संयुक्त राष्ट्र कार्यकर्ता आयुष राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 4 दिसंबर 2019

संयुक्त राष्ट्र कार्यकर्ता आयुष राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित

un-activest-awarded-ayush-n-chandra-national-award
नयी दिल्ली, 04 दिसंबर, संयुक्त राष्ट्र के कार्यकर्ता आयुष एन चंद्रा को अंतरराष्ट्रीय दिव्यांगता दिवस के अवसर पर उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने राष्ट्र पुरस्कार से सम्मानित किया है।एक विज्ञप्ति के अनुसार युवा योगाभ्यासी आयुष को मंगलवार को यहां विज्ञान भवन में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय पुरस्कार वितरण समारोह में श्रवण बाधित रोल मॉडल श्रेणी में दिव्यांग व्यक्तियों के सशक्तीक़रण के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया।आयुष (23) शत प्रतिशत श्रवण बाधित हैं। वह कत्थक नर्तक एवं तबला वादक हैं। साथ ही,वह मूक बधिर बच्चों और युवाओं द्वारा एक साथ मिलकर कत्थक नृत्य के साथ किया जाने वाले योग के प्रवर्त्तक भी हैं। उन्होंने अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय और टाइम्स स्क्वायर में योग का प्रदर्शन किया है।आयुष दिव्यांगजनों, विशेष रूप से बधिर और मूक लोगों के मसलों को हल करने में और समावेशी समाज के निर्माण में जागरूकता लाने की दिशा में प्रयासरत हैं। इस उपलब्धि के लिए उन्हें श्रवण न्यूनता ग्रस्त (पुरुष) रोल मॉडल श्रेणी के अंतर्गत राष्ट्रीय पुरस्कार -2019 से सम्मानित किया गया है।आयुष ने अपने भाई एवं वर्ष 2017 के राष्ट्र पुरस्कार तथा राष्ट्र युवा पुरस्कार 2019 से सम्मानित अपूर्व ओम के साथ मिलकर एक नयी तरह की कला की संचरना की है। इसमें बधिर ,समान्य बच्चों तथा युवाओं के साथ मिलकर एक ही संगीत पर योग और कत्थक नृत्य किया जाता है। इसे देखना अद्भुत क्षण होता है कि कैसे सामान्य और बधिर व्यक्ति एक साथ एक लय में होते हैं। दोनों भाइयों ने चाणक्यपुरी स्थित नेवी चिल्ड्रेन स्कूल में 12 वीं तक की पढ़ाई की है। आयुष दयाल सिंह कॉलेज में कम्प्यूटर साइंस के छात्र हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...