झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 08 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 8 अगस्त 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 08 अगस्त

सांप को मारने के लिए चलाई बन्दुक कि गोली काका को लगी, घटना स्थल पर हुई मौत

jhabua news
पारा । समिपस्थ ग्राम बलोलाछोटी के रावत फलिए मे आज तडके गोली लगने से एक व्यक्ति की मांेत होगई। बताया जाता हे कि भतीजे नंदु ने गोली सांप को मारने के लिए चलाई थी लंेकिन अचानक काका के बिच मे आने से गोली उनको लग गई । जिससे उनकी घटना स्थल पर ही मौत होगई। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम बलोला छोटी के रावत फलिए निवासी धनबाई चिल्लाई हुई सुबह पांच बजे घर से बाहर आई कि घर के अन्दर दिवार पर सांप हे। जिसको सुनकर धनबाई का भतिजा नंदु पिता अंतरसिह रावत अपनी 12 बोर कि बन्दुक लेकर आया व घर के सांप के उपर गोली चाला दी। जबकि नंदु का काका प्रताप सिह पिता प्रेमसिह रावत घर के अन्दर की खडा था। बन्दुक कि गोली प्रताप को जा लगी जिससे काका प्रताप कि घटना स्थल पर ही मौत हो गई।  उक्त घटना कि सुचना मुकामसिह पिता प्रेमसिह रावत ने पारा पुलिस चैकि पर दी। तत्काल चौकि प्रभारी  के एस पाॅडव , एएसआई रमेश गेहलोत व आरक्षक ललीत ने मोके पर पहुच कर घटना कि जानकारी ली व शव को जब्ती मे लेकर पंचनामा बना कर शव को सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पहुचाया जहा पर शव का पीएम करके शव परिजनो को सोप दिया। पुलिस ने अपराध क्रमांक 0/20 धारा 304 आईपीसी व 27 आर्मस एक्ट मे प्रकरण दर्ज कर मामले को विवेचना मे लेलिया है। चौकि प्रभारी ने बताया कि अपराधी अभी फरार हे जिसे शिघ्र ही गिरफतार कर लिया जावेगा।
   
के्रडिट एक्सेस ने चिकित्सालय को दिए मास्क व सेनिटाईजर

jhabua news
पारा ।कोविड 19 कोरोना वायरस के चलते शासकिय चिकित्सालय व स्टाफ को के्रडिट एक्सेस ग्रामीण लिमिटेड शाखा झाबुआ ने सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पारा को आज  मास्क व सेनिआईजर वितरण किया । प्राप्त जानकारी के अनुसार आज के्रडिट एक्सेस ग्रामीण लिमिटेड शाखा झाबुआ के ब्रांच मेनेजर विनोद शिंदे, मनेजर महेश वर्मा ने कोविड 19 कोरोना के चलते आज सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पारा पर पहुच कर स्वास्थ्य केन्द्र कि वर्तमान मे सबसे ज्यादा आवश्यक उपयोगी वस्तु माॅस्क व सेनिटाईजर स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्सक डा ए एस खान, डा के एस डोडवा व डाॅ प्रतिष्ठा चोहान सहीत समस्त स्टाफ को सो मास्क व सो सेनिटाईजर का वितरण किया गया। इस अवसर पर एएनएम रामकन्या बारिया अभिलाषा बारिया, अनिता डामोर मुकेश शाक्य सहित चिकित्सालय का समस्त स्टाफ उपस्थित था। 
             
जिला कांग्रेस ने दी अंतराष्ट्रीय आदिवासी दिवस पर दी बधाई

झाबुआ। जिला कांग्रेस द्वारा अंतराष्ट्रीय आदिवासी दिवस पर झाबुआ  एवं समस्त देश के आदिवासीयों को बधाई दी तथा उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। क्षेत्रीय विधायक कांतिलाल भूरिया ने इस अवसर पर अपने संदेश में कहा कि आदिवासी समाज का एक गौरवमयी इतिहास रहा है, भील, भीलाला, पटलिया समाज अपनी देशभक्ति, वीरता, कर्मठता और सांस्कृतिक विरासतों के कारण देश के अन्य समाजों में विशिष्ट एवं महत्वपूर्ण स्थान रखते है। झाबुआ, जोबट और अलीराजपुर राठौर वंशीय रियासतों के पहले इस क्षेत्र पर आदिवासी जनजाति का प्रभुत्व था।  सन 1857 की क्रांति का महानायक तात्या टोपे जब दक्षिण भारत लौट रहंे थे, तब अलीराजपुर जिले के नानपुर ग्राम में वहां के शासक एवं अंग्रेजों के विरूद्व बगावत में अलीराजपुर के भिलालों ने सहयोग किया। झाबुआ रियासत में राजशाही एवं अंग्रेजों के विरूद्व स्वतंत्रता आंदोलन में थांदला के गवला डामर, गजेसिंग देवीचंद डामर पेटलावद के अमरसिंग डामर, रजला के धनसिंग भील ईटावा (थांदला) के रामसिंग, जूरीया वसुनिया काकनवानी के देवीचंद डामर, झाबुआ की बसंती बाई आदि के योगदानों को विस्मृत नहीं किया जा सकता। विराट परिप्रेक्ष में देखे तो निमाड़ का भीमा नायक, सोरवा का छीतू भील, मालवा का टांटया भील अंग्रेजी हुकुमत के लिए चुनौती बन गए थे। इसके पूर्व मेवाड़ के सूर्य महाराणा प्रताप के हल्दीघाटी युद्व में भी आदिवासी वीरों ने मुगल सेना के छक्के छुड़ा दिये थे। श्री भूरिया ने आगे कहा कि सादे-सरल, व्यवहार कुशल, ईमानदार और कर्मठ आदिवासी आज भी बडे़ सवेरे-सवेरे उठता है सूर्य की रश्मियां उसे खेतों की राह दिखाती है। मूसलाधार वर्षा, कप-कपाती सर्दी और झुलसाती गर्मी में भी जी-जान लगा कर वह बंजर और बेजान जमीन की कौख से उपज के बीज बोता हैं, किन्तु ओने-पोने दामों में रईस-साहुकारों को बेचकर अभावों का जीवन जीता है, अपने इसी स्वभाव के कारण आज साहुकारों के समाज में एक दानी के नाम से अलंकिृत भी होता हैं, और उन्हें मामा के नाम से अलंकिृत किया जाता हैं ।  जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता ने विश्व आदिवासी दिवस पर बधाई देते हुए कहा कि पहले आदिवासी समाज बहुत पिछडा हुआ था, किंतु पिछले 70 सालों में आदिवासी समाज के उत्थान के लिए अनेक योजनाएं बनाई गई जिससे इस समाज के लोगों ने देश को उन्नत बनाने में अपना सहयोग प्रदान किया है। युवा नेता मध्य प्रदेश आदिवासी परिषद के महामंत्री डॉ विक्रांत भूरिया ने कहा कि अंतराष्ट्रीय आदिवासी दिवस हमारे चिंतन, मनन और विचार संप्रेषित करने का विषय है। क्या हम सब जनजाति लोग गैर आदिवासीजनों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर अपनी योग्यता, प्रतिभा और ग्रामीय जीवन के कौशल के साथ विकास के उच्च पायदानों को स्पर्श कर सकते है,  यह आत्म मंथन हमें करना होगा। विधायक सु श्री कलावतिभूरिया ने इस अवसर पर कहा कि आदिवासी समाज में देशप्रेम की भावना कुट-कुट कर भरी है। देश की उन्नति में आदिवासी समाज अपनी महत्ती भूमिका निभाने के लिए भी कृत संकल्पित रहा था, रहा है और हमेशा रहेगा। आदिवासी समाज ही यही माईनों में जल, जंगल और जमीन के पुत्र हैं । इस अवसर पर पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेश चंद्र जैन, ,  विधायक वीरसिंह भूरिया, वालसिंह मेडा,मुकेश पटेल पूर्व विधायक गंगाबाई बारिया, जेवियर मेडा, जिला कांग्रेस  कार्यवाहक अध्यक्ष रूपसिंह डामोर,हेमचंद डामोर  कोषाध्यक्ष प्रकाश रांका, वरिष्ठ कांग्रेस नेता हनुमंत सिंह डाबडी,  वरिष्ठ नेता रमेश डोशी, मानसिंह मेडा, चंदू पडियार राजेंद्र अग्निहोत्री विजय पांडे महिला नेत्री कल्पना भूरिया, जिला पंचायत अध्यक्ष शांति राजेश डामोर जिला पंचायत उपाध्यक्ष चंद्रवीर सिंह राठौर जिला पंचायत सदस्य कलावती गेहलोद, शारदा अमरसिंह, रमिला डामोर, शंता तेरसिंह, अकमाल सिंह डामोर जिला कांग्रेस  प्रवक्ता हर्ष भट्ट आचार्य नामदेव संभागीय प्रवक्ता साबिर फिटवेल नगर पालिका अध्यक्ष मन्नुबेन डोडियार, नगर पालिका उपाध्यक्ष रोशनी डोडियार, ,   कांग्रेस नेता राजेश भट्ट यामीन शेख, वीरेन्द्र मोदी, मनीष व्यास सुरेश मुथा, जितेंद्र अग्निहोत्री प्रकाश जैन सलीम शेख, अलीमुददीन सैयद,   आशीष भूरिया, कलावती मेडा, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष विनय भबोर, किसान कांग्रेस अध्यक्ष नंदलाल मेड, , ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष कान्हा गुंडिया, गेंदाल डामोर, रतनसिंह डामोर, कैलाश डामोर, , फतेसिंह, नरेन्द्रपाल सलुनिया, भूरसिंह, यामिन शेख  बंटू अग्निहोत्री व्यापारी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष मनोहर भंडारी, शहर कांग्रेस अध्यक्ष   गौरव सक्सेना, कांग्रेस पदाधिकारी जसवंत सिंह भबोर,  विजय भाबोर,  शंकर सिंह भूरिया, गोपाल शर्मा, सायरा बानो मालू डोडियार,, जोसफ पीटर,  हर्ष जैन अविनाश डोडियार, रशीद कुरैशी, हेमेन्द्र कटारा, रींकू रूनवाल, जितेंद्र शाह जय मुनिया बंटी डामोर  आदि ने इस अवसर पर बधाई दी ।

प्रशासन तैयार कर रहा जिले में भय का माहौल - लचर व्यवस्थाओं पर नही कोई जिम्मेदार

jhabua news
थांदला। जिलें में विगत दिनों आये कोरोना मरीजों ने जिलें में भय का वातावरण निर्मित कर दिया है। इस भय में सबसे ज्यादा उदासीन स्वास्थ्य विभाग की लचर व्यवस्थाओं का माना जा सकता है। जिलें के मीडिया तंत्र के पास इंदौर लेब की रिपोर्ट अन्य इंदौर व जिलों से पहले आ जाती है व उसी आधार पर वे खबर भी प्रसारित कर देते है वही जिलें के बाहर लिए गए सेम्पल की जाँच व रिपोर्ट का स्वास्थ्य प्रबन्धन के पास न आना भी उनकी लचर व्यवस्थाओं को साफ दिखा रहा है। इन सब दुविधाओं के कारण जिलें की जनता भय के माहौल में जीवन के लिये संघर्ष कर रही है। जनता में आज इतना भय निर्मित हो गया है कि वह जाँच से भी कतरा रही है।  हाल ही थांदला नगर में हुई तीन मौत से जिले में कोरोना संक्रमण को गम्भीरता से देखा जा रहा है। आपको बता दे कि उक्त तीनों मौत में एक डायबिटीज मरीज थे जो कोरोना के भय से अस्पताल नही गए वही, एक ने जाँच से इतना भय रखा कि अंत समय तक जाँच नही करवाई लेकिन प्रशासन ने उनके लक्षणों को देख उन्हें कोरोना घोषित कर दिया वही एक वरिष्ठजन कोरोना पॉजिटिव मिले। इन सभी बातों से स्पष्ट होता है कि शासन प्रशासन ने कोरोना संक्रमण का इतना भय पैदा कर दिया है कि अब तो व्यक्ति जाँच से भी भाग रहा है। यदि शासन प्रशासन कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर सचेत नही होता है तो इसका खामियाजा जनता को ही भुगतना पड़ेगा।  शासन प्रशासन के पास कोरोना संक्रमण की पॉजिटिव रिपोर्ट समय पर नही पहुँच पा रही है। कोरोना संक्रमित मरीजों के आसपास का एरिया सील करने में लापरवाही दो दो दिन तक भी कार्यवाही नही होती। संक्रमित व्यक्तियों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों के सेम्पल में भी ढिलाई होने से भी संक्रमण का खतरा बड़ा है। आपको बता दे जिलें में अधिकांश केस संक्रमित के परिचय में आये व्यक्तियों के ही निकले है। कोरन्टीन झोन बनाये जाने में लेट लतीफी भी कारण। जिलें से बाहर व्यक्तियों की सूचना प्रशासन को नही मिलना भी बड़ी चूक। 

जागरूकता सन्देश सूचनाओं का आभाव।
 शासन प्रशासन की उदासीनता से धारा 144 का पालन नही उल्लंघन कर्ता पर कार्यवाही नही होने से भी संक्रमण बड़ा। याद रहे बीमारी अच्छा बुरा देख कर नही आती व एक व्यक्ति से बड़ी आसानी से दूसरे में पहुँच रही है। किसी व्यक्ति की रोग प्रितिरोधक क्षमता (हुम्युनिटी पॉवर) अच्छा होने से जरूरी नही कि उसके पूरे परिवार भी स्ट्रांग हो। इसलिए व्यक्ति को चाहिए कि वह अपने परिवार के लिए ही सही सामाजिक दूरी बनाए रखे व शासन प्रशासन को चाहिए कि वह भय मुक्त वातावरण बनाते हुए जागरूकता का संदेश जन जन तक पहुँचाये।

थांदला में कोरोना संक्रमित संख्या हुई 34 शासन के पास 30 नगर में 8 स्थानों पर कोरन्टीन झोन 

jhabua news
थांदला। बीते एक माह में नगर में एक एक कर आये कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 34 हो गई है। हालांकि प्रशासन का आधिकारिक आंकड़ा 30 की बात कर रहा है क्योंकि विगत एक सप्ताह के भीतर आये कुछ केस जिले के बाहर कोरोना संक्रमित पाये गए जिनकी रिपोर्ट व जानकारी उनके पास आज तक नही पहुँच पाई है। जिला स्वास्थ्य अधिकारी अधिकांश बैठक में उलझे हुए रहते है उनकी जिम्मेदारी पर प्रश्नचिन्ह नही है लेकिन फिर भी स्वास्थ्य विभाग की यह चूक मानी जा सकती है। वही उनकी रिपोर्ट पर एसडीएम तहसीलदार को नगरीय प्रशासन की मदद से कोरोना संक्रमित स्थानों को सील करने की व वहाँ के व्यक्तियों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाते हुए निकट पड़ोसियों व सम्पर्क में आये व्यक्तियों की जाँच के लिए प्रेरित करना होता है बावजूद इसके अनेक स्थानों पर उनकी लापरवाही स्पष्ट रूप से सामने आई है जिसके कारण नगर में कोरोना का संक्रमण बड़ा है। वर्तमान स्थिति पर डाले तो आज नगर में 34 कोरोना संक्रमित मरीजों में से 7 मरीज कोरोना को परास्त कर स्वस्थ हो चुके है वही वर्तमान स्थिति 27 कोरोना एक्टिव पर्सन है। इन 27 में 2 ग्रामीण है शेष 25 नगर में ही है।

नगर में 9 कोरन्टीन क्षेत्र जिनमे से एक हुआ मुक्त
स्थानीय एसडीएम, तहसीलदार, सीएमओ के नेतृत्व में स्वच्छता निरीक्षक गौरांकसिंह राठौर, गौरव सिसोदिया, यशदीप अरोड़ा, रादु निनामा, कान्तु, रतन, मोहन आदि नगर परिषद कर्मचारी अपनी भूमिका का सफल निर्वहन कर रहे है। उनको आदेश देर से मिलते है लेकिन वे मीडिया तंत्र से जानकारी मिलते ही सजग हो जाते है व प्रशासन के आदेश पालन में तत्काल लग जाते है। उन्होंने निर्देशों का पालन करते हुए आजाद कॉलोनी, इंद्रपुरी कॉलोनी (सेवा निवृत प्राचार्य), पेट्रोल पम्प कॉलोनी, ऋतुराज कॉलोनी, फिश मार्केट, गाँधी चैक, एम जी रोड़, पार्श्वनाथ मार्ग, आदि के रास्तों को बन्द किया हुआ है अथवा उन स्थानों पर निकले कोरोना मरीजों के निकट का एरिया सील कर दिया गया है। जबकि सबसे पहले कोरोना आये वार्ड नम्बर 3 के एरिये को कोरोना जंग जीत जाने पर कोरन्टीन से मुक्त भी किया है।

झाबुआ जिले के समस्त नवीन पटवारी विभागीय परीक्षा मे उत्तीर्ण
आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त म.प्र. ने जारी किया परीक्षा परिणाम
झाबुआ। शुक्रवार को आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त म.प्र. ने नवीन पटवारियो के विभागीय परीक्षा के परिणाम घोषित किये गये। इसमे जिला झाबुआ के समस्त नवीन पटवारियो ने उच्चतम अंको से परीक्षा पास कर अपनी दो वर्ष की परीविक्षा अवधि को पूर्ण कर ली है। उक्त जानकारी म.प्र. पटवारी संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं जिलाध्यक्ष अखिलेश मुलेवा, ने देते हुए बताया कि आयुक्त भू अभिलेख एवं बंदोबस्त द्वारा आयोजित विभागीय परीक्षा मे झाबुआ जिले मे पदस्थ समस्त 108 नवीन पटवारी उर्तीण घोषित किया गये। उल्लेखनीय है कि पूर्व मे राजस्व अनुभाग झाबुआ के समस्त 40 नवीन पटवारियो को तत्कालीन अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के द्वारा व्यवहारिक परीक्षा मे अनुत्तीर्ण कर दिया गया था। इस परिणाम से जिले के समस्त पटवारियो मे रोष व्याप्त हो गया और विरोध स्वरूप समस्त पटवारियो ने दिनांक 13 जुलाई को जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा को ज्ञापन सौपकर पुर्नमुल्यंाकन करने की मांग की गई और प्रदेश स्तर पर आयुक्त भू-अभिलेख और बदंोबस्त म0प्र0 तथा प्रमुख सचिव राजस्व के संज्ञान मे भी लाया गया। मामला प्रदेश स्तर पर तुल पकडने पर पटवारी संघ के इस विरोध प्रर्दशन और ज्ञापन सौपने पर आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त मध्य प्रदेश श्री ज्ञानेश्वर पाटिल ने विडीयो कांन्फ्रेस मे निर्देशत करते हुए कहा कि व्यवहारिक परीक्षा मे  अनुर्तीर्ण समस्त पटवारियो के द्वारा प्रस्तुत प्रकरण फाईल का पुर्नमुल्यांकन किया जावे तथा प्रकरणवार अंको का विभाजन कर पृथक पृथक गणना कर पुनः अंक निर्धारण कर जिला कलेक्टर के माध्यम से भेजे जाये। आयुक्त भू-अभिलेख और बंदोबस्त म.प्र. ज्ञानेश्वर पाटिल ने हस्तक्षेप करने हुए पुर्नमुंल्यांन कर अंक निर्धारण करने के निर्देश दिये थे। पटवारी संघ के इस विरोध प्रर्दशन और ज्ञापन सौपने पर आयुक्त भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त मध्य प्रदेश ज्ञानेश्वर पाटिल ने आज विडीयो कांन्फ्रेस मे निर्देशत करते हुए कहा कि व्यवहारिक परीक्षा मे  अनुर्तीर्ण समस्त पटवारियो के द्वारा प्रस्तुत प्रकरण फाईल का पुर्नमुल्यांकन किया जावे तथा प्रकरणवार अंको का विभाजन कर पृथक पृथक गणना कर पुनः अंक निर्धारण कर जिला कलेक्टर के माध्यम से भेजे जाये। श्री मुलेवा उक्त जानकारी देते हुए बताया कि राजस्व अनुभाग झाबुआ अन्तर्गत तहसील झाबुआ, रामा, रानापुर के समस्त 40 नवीन पटवारीयो को तत्कालीन अनुविभागीय अधिकारी ने व्यवहारिक परीक्षा मे उत्र्तीणांक से कम अंक देकर सभी नवीन पटवारियो के साथ अन्याय कर अनुतीर्ण कर दिया था जबकि संद्वातिक परीक्षा मे अनुभाग के समस्त पटवाारी अच्छे अंको के साथ उतीर्ण हुए और प्रदेश की प्रावीण्य सूचि मे स्थान अर्जित किया किन्तुु व्यवहारिक परीक्षा मे इन सभी पटवारियो को मात्र 35, 36 अंक देकर अनुतीर्ण कर दिया गया। श्री मुलेवा ने बताया कि हमारे नवीन पटवारी प्रदेश स्तर पर आयोजित चयन परीक्षा मे 13 लाख लोगो मे चयनित होकर पटवारी बने है और उनको व्यवहारिक परीक्षा मे अनुर्तीण करना उनके भविष्य के साथ खिलवाड करना ही था किन्तु हमारी जायज मांग को आयुक्त ने मानकर हमारे नवीन पटवारियो के साथ न्याय किया है। श्री मुलेवा ने बताया कि आयुक्त के निर्देशानुसार वर्तमान अनुविभागीय अधिकारी श्री मोहनलाल मालवीय ने समस्त नवीन पटवारियो के द्वारा जमा की गई समस्त फाइल का सुक्ष्मता पूर्वक गहन निरीक्षण करते हुए पुर्नमुंल्यांकन  किया जिसमे समस्त 40 नवीन पटवारी उर्तीर्ण पाये गये क्योकि प्रकरणवार सभी पटवारियो ने फाइल बनाकर जमा की गई है और उसी अनुरूप अंको का विभाजन किया गया जिसमे समस्त पटवारी साथी अच्छे अंक के साथ उत्तीर्ण हे गये है। म. प्र. पटवारी संघ जिला झाबुआ ने  आयुक्त भू-अभिलेख और बंदोबस्त ज्ञानेश्वर पाटील जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा और अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मोहनलाल मालवीय प्रांताध्यक्ष उपेन्द्रसिंह बाघेल का आभार व्यक्त किया है।

आचार्य श्री हेमेन्द्रसूरीष्वरजी म.सा. की 10 वीं पुण्यतिथि मनायी आचार्यश्री निर्मल भावों के धनी थे: आचार्य ऋषभचन्द्रसूरि

jhabua news
राजगढ़ (धार)। दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पाट परम्परा के षष्ठम पट्टधर आचार्य श्री हेमेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. बहुत ही निर्मल भावों के धनी थे । मैं बचपन से ही उनके सानिध्य में आया था । मेरे गुरु आचार्य श्री विद्याचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. से मेरी दीक्षा के पश्चात् मात्र 27 दिन साथ रहने का संयोग रहा पर आचार्य श्री हेमेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के 30 वर्षो तक आचार्यपद के कार्यकाल में उनके आज्ञानुवर्ती रहने का मुझे अवसर मिला । उन्होंने मुझे हर मुकाम पर दिल खोलकर सहयोग किया । हमेशा प्रगति के अवसर पर आगे बढ़ाते रहे ओर उन्हीं के दिशा निर्देशन में श्री मोहनखेड़ा महातीर्थ के विकास कार्यो को करने का भरपूर अवसर मिला । उन्हीं के निर्देशन में गुरु शताब्दी महा महोत्सव का भव्य आयोजन भी सफल हुआ । वे हमेशा प्रभु श्री शंखेश्वर पाश्र्वनाथ भगवान के जाप में लीन रहे ओर हमारा मार्गदर्शन करते रहे थे । वे बहुत ही सेवाभावी थे । मुझे उनके वो पल हमेशा याद रहते है जब उन्होंने प्रथम उपधान तप करवाया था । उनकी स्मरण शक्ति अद्भूत थी । उक्त बात वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. ने आचार्यश्री हेमेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की 10 वीं पूण्यतिथि के अवसर पर श्री मोहनखेड़ा तीर्थ में आयोजित गुरु गुणानुवाद करते हुये कही । इस अवसर पर मुनिराज श्री पीयूषचन्द्रविजयजी म.सा. ने आचार्यश्री के जीवन वृतान्त पर विस्तृत प्रकाश डालते हुये कहा कि आचार्यश्री हमेशा क्रियाशील रहे वे बहुत ही निर्मल ह्रदय के व्यक्ति थे । आचार्यश्री के कार्यकाल में जो भी जिनशासन प्रभावना व विकास कार्य हुये है वे इस तीर्थ के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों से अंकित किये जाने योग्य है । कार्यक्रम में तीर्थ के मेनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ ने कहा कि आचार्यश्री बहुत ही सरल विचारों के धनी थे और हमेशा जाप में लीन रहकर ट्रस्ट मण्डल को विकास कार्यो की प्रेरणा प्रदान करते रहते थे । पूरे ट्रस्टमण्डल की ओर से मैं उन्हें 10 वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित करता हुॅ । कार्यक्रम में मंत्रणा समिति सदस्य सेवन्तीलाल मोदी, संतोष चत्तर, दिलीप भण्डारी एवं दिलीप नाहर, शांतिलाल जैन, राकेश रायली, तीर्थ के महाप्रबंधक अर्जुनप्रसाद मेहता आदि भी उपस्थित रहे । श्री मेहता ने बताया कि चातुर्मास के दौरान भाद्रपद मास की साधार्मिक भक्ति का लाभ श्री गुरु राज ऋषभ परिवार द्वारा लिया गया ।

कोविड-19 की रोकथाम एवं संक्रमण से बचाव के लिये पूर्व में जारी प्रतिबंधात्मक आदेश में आंशिक संशोधन

झाबुआ। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रबल सिपाहा ने नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम एवं संक्रमण से बचाव के लिये पूर्व में जारी प्रतिबंधात्मक आदेश में आंशिक संशोधन किया है। श्री सिपाहा ने अवगत कराया कि इस आदेश के तहत् जिले कि राजस्व सीमा में आगामी आदेश तक प्रत्येक रविवार को टोटल लाॅकडाउन रहेगा। इस दिन सभी दुकानें, प्रतिष्ठान बंद रहेगें, (पेट्रोल पंप एवं मेडिकल सेवाओं को छोड़कर) तथा समस्थ गतिविधियां प्रतिबंधित होकर लोग अपने घरों में ही रहेंगे। टोटल लाॅकडाउन की सर्ते पूर्व में जारी आदेश की तरह यथावत रहेंगी। जिले में सोमवार से शनिवार तक समस्त दुकाने, प्रतिष्ठान, प्रातः 6 बजे से रात्रि 9 बजे तक (कंटेनमेंट को छोड़कर) खुल सकेंगे। समस्थ होटल, रेस्टोरेंट, भोजनालय सुबह 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक खुले रह सकेंगे। जिले में रात्रि 10 बजे से सुबह 5 बजे तक रात्रिकालीन कफ्र्यू को समाप्त किया गया है। जिले में साप्ताहिक हाट बाजार प्रतिबंधित रहेंगे। यह आदेश पूर्व में जारी मूल आदेश का भाग रहेगा और शेष निर्देश पूर्ववत यथावत रहेंगे। इस आदेश का उल्लंघन पाये जाने पर भारतीय दण्डसंहिता 1860 की धारा 188,269,270 एव राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धारा 51,60 एवं अन्य वैधानिक प्रावधानों के अंतर्गत विधिसम्मत कार्यवाही की जावेगी। यह आदेश आगामी आदेश तक  प्रभावशील रहेगा।

कोविड-19 लाॅकडाउन में बालकों की सुरक्षा एवं बचाव के सम्बन्ध में प्रचार-प्रसार करने के निर्देश

झाबुआ। कोविड-19 के दौरान आॅनलाईन चाइल्ड पोर्नोग्राफी के बढने के कारण व्दसपदम ैमगनंस उत्पीड़न में वृद्धि के संबंध में ब्ै।ड के अध्ययन निष्कर्षो अनुसार अवगत कराया गया है एवं मध्य प्रदेश के जिलों का चिन्हांकन किया जाकर कार्यवाही कियेजाने का अनुरोध किया गया है। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग ने अवगत कराया है कि छंजपवदंस ब्लइमत ब्तपउम त्मचवतजपदह च्वतजंसरू ीजजचेयध्ध्ब्लइमतब्तपउमण्ळवअण्पदध्रु एवं ज्वसस थ्तमम 18001027222 है। ब्ीपसक ैमगनंस ।इनेम के विरूद्ध, बच्चों एवं अभिभावकों को व्दसपदम बीपसक ेमगनंस ंइनेमते एवं ब्लइमत ब्तपउम की रिर्पोर्टिग के लिए विभिन्न माध्यमों से जागरूक करने की कार्यवाही करें। बच्चों के विरूद्ध होने वाली लैंगिक हिंसा की रोकथाम के लिए विभिन्न ैवबपंस उमकपं चसंजवितउ पर ैंमि ज्वनबी एवं न्देंमि ज्वनबी के लिए कोमल मूवी का लिंक  https://www.youtube.com/watch?V=CwzoUnj0Cxc का भी प्रचार-प्रसार किया जाए।

कोई टिप्पणी नहीं: