बिहार : प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना के लिए सात दिवसीय कैंप का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 15 जनवरी 2021

बिहार : प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना के लिए सात दिवसीय कैंप का आयोजन

health-camp
पटना, 15 जनवरी।प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना के तहत फुटपाथ विक्रेताओं को लाभान्वित करवाने का कार्यक्रम जोरदार ढंग से किया जा रहा है। इसमें सेव द चिल्ड्रन,पटना नगर निगम और वार्ड पार्षद का योगदान मिल रहा है।इनके द्वारा मिलकर सात दिवसीय कैंप चलाया जा रहा है।जो अभी पटना नगर निगम के वार्ड संख्या 19 तथा 21 को केंद्रित किया जा रहा है।  सेव द चिल्ड्रन- पटना नगर निगम तथा स्थानीय वार्ड पार्षद के साथ मिलकर पटना के वार्ड संख्या 19 तथा 21 में पटना नगर निगम द्वारा प्रमाणित फुटपाथ विक्रेताओं को प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना से जोड़ने के लिए सात दिवसीय कैंप चलाया जा रहा है। कैंप को आयोजन वार्ड नं. 19 की वार्ड पार्षद शारदा देवी तथा वार्ड संख्या 21 की वार्ड पार्षद पिंकी देवी के सहयोग एवं देखरेख में किया जा रहा है।  सेव द चिल्ड्रन के परियोजना पदाधिकारी आसीम मंडल ने कहा कि कोविड 19 के रोकथाम के लिए भारत सरकार द्वारा किये गये लाकडाउन के कारण प्रभावित फुटपाथ विक्रेताओं को आर्थिक सहायता पहुंचाने के लिए भारत सरकार द्वारा शहरी क्षेत्रों के 50 लाख फुटपाथ विक्रेताओं को प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना के तहत लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि सेव द चिल्ड्रन द्वारा पटना के शहरी गरीबों के समुत्थान के लिए पिछले पांच वर्षों से काम किया जा रहा है। इसके तहत शहरी स्लमों में रहने वाले लोगों को विभिन्न सरकारी योजनाओं से जोड़ने, सामुदायिक निगरानी को सशक्त बनाने, वार्ड सभा को मजबूत करने, स्थानीय सेवा प्रदाताओं के क्षमतावर्द्धन करने का प्रयास किया जा रहा है। सेव द चिल्ड्रन के इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बाल केन्द्रित शहरी विकास को प्रोत्साहित करना है। इसके तहत शहरी गरीबों के टिकाउ एवं सतत आजीविका के लिए भी संस्था द्वारा काम किया जा रहा है। सेव द चिल्ड्रन के परियोजना समन्वयक प्रभाकर कुमार ने कहा कि पटना नगर निगम द्वारा शहरी आजीविका मिशन के तहत लगभग 13 हजार वेंडरों को चिन्हित कर वेंडर प्रमाणपत्र तथा वेंडरकार्ड जारी किया गया है। छूटे हुए वेंडरों के पहचान के लिए नगर निगम द्वारा वार्डस्तरीय अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही साथ प्रमाणित वेंडरों को प्रधानमंत्री स्वनीधि योजना के तहत सस्ते ब्याजदर तथा आसान किस्तों में 10000/- रुपये का ऋण प्रदान करने के लिए पटना के वार्ड संख्या 19 और 21 में सेव द चिल्ड्रन द्वारा कैंप लगाया गया है। वार्ड नं. 19 में लगभग 700 वेंडरों तथा वार्ड नं. 21 में लगभग 1000 वेंडरों को प्रमाणपत्र दिया जा चुका है। हमारा लक्ष्य है कि हम इन दोनों वार्डों के सभी इच्छुक वेंडरों का इस योजना के तहत मुफ्त आनलाईन आवेदन किया जाये। इसके लिए दोनों वार्डों में 6 दिवसीय कैंप का शुरुआत 12 जनवरी से हो चुका है।  सेव द चिल्ड्रन द्वारा लगाये गये कैंप का संचालन अंकित कुमार पोद्दार, सपना शर्मा, नितीश कुमार तथा सुप्रिया कुमारी द्वारा किया जा रहा है। 

कोई टिप्पणी नहीं: