बिहार : दबंगों द्वारा शस्त्रों का भय दिखा जमीन पर कब्जा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 12 अगस्त 2020

बिहार : दबंगों द्वारा शस्त्रों का भय दिखा जमीन पर कब्जा

  • अपराधियों के कहने पर अम्बेडकर काॅलोनी के कुछ युवाओं पर केस दर्ज कर ली गई.सर्वविदित है कि स्थानीय थाना के पदाधिकारी भूमि   माफियाओं को सरंक्षण देते आ रहे हैं जिस कारण भूमि माफिया मो.   जैनुल अंसारी पिता मो.नासीरउद्दीन अंसारी का मनोबल बढ़ा हुआ है. वो अपने गुगों से आए दिन हमला करवाते रहते है....
land-mafia-capture-land-bihar
पटना सिटी. भू माफियाओं व दबंगों की नजर संदलपुर अम्बेदकर काॅलोनी के झोपड़पट्टी पर पड़ गयी है.दबंगों द्वारा शस्त्रों का भय दिखा जमीन पर कब्जा किये जाने का मामला प्रकाश में आया है. मामला को उजागर करने वाले दीलिप राउत पटना नगर निगम के पटना सिटी अंचल के वार्ड नम्बर-51 में 150 परिवार के लोग 28 साल से रहते हैं. वार्ड पार्षद विनोद कुमार हैं. उन लोगों को पटना क्षेत्रीय विकास प्राधिकार के द्वारा पर्चा मिला है. इस संबंध में पीड़ितों ने मानवाधिकार आयोग व एसडीओ पटना सिटी से कार्रवाई की गुहार लगायी है. दीलिप राउत ने बताया कि पटना म्यूनिसपल सर्वें रजिस्टर 1932 के प्लाट संख्या 1796 में पांच एकड़ जमीन पर सैदपुर ट्रीटमेंट प्लांट के अंदर 28 साल से पूर्व दलितों ,पिछड़ों व सर्वणों को भूमि का पर्चा दे पटना क्षेत्रीय प्राधिकार ने बसाया था. उसी जमीन के कुछ भाग को एक कर्मचारी व स्थानीय दबंगों द्वारा शस्त्र का भय दिखाकर कब्जा किया जा रहा है. इसके अलावा भू माफियाओं द्वारा बड़े पैमाने पर जमीन की रजिस्ट्री व दाखिल खारिज करने की भी शिकायत की गयी है. यहां के लोगों ने कई जगहों पर आवेदन लिखकर शिकायत भी किये हैं। इन आवेदनकर्ताओं ने प्लाट संख्या 1996,2134,2127 व 2132 पर न्यायोचित कार्रवाई करते हुए अवैध रूप से बसे अतिक्रमणकारियों को हटाने की मांग की है. बताया गया कि अभी भी लगभग डेढ़ सौ पर्चाधारी व आवंटित परिवार यहां नहीं बसे हैं. आवेदन में बताया गया है कि आंवटित जमीन के बगल में ही 1980 में पटना नगर निगम के काजीपुर मैला टंकी, मछुआ टोली आदि मोहल्लों में रहने वाले गरीबों के लिए 116 फ्लैट का निर्माण कराया गया है. यह भी बताया गया कि इन फ्लैटों में आठ ही में नगर निगम के कर्मचारी रहते हैं. बाकी में अवैध रूप से लोग रह रहे हैं या फिर दबंगों का कब्जा है. पूर्व में शिकायत किये जाने पर जिला प्रशासन ने एसडीओ पटना सिटी से जांच कर अतिक्रमणकारियों की सूची मांगी थी. एसडीओ ने 2004 में 11 अगस्त को पत्रांक संख्या 313 के माध्यम से भेजे पत्र में अतिक्रमण हटाने का अनुरोध किया था. सौलह साल बीत जाने के बाद भी अनुरोध मूर्त रूप न ले सका. आवेदन में बताया गया कि नगर विकास एवं आवास विभाग के अपर सचिव द्वारा जिलाधिकारी पटना को अतिक्रमण हटाने के लिए वर्ष 2011 के 9 नवम्बर को पत्र लिखा गया। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पुलिस महानिदेशक बिहार,पटना, 30 जुलाई, 2020 को मुन्नी देवी,लालती देवी, शीला देवी,धर्मशीला देवी,खुशबु देवी,रोहनी देवी और टिंकु राम ने आवेदन लिखकर कहा है कि दिनांक 28 जुलाई,2020 की रात्रि 11 बजे के लगभग आपराधिक गतिविधियों में कई बार जेल जा चुके पटना नगर निगम के चर्तुथवर्गीय कर्मचारी राकेश कुमार उर्फ गुल्लू पिता-किरण राम निवासी न्यू अम्बेडकर काॅलोनी,संदलपुर, थाना सुलतानगंज,पटना-6 अपने आपराधिक साथियों एवं भू-माफिया के साथ शराब पीकर स्थानीय अम्बेडकर काॅलोनी खद पर के निवासियों पर आक्रमण कर दिया. वर्षों से रह रहे स्थानीय लोगों को उनके घर से बेदखल करने की कोशिश की गई और उसके साथ मारने-पीटने करने गला. अचानक हुए हमसे से बस्ती में चारों ओर हाहाकार मच गया. हल्ला गुल्ला सुनकर मेहतर समाज के स्थानीय युवा बस्तीवालों के बचाव में आगे आए। लेकिन उक्त अपराधियों ने बस्ती के चुवाओं पर भी आक्रमण बोल दिया. महिला,पुरूष और युवाओं ने एकजूट होकर अपराधियों का विरोध किया और उनका प्रतिकार किया. बस्तीवालों की एकजुटता देखकर राकेश कुमार उर्फ गुल्लू अपने अपराधिक और भू-माफियाओं के साथ यहां से भाग निकला. घटना के उपरांत अगले दिन दिनांक 29 जुलाई 2020 को उक्त अपराधियों के विरूद्ध स्थानीय सुलतानगंज को सूचित करते प्राथमिकी प्रथम रपट दर्ज करने का निवेदन भी बस्तीवालों की तरफ से किया गया.लेकिन शाम 5 बजे तक सुलतानगंज थाना के द्वारा मामला दर्ज नहीं की गई. थकहार के बस्ती वाले अपने घर लौट आए. पुनः रात को तकरीबन 8 बजे  के आसपास राजेश कुमार उर्फ गुल्लू अपने सहयोगी शिवा कुमार पिता प्रदीप राउत, सुरज कुमार पिता अजित राम,बिट्टू कुमार पिता स्व.संजय कुमार, इंद्र कुमार पिता स्व. प्रेम राम, रवि कुमार पिता किरण राम के साथ मिलकर बस्ती वालों पर दुबारा हमला कर दिया. घर में घुसकर कई लोगों के साथ मारपीट की गई. पुलिस आई और मामले को शांत कराया लेकिन थाना के अधिकारियों ने शिकायत के बावजूद अबतक किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई.उल्टा अपराधियों के कहने पर अम्बेडकर काॅलोनी के कुछ युवाओं पर केस दर्ज कर दी गई.सर्वविदित है कि स्थानीय थाना के पदाधिकारी भूमि माफियाओं को सरंक्षण देते आ रहे हैं जिस कारण भूमि माफिया मो.जैनुल अंसारी पिता मो. नासीरउद्दीन अंसारी का मनोबल बढ़ा हुआ है. वो अपने गुगों से आए दिन हमला करवाते रहते है.

कोई टिप्पणी नहीं: