बिहार : चिराग जिस डाल पर बैठते हैं, उसी को काटते हैं : ललन सिंह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 12 अगस्त 2020

बिहार : चिराग जिस डाल पर बैठते हैं, उसी को काटते हैं : ललन सिंह

llln-singh-attack-chirag
पटना : कोरोना को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ समीक्षा बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि जिन राज्यों में टेस्टिंग रेट कम है और जहां पोजेटिव रेट ज्यादा है,वहाँ टेस्टिंग बढ़ाने की जरूरत सामने आई है! खासतौर पर बिहार, गुजरात, यूपी, पश्चिम बंगाल और तेलंगाना यहाँ टेस्टिंग बढ़ाने पर बल देनी है। पीएम के इस सलाह का सहारा लेकर लोजपा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी पूर्व से ही यह माँग करती आयी है कि बिहार में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने की आवश्यकता है। अब प्रधानमंत्री जी के हस्तक्षेप कर सुझाव देने के बाद आशा ही नहीं बल्कि विश्वास है कि बिहार सरकार टेस्टिंग बढ़ाएगी ताकि बिहार को कोरोना से सुरक्षित किया जा सके। अब इस बयान पर पलटवार करते हुए जदयू नेता ललन सिंह ने कहा कि कोरोना जांच को लेकर चिराग क्या बोल रहे, ये वो जानें। अभी बिहार में 83 हजार टेस्ट हो रहे हैं, जो तीन दिन में एक लाख हो जाएंगे। ललन सिंह ने कहा कि पीएम के बयान की चर्चा चिराग पासवान ने की। पीएम ने 10 राज्यों के मुख्यमंत्री से बात की तथा सबको सलाह दी। चिराग क्या कह रहे हैं, कहां पर निगाहें और कहां पर निशाना है। अब यहां इलाज की बेहतर व्यवस्था की गयी है, सब बेड पर ऑक्सीजन की व्यवस्था है। ललन सिंह ने कहा कि चिराग विपक्ष की भूमिका निभा रहे हैं। निंदक जितना नजदीक रहे, उतना अच्छा है, सीएम काम करने में विश्वास करते हैं। हर आदमी के सोचने का तरीका होता है। कुछ लोग कालिदास होते हैं, जिस डाल पर बैठते हैं, उसी को काटते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: