गुलाबी गेंद से खेलना होगा चुनौतीपूर्ण: विराट - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 नवंबर 2019

गुलाबी गेंद से खेलना होगा चुनौतीपूर्ण: विराट

will-be-challenging-to-play-with-pink-ball-virat
इंदौर, 13 नवंबर, भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि पहली बार गुलाबी गेंद से खेलना उनके और अन्य खिलाड़ियों के लिये चुनौतीपूर्ण होगा और नियमित लाल गेंद के बजाय डे-नाइट प्रारूप में अधिक सतर्कता बरतनी होगी।भारतीय क्रिकेट टीम ने इतिहास में कभी भी डे-नाइट प्रारूप में टेस्ट क्रिकेट नहीं खेला है और यह पहला मौका है जब गुरूवार से बंगलादेश के खिलाफ शुरू होने जा रही दो मैचों की टेस्ट सीरीज़ में गुलाबी गेंद से मैच खेला जाएगा। भारत और बंगलादेश दोनों टीमें कोलकाता में दूसरे मैच को डे-नाइट प्रारूप में पहली बार खेलेंगी।कप्तान विराट ने होल्कर स्टेडियम में गुरूवार से शुरू होने वाले पहले टेस्ट की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह गुलाबी गेंद से खेलने का अनुभव चाहते थे और निश्चित ही यह लाल गेंद से काफी अलग है। उन्होंने कहा,“ मैं समझना चाहता था कि गुलाबी गेंद खेलने में कैसी है और पिच पर इसका व्यवहार कैसा रहेगा। हमारे लिये यह नया अनुभव है क्योंकि हमने पहले कभी गुलाबी गेंद से नहीं खेला है।”विराट ने कहा,“ इस गेंद को समझने के बाद यह तो साफ हो गया है कि इससे खेलने के लिये अतिरिक्त सतर्कता बरतनी होगी। हमने हमेशा लाल गेंद से ही टेस्ट खेला है लेकिन गुलाबी गेंद काफी अलग है। हम इसीलिये गुलाबी गेंद से अभ्यास करना चाहते थे और लगभग सभी ने इस गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया है।”

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...