। साथ ही प्रत्येक परियोजना मुख्यालय पर बाल रंग मेले का आयोजन किया जाए। उन्होंने कहा कि जिन परियोजना में बाल शिक्षा केंद्र परियोजना मुख्यालय पर नहीं है, वहाँ पर भी बाल रंग मेले का आयोजन सुनिश्चित किया जाए। प्रमुख सचिव ने कहा कि आंगनवाड़ी केंद्रों में 3 से 6 वर्ष आयु तक के बच्चों को खेल-खेल में शाला पूर्व शिक्षा दी जाती है। इसी क्रम में महिला-बाल विकास विभाग द्वारा 313 विकासखंडों में बाल शिक्षा केंद्र प्ले स्कूल की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि शाला पूर्व शिक्षा को रोचक एवं रुचि पूर्ण बनाने तथा सामुदायिक सहभागिता सुनिश्चित करने के लिये बाल दिवस अच्छा अवसर है। उन्होंने बताया कि बाल मेले का मुख्य उद्देश्य आंगनवाड़ी में बच्चों के सीखने एवं शाला पूर्व शिक्षा के लिए सहज वातावरण निर्मित करना तथा प्रतिभावान बच्चों की पहचान कर उनकी प्रतिभा को निखारना और उन्हें प्रोत्साहित करना है। बाल मेले के दौरान वहाँ रहने वाले बच्चे को मछली पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इसमें आंगनबाड़ी केंद्रों के अलावा अन्य समुदाय के बच्चों को भी शामिल किया जाएगा। बाल मेले में बच्चों द्वारा बनाई गई पेंटिंग, ग्रीटिंग कार्ड और मिट्टी के खिलौने की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। फैंसी ड्रेस, गीत-कविता, नाटक का प्रदर्शन भी किया जाएगा। बाल दिवस पर सबसे स्वस्थ बच्चे को हेल्थी पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इसके अतिरिक्त बाल रंग मेले में कुश्ती प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाएगा।

कन्या महाविद्यालय में औद्योगिक प्रेरणात्मक शिविर संपन्न

शासकीय कन्या महाविद्यालय सीहोर प्राचार्य डॉ सुमन तनेजा ने जानकारी देते हुए बताया कि महाविद्यालय के आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ट द्वारा लघु, सुक्ष्म एवं मध्यम मंत्रालय भारत सरकार अन्तर्गत एमएसएमई विकास संस्थान इंदौर के सहयोग एवं जिला व्यापार उद्योग केन्द्र के सहसहयोग से औद्योगिक प्रेरणात्मक युवा शिविर का आयोजन महाविद्यालय द्वारा दो दिवसीय कार्यशाला के रूप में किया जा रहा है। कार्यशाला में में विद्यार्थियों को उद्यामिता, व्यक्तिव विकास एवं बौद्धिक संपदा अधिकार विषयों पर विशेषज्ञों द्वारा व्याख्यान दिया जाएगा। प्रथम दिवस कार्यशाला में विद्यार्थियों को लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय निदेशक श्री डीसी साहू द्वारा स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया। ई विकास संस्थान इंदौर सांख्यिकी अधिकारी सुश्री अनुज्ञा वशिष्ठ ने उपस्थित छात्राओं को स्वयं व्यापार उद्यम लगाने के लिए प्रेरित किया। जिला उद्योग व व्यापार केन्द्र के श्री सुधीर कदमने, सहायक संचालक उद्योग श्री मनीष अलावा, सहायक प्रबंधक श्री विवेक मोढ़े ने विद्यार्थियों को सरकार की विभिन्न स्वरोजगार एवं वित्त व्यवस्था संबंधी योजनाओं की जानकारी दी। कार्यक्रम में प्रधानाध्यापक डॉ सुधा, सहायक प्रध्यापक डॉ राजेश बाकोरिया, श्रीमती भारती सक्सेना, श्रीमती पूजा, श्री ओमप्रकाश परमार, मो.सादिक, सुश्री नूरजहां सहित महाविद्यालय स्टाफ उपस्थित था।

विश्व मधुमेह दिवस पर 14 नवंबर को होंगे जागरूकता आयोजन

14 नवंबर 2019 विश्व मधुमेह दिवस पर जनजागरूकता संबंधी कई आयोजन किए जाएंगे। इस संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा सिविल सर्जन तथा सिविल अस्पताल आष्टा एवं नसरूल्लागंज बीएमओ को जनप्रतिनिधियों अथवा वरिष्ठ नागरिकों की उपस्थिति में जागरूकता संबंधी कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए गए है। जारी निर्देशों में कहा गया है कि इस अवसर पर शुगर,ब्लड प्रेषर की जांच, डायबिटिज से प्रभावित रोगियों की विषय विशेषज्ञों द्वारा परीक्षण कर जांच एवं उपचार किया जाएं तथा हितग्राहियों का निःशुल्क उपचार करने के भी निर्देश दिए गए है।

स्वास्थ्य शिविर में 786 हितग्राहियों ने कराया पंजीयन व उपचार, निःशुल्क जांच कर दवाएं वितरित की गई, शुगर व ब्लड प्रेशर की जांच की गई

sehore news
गुरूनानक देवजी के 550 प्रकाश पर्व  पर गुरूद्वारा साहिब के सामने स्वास्थ्य विभाग तथा जिला आयुष विभाग की ओर से निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर आयोजित किया गया। शिविर में निरोगी काया अभियान के अंतर्गत जहां ब्लड प्रेशर तथा शुगर की निःशुल्क जांच की गई वहीं बीमारियों का उपचार कर दवाओं का वितरण किया गया। षिविर में करीब 786 हितग्राहियों ने विभिन्न बीमारियों के लिए पंजीयन कराया। विशेषज्ञ चिकित्सा अधिकारियों तथा आयुष चिकित्सा अधिकारियों  द्वारा हितग्राहियों का  उपचार किया गया। शिविर uमें 236 एलोपैथिक, 150 यूनानी, होम्योपैथी के 150 तथा आयुर्वेद से संबंधित करीब 250 हितग्राहियों ने पंजीयन कराकर स्वास्थ्य षिविर का लाभ लिया। इस अवसर पर रक्तदान शिविर का  भी आयोजन किया गया। शिविर स्थल पर विधायक श्री सुदेश राय, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती अमीता अरोरा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्री जसपाल अरोरा ने भेंट दी तथा गुरूनानक देवजी के 550 वे प्रकाश पर्व पर निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर आयोजित कर सेवाएं प्रदान करने के लिए बधाई दी। इस दौरान गुरूद्वारा प्रबधंन कमेटी द्वारा समस्त चिकित्सा स्टाफ का साफा पहनाकर स्वागत किया गया। इसी तरह के स्वास्थ्य शिविर सिविल अस्पताल आष्टा, सीएचसी बुदनी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोठरी सहित अन्य हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स पर भी निरोगी काया अभियान के अंतर्गत आयोजित किए गए। शिविर स्थल पर शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. नीरा श्रीवास्तव, डॉ.अमीत राजवानी, डॉ.राहिल राठौर, आयुष चिकित्सा अधिकारी डॉ.अशोक मालवीय, डॉ.अमृता गुप्ता, स्टाफ नर्स श्रीमती कविता अमृते, एल.एच.व्ही.श्रीमती सुषीला सोनी, एएनएम श्रीमती छाया शर्मा, काउंसलपर श्रीमती कविता राठौर,जिला मीडिया सलाहकार श्री शैलेष कुमार, शहरी स्वास्थ्य से श्री हरिओम मेवाड़ा,तकनीशियन श्री पंकज शर्मा ने अपनी सेवाएं दी।

समाज के पर्यावरण प्रेमियों को भी  रेत के अवैध उत्खनन की निगरानी से जोड़ा जाएगा, नदी न्यास के अघ्यक्ष ने ली बैठक

नर्मदा में रेत के अवैध उत्खनन एवं पर्यावरण सुधार के लिए वृक्षारोपण कार्य के लिए रेस्ट  नर्मदा क्षिप्रा मंदाकनी  नदी न्यास मध्यप्रदेश के अध्यक्ष श्री नामदेव दास त्यागी कम्प्यूटर बाबा ने कहा है। नदियों से रेत का अवैध उत्खनन रोकने के लिए पर्यावरण प्रेमियों से भी निगरानी कराई जाए। वे बुधवार को यहां सर्किट हाउस में बैठक ले रहे थे, उन्होंने कलेक्टर सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों से चर्चा की। साथ ही उन्होंने बुदनी क्षेत्र की दो फैक्ट्रियों से निकलने वाले दूषित पानी के नर्मदा नदी में मिलने से रोकने हेतु कलेक्टर से आवश्यक उपाय करने की अपेक्षा की। अध्यक्ष श्री कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि प्रशासन एवं पुलिस के द्वारा रखी जा रही पूरी मुस्तैदी के बावजूद भी नर्मदा नदी से रेत का अवैध उउत्खनन रुक नहीं पा रहा है। इसे रोकने के लिए हमने निर्णय लिया है कि हम साधुओ सहित पर्यावरण प्रेमियों की मंडली को 15-15 दिनों के लिए नर्मदा के उन क्षेत्रों में छोड़ेंगे जहां से शिकायतें मिल रहीं हैं। निगरानी दल की सुरक्षा के लिए  पुलिसबल तैनात को तैनात  करने के लिए भी कहा है। उन्होंने रेस्ट हाउस परिसर में पर्यावरण सुधार का संदेश देने आम के पौधों का रोपण किया। उन्होंने कहा कि हमें पर्यावरण बचाने की दिशा में पूरी ईमानदारी के साथ वृक्षारोपण करना है साथ ही हमें 4-5 वर्षों तक उनका संरक्षण भी करना है। हमें नर्मदा किनारे पौधे रोपित करना है, जिनसे पानी भी शुद्ध हो और नदी में कटाव भी न हो। इस मौके पर कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी, उप पुलिस अधीक्षक श्री समीर यादव, अनुविभागीय अधिकारी श्री आदित्य जैन, जिला खनिज अधिकारी, तहसीलदार सीहोर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

नेहरू और धर्मनिरपेक्षता विषय पर व्याख्यान 14 नवंबर को  

मध्यप्रदेश शासन उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार भारत के प्रथम प्रधानमंत्री प. श्री जवाहरलाल नेहरू जी की 130 वी वर्षगांठ के अवसर पर समस्त विश्वविद्यालय /महाविद्यालयों में 14 नवंबर से प्रारम्भ होकर वर्षभर कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। आदेशानुसार 14 नवंबर को चंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय में विद्यार्थियों को सम्मिलित करते हुये नेहरू और धर्मनिरपेक्षता विषय पर व्याख्यान दोपहर 1 बजे महाविद्यालय के शहीद कुंवर चैनसिंह सभागार में आयोजित किया जाएगा।

निरोगी काया अभियान के अंतर्गत किया गया बालिका विद्यालय में योग

sehore news
निरोगी काया अभियान के अंतर्गत जिले  के समस्त हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स स्तर पर गतिविधियां आयोजित की जा रही है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सह हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर कोठरी में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ बी.के.दोहर द्वारा स्थानीय कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में योग कराया गया। जिले में 20 सितंबर से 20 नवंबर तक निरोगी काया अभियान संचालित किया जा रहा है। अभियान के अंतर्गत खेल गतिविधियों सहित स्वास्थ्य जागरूकता पर निबंध, भाषण, क्वीज, खो-खो कबड्डी, दौड प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही है। नसरूल्लागंज के बाईबोडी में खो-खो तथा दौड़ प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर सिद्धिकगंज के अंतर्गत योग कार्यक्रम आयोजित किया गया। शासकीय उच्च.माध्य.शाला कोठरी की एन.सी.सी.यूनिट द्वारा भी योग क्रिया कर निरोग रहने का संदेष दिया गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र शाहगंज में खो-खो तथा छा़त्रों की दौड़ प्रतियोगिता आयोजित की गई। पीएचसी बमूलिया में एनसीडी के अंतर्गत मधुमेह  ब्लड प्रेशर की जांच कर विभिन्न रोगों का उपचार कर दवाओं का वितरण किया गया।  

संभाग स्तरीय महिला/पुरुष शतरंज प्रतियोगिता का हुआ समापन

sehore news
मध्यप्रदेश शासन उच्च शिक्षा विभाग द्वारा दो दिवसीय संभाग स्तरीय महिला/पुरूष शतरंज प्रतियोगिता का समापन बुधवार को चन्द्रशेखर आजाद शासकीय स्नाताकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय  में किया गया। सात जिलों सीहोर, भोपाल, विदिशा, रायसेन, बैतुल, होशंगाबाद और राजगढ़ से कुल 35 छात्राएं तथा 35 छात्र खिलाड़ियों ने भाग लिया। इस प्रतियोगिता में पुरूष दल में भोपाल ने प्रथम व विदिशा ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। महिला दल में भोपाल ने प्रथम व सीहोर ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। सभी विजेताओ और उपविजेेताओं को पुरस्कृत किया गया। बरकतउल्ला विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व करने के लिए पुरूष दल में निम्नलिखित खिलाडियों का चयन किया गया। अनिकेत अहिरवार, दिनेश अहिरवार, वेदान्त भरद्वाजऔर नितिन रघुवंशी स्टेण्ड बाय में गौरव मिश्रा व अनिकेत दिवाकर है। महिला दल में प्रज्ञा गौर, रूकमणि लौधी, मुस्कान शुक्ला और प्रियंका जैन एवं स्टेण्ड बाय में रोशिता दाण्डे और टिंकल चैहान का चयन हुआ है। महाविद्यालय की प्राचर्या, डॉ. आशा गुप्ता ने सभी विजेताओं ओर उपविजेताओं को शुभकामनाएं दी तथा भविष्य में और बेहतर प्रदर्शन करते हुए अपने परिवार एवं अपने विश्वविद्यालय का नाम रोशन करने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम का संचालन क्रीड़ा समिति  संयोजक डॉ निभा जैकब ने किया अभार क्रीड़ा अधिकारी श्री राजेश गौर ने किया। कार्यक्रम में समस्त क्रीड़ा समिति सदस्य उपस्थित थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...